ब्लड शुगर है कम तो हो सकती हैं कई बीमारियां, इन लक्षणों से पहचानें

14 अगस्त 2018   |  प्राची सिंह   (107 बार पढ़ा जा चुका है)

ब्लड शुगर है कम तो हो सकती हैं कई बीमारियां, इन लक्षणों से पहचानें

  • ब्लड शुगर की कमी से पूरा शरीर प्रभावित होता हैं
  • ब्लड शुगर के मरीजों के अलग-अलग लक्षण हो सकते हैं।
  • ब्लड शुगर को सामान्य रखना चाहिए।


हमारे शरीर के हर सेल को काम करने के लिए एनर्जी की जरूरत होती है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि एनर्जी का मुख्य स्रोत शुगर है। ब्लड शुगर यानी रक्त शर्करा, ब्रेन, हार्ट और डाजेस्टिव सिस्टम की बुनियादी जरूरत है। जब शरीर में रक्त शर्करा का स्तर सामान्य से कम होने लगता है, तो इसे हाइपोग्लाइसेमिया कहा जाता है। हालांकि लो ब्लड शुगर के कई ज्ञात लक्षण हैं, लेकिन शुगर लेवल जांचने के लिए ब्लड ग्लूकोज टेस्ट किया जाता है। जानिए लो शुगर के लक्षण और दुष्प्रभावों के बारे में।

लक्षण

ब्लड शुगर के कम होने की वजह से बेहोश होना, मूड में बदलाव आना जैसे नर्वसनेस महसूस करना, सोते समय डरावने ख्याल आना। डायबिटीज होने पर लो ब्लड शुगर होने से सिर दर्द होने जैसे लक्षण दिखते हैं। साथ ही ऐसी स्थिति में हारमोनल बदलाव भी देखे जाते हैं, जिसके बारे में आपको पता तक नहीं चलता। ब्लड शुगर कम होने की वजह से छोटे-छोटे सिंपल कामों को करने में असुविधा महसूस होना, चीजों में कंफ्यूज होना, चीजें साफ-साफ न दिखना। इतना ही अगर आपको बार-बार भूख लग रही है, तो यह भी लो ब्लड शुगर के लक्षण है। असल में इस तरह शरीर आपको बार-बार चेतावनी दे रहा है कि ब्लड शुगर के स्तर को मैनेज करें। इसके अलावा शुगर की कमी होने की वजहसे हमेशा गर्मी का अहसास होना, स्किन पर असर दिखना जैसे लक्षण भी इसमें शामिल हैं।

वजह

ब्लड शुगर कम होने की कुछ मुख्य वजहें हैं। अगर किसी को डायबिटीज है, तो उसे ब्लड शुगर कम होने की समस्या हो सकती है। टाइप 1 डायबिटीज में, पेंक्रियाज इंसुलिन पैदा नहीं कर पाता। टाइप 2 डायबिटी में पेंक्रियाज कम मात्रा में इंसुलिन पैदा करता है, जो शरीर के नाकाफी होता है। इसके अलावा अगर कोई बहुत ज्यादा अल्कोहोल पीता है, तो उसे भी ब्लड शुगर की कमी का शिकार होना पड़ सकता है।

बीमारी

लो ब्लड शुगर की वजह से किडनी डिसआर्डर, हेपाटाइटिस, लिवर डिजीज, पेनक्रियाटिक ट्यूमर, एड्रेनल ग्लैंड डिसआर्डर।

प्रभाव

जब हम खाना खाते हैं, इसके बाद हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम कार्बोहाइड्रेट को ब्रेकडाउरन करके ग्लूकोज में बदलता है। ग्लूकोज शरीर को फ्यूल माना जाता है। जैसे ही शुगर का स्तर बढ़ता है पेंक्रियाज इंसुलिन बनाता है, जो ग्लूकोज को शरीर में फैलने में मदद करता है ताकि शरीर के सभी सेल्स इसका इस्तेमाल कर सकें।

ज्यादा देर तक भूखे न रहें

अगर आप कई घंटों तक खाना नहीं खाते हैं तो इससे ब्लड शुगर का स्तर कम हो जाता है। अगर आपका पेंक्रियाज हेल्दी है, तो वह ग्लूकागोन नामक हारमोन रिलीज करेगा। जिससे खाने की आपूर्ति हो सके। यह हारमोन लिवर को संकेत देता है कि स्टोर्ड शुगर को रिलीज कर अपने कार्यप्रणाली को पूरा करे। अगर सब कुछ सामान्य स्थिति में हो जाता है, तो समझा जाता है कि आपका शुगर स्तर सामान्य है। अगर ब्लड शुगर का स्तर कम है, तो इससे आपकी हार्टबीट बढ़ने लगेगी। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं, तो आपके लक्षण इससे अलग होंगे।


ओनलीमायहेल्थ



© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये