सर्दियों में खांसी-जुकाम ने कर दिया है परेशान, अपनाएं यह बेजोड़ नुस्खे

03 जनवरी 2019   |  मिताली जैन   (118 बार पढ़ा जा चुका है)

सर्दियों में खांसी-जुकाम ने कर दिया है परेशान, अपनाएं यह बेजोड़ नुस्खे

कपकपाती ठंड अपने साथ कई तरह की बीमारियां लेकर आती हैं। खासतौर से, इस मौसम में खांसी-जुकाम होना बेहद आम है। फिर चाहे बात बच्चों की हो या बड़ों की, हर किसी को इस सर्दी के मौसम में खांसी-जुकाम उन्हें अपनी जद में ले ही लेता है। यह एक आम बीमारी होने के बावजूद भी काफी तकलीफदेह होती है। नाक बंद होने की स्थिति में सोने यहां तक कि सांस लेने में भी परेशानी होती है। वहीं जब खांसी परेशान करती है तो इससे गले में दर्द व खाना खाने में भी परेशानी होती है। इससे बचने के लिए यूं तो लोग डाॅक्टर का दरवाजा खटखटाते हैं, लेकिन अगर आप चाहें तो अपने घर पर भी इस समस्या से राहत पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं खांसी-जुकाम से निपटने के कुछ आसान घरेलू उपाय-


पीएं गर्म पानी


खांसी-जुकाम से लड़ने का सबसे आसान व प्रभावकारी तरीका है गर्म पानी का सेवन। इससे जुकाम तो ठीक होता है ही, साथ ही गले में खराश व खांसी के कारण गले में होने वाली असुविधा से भी निजात मिलती है। इसलिए खांसी जुकाम होने की स्थिति में सादे पानी के स्थान पर गुनगुने पानी का ही सेवन करें। गर्म पानी के साथ-साथ आप गर्म सूप आदि का भी सेवन कर सकते हैं। खांसी-जुकाम होने पर खुद को हाइडेट रखने का प्रयास करें।


नमक के पानी से कुल्ला


खांसी होने या गले में खराश होने पर नमक के पानी से कुल्ला करने की सलाह दी जाती है। काॅमन कोल्ड होने पर भी इस उपाय को अपनाया जा सकता है। आप चाहें तो इसमें एक चुटकी हल्दी भी मिला सकते हैं।


अदरक की चाय


अदरक की चाय जहां स्वाद में लाजवाब होती है, वहीं यह खांसी-जुकाम को भी मात देती है। अगर किसी को जुकाम के साथ-साथ नाक से पानी बहने की समस्या भी होती है तो उसे अदरक की चाय का सेवन अवश्य करना चाहिए। इससे रिकवरी प्रोसेस भी तेज होता है। आप अदरक की चाय बनाते समय उसमें तुलसी व काली मिर्च भी मिला सकते हैं। इसके सेवन से चमत्कारिक लाभ देखने को मिलते हैं।


नींबू, दालचीनी व शहद


अगर नींबू, दालचीनी व शहद की मदद से सिरप बनाकर सेवन किया जाए तो इससे कफ व कोल्ड से काफी हद तक राहत मिलती है। इस सिरप को बनाने के लिए आधा चम्मच शहद में कुछ बूंदे नींबू के रस की तथा एक चुटकी दालचीनी मिलाएं। अब इस सिरप को दिन में दो बार लें। आपको काफी आराम महसूस होगा।


दूध व हल्दी


हल्दी एक ऐसा मसाला है जो लगभग हर किचन में बेहद आसानी से मिल जाएगा। औषधीय गुणों से युक्त हल्दी कई बीमारियों में रामबाण की तरह काम करती है। इसके सेवन के लिए आप दूध को गर्म करके उसमें हल्दी मिलाएं और हर रात सोने से पहले पीएं।


अदरक व तुलसी का मिश्रण


अदरक गले के लिए बेहद ही लाभकारी मानी गई है। इसकी मदद से खांसी से राहत पाई जा सकती है। इस उपाय को अपनाने के लिए पहले अदरक को कद्दूकस करके उसका रस निकालें। अब इसमें तुलसी की पत्तियों को पीसकर उसमें मिलाएं। अंत में शहद में अदरक व तुलसी के मिश्रण को मिलाएं और सेवन करें।


लहसुन का प्रयोग


अगर आपको जुकाम के साथ-साथ छाती में कंजेस्चन भी है तो लहसुन का सेवन अवश्य करना चाहिए। दरअसल, इसमें एलिसिन नामक एक प्राकृतिक एंटीबाॅयोटिक पाया जाता है, जो वायरल और बैक्टीरिया के संक्रमण से लड़ने का काम करता है। आप चाहे तो इसे भोजन में शामिल करें या फिर आप एक-दो लहसुन की कलियों को पीसकर उसे पानी में मिलाकर भी ले सकते हैं या फिर लहसुन की कली को मुंह मंे रखें। वहीं लहसुन को घी में भूनकर गर्मागर्म सेवन किया जा सकता है।?


फिटकरी का इस्तेमाल


जिन लोगों को कफ वाली खांसी है, वह फिटकरी को सेवन कर सकते हैं। इसके लिए पहले फिटकरी को तवे पर भून लें। अब इसमें दोगुनी मात्रा में मिश्री मिलाएं। अब इस मिश्रण को आधा चम्मच सुबह व शाम लें। जल्द ही आपको राहत मिलेगी।


विटामिन डी की पूर्ति


विटामिन डी सिर्फ शरीर में अन्य पोषक तत्वों के अब्जाबर्शन में ही मदद नहीं करता, बल्कि इम्युन सिस्टम को भी मजबूत बनाता है। इसलिए विटामिन डी की पूर्ति के लिए कुछ देेर के लिए धूप में अवश्य बैठें या फिर विटामिन डी युक्त आहार या उसके सप्लीमेंट्स अवश्य लें। काॅमन कोल्ड से लड़ने में विटामिन डी मील का पत्थर साबित हो सकता है।


बलगम दूर करे पुदीना


जिन लोगों को ठंड लगने के साथ-साथ छाती में बलगम जमा होती है, उन्हें पुदीने का प्रयोग करना चाहिए। पुदीने में मौजूद मेन्थाॅल बलगम से राहत दिलाने में मदद करता है। आप चाहें तो पुदीने की चाय का सेवन कर सकते हैं या फिर स्टीम बाथ लेते समय उसमें पुदीने की कुछ पत्तियों को भी अवश्य शामिल करें।


सूखी अदरक व काली मिर्च


सूखी अदरक में काली मिर्च मिलाकर को जीभ पर रखें। खांसी होने पर इसका सेवन बेहद ही कारगर साबित होता है। वहीं बलगम के साथ खांसी होने पर काली मिर्च को घी के साथ मिलाकर सेवन किया जा सकता है।


अमरूद का सेवन


सुनने में भले ही आपको अटपटा लगे लेकिन अमरूद का सेवन भी खांसी-जुकाम से राहत दिला सकता है। इसके लिए आप अमरूद के पत्तों को धोकर पानी में मिलाकर उबालें। अब इसमें थोड़ी शक्कर मिलाकर चाय की तरह गर्मागर्म सिप लेते हुए सेवन करें। वहीं अमरूद को भूनकर भी उसका सेवन किया जा सकता है। इससे भी स्थिति में काफी हद तक सुधार होता है।


शहद आएगा काम


स्वाद में लाजवाब शहद खांसी-जुकाम को बेहद आसानी से ठीक करता है। इसके सेवन के लिए आप शहद में काली मिर्च का पाउडर मिक्स करके लें। इससे जुकाम में आराम मिलता है। वहीं खांसी की समस्या अधिक होने पर अदरक के रस में शहद मिलाकर उसका सेवन किया जा सकता है।




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये