सर्दियों में खांसी-जुकाम ने कर दिया है परेशान, अपनाएं यह बेजोड़ नुस्खे

03 जनवरी 2019   |  मिताली जैन   (64 बार पढ़ा जा चुका है)

सर्दियों में खांसी-जुकाम ने कर दिया है परेशान, अपनाएं यह बेजोड़ नुस्खे - शब्द स्वास्थ्य(health.shabd.in)

कपकपाती ठंड अपने साथ कई तरह की बीमारियां लेकर आती हैं। खासतौर से, इस मौसम में खांसी-जुकाम होना बेहद आम है। फिर चाहे बात बच्चों की हो या बड़ों की, हर किसी को इस सर्दी के मौसम में खांसी-जुकाम उन्हें अपनी जद में ले ही लेता है। यह एक आम बीमारी होने के बावजूद भी काफी तकलीफदेह होती है। नाक बंद होने की स्थिति में सोने यहां तक कि सांस लेने में भी परेशानी होती है। वहीं जब खांसी परेशान करती है तो इससे गले में दर्द व खाना खाने में भी परेशानी होती है। इससे बचने के लिए यूं तो लोग डाॅक्टर का दरवाजा खटखटाते हैं, लेकिन अगर आप चाहें तो अपने घर पर भी इस समस्या से राहत पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं खांसी-जुकाम से निपटने के कुछ आसान घरेलू उपाय-


पीएं गर्म पानी


खांसी-जुकाम से लड़ने का सबसे आसान व प्रभावकारी तरीका है गर्म पानी का सेवन। इससे जुकाम तो ठीक होता है ही, साथ ही गले में खराश व खांसी के कारण गले में होने वाली असुविधा से भी निजात मिलती है। इसलिए खांसी जुकाम होने की स्थिति में सादे पानी के स्थान पर गुनगुने पानी का ही सेवन करें। गर्म पानी के साथ-साथ आप गर्म सूप आदि का भी सेवन कर सकते हैं। खांसी-जुकाम होने पर खुद को हाइडेट रखने का प्रयास करें।


नमक के पानी से कुल्ला


खांसी होने या गले में खराश होने पर नमक के पानी से कुल्ला करने की सलाह दी जाती है। काॅमन कोल्ड होने पर भी इस उपाय को अपनाया जा सकता है। आप चाहें तो इसमें एक चुटकी हल्दी भी मिला सकते हैं।


अदरक की चाय


अदरक की चाय जहां स्वाद में लाजवाब होती है, वहीं यह खांसी-जुकाम को भी मात देती है। अगर किसी को जुकाम के साथ-साथ नाक से पानी बहने की समस्या भी होती है तो उसे अदरक की चाय का सेवन अवश्य करना चाहिए। इससे रिकवरी प्रोसेस भी तेज होता है। आप अदरक की चाय बनाते समय उसमें तुलसी व काली मिर्च भी मिला सकते हैं। इसके सेवन से चमत्कारिक लाभ देखने को मिलते हैं।


नींबू, दालचीनी व शहद


अगर नींबू, दालचीनी व शहद की मदद से सिरप बनाकर सेवन किया जाए तो इससे कफ व कोल्ड से काफी हद तक राहत मिलती है। इस सिरप को बनाने के लिए आधा चम्मच शहद में कुछ बूंदे नींबू के रस की तथा एक चुटकी दालचीनी मिलाएं। अब इस सिरप को दिन में दो बार लें। आपको काफी आराम महसूस होगा।


दूध व हल्दी


हल्दी एक ऐसा मसाला है जो लगभग हर किचन में बेहद आसानी से मिल जाएगा। औषधीय गुणों से युक्त हल्दी कई बीमारियों में रामबाण की तरह काम करती है। इसके सेवन के लिए आप दूध को गर्म करके उसमें हल्दी मिलाएं और हर रात सोने से पहले पीएं।


अदरक व तुलसी का मिश्रण


अदरक गले के लिए बेहद ही लाभकारी मानी गई है। इसकी मदद से खांसी से राहत पाई जा सकती है। इस उपाय को अपनाने के लिए पहले अदरक को कद्दूकस करके उसका रस निकालें। अब इसमें तुलसी की पत्तियों को पीसकर उसमें मिलाएं। अंत में शहद में अदरक व तुलसी के मिश्रण को मिलाएं और सेवन करें।


लहसुन का प्रयोग


अगर आपको जुकाम के साथ-साथ छाती में कंजेस्चन भी है तो लहसुन का सेवन अवश्य करना चाहिए। दरअसल, इसमें एलिसिन नामक एक प्राकृतिक एंटीबाॅयोटिक पाया जाता है, जो वायरल और बैक्टीरिया के संक्रमण से लड़ने का काम करता है। आप चाहे तो इसे भोजन में शामिल करें या फिर आप एक-दो लहसुन की कलियों को पीसकर उसे पानी में मिलाकर भी ले सकते हैं या फिर लहसुन की कली को मुंह मंे रखें। वहीं लहसुन को घी में भूनकर गर्मागर्म सेवन किया जा सकता है।?


फिटकरी का इस्तेमाल


जिन लोगों को कफ वाली खांसी है, वह फिटकरी को सेवन कर सकते हैं। इसके लिए पहले फिटकरी को तवे पर भून लें। अब इसमें दोगुनी मात्रा में मिश्री मिलाएं। अब इस मिश्रण को आधा चम्मच सुबह व शाम लें। जल्द ही आपको राहत मिलेगी।


विटामिन डी की पूर्ति


विटामिन डी सिर्फ शरीर में अन्य पोषक तत्वों के अब्जाबर्शन में ही मदद नहीं करता, बल्कि इम्युन सिस्टम को भी मजबूत बनाता है। इसलिए विटामिन डी की पूर्ति के लिए कुछ देेर के लिए धूप में अवश्य बैठें या फिर विटामिन डी युक्त आहार या उसके सप्लीमेंट्स अवश्य लें। काॅमन कोल्ड से लड़ने में विटामिन डी मील का पत्थर साबित हो सकता है।


बलगम दूर करे पुदीना


जिन लोगों को ठंड लगने के साथ-साथ छाती में बलगम जमा होती है, उन्हें पुदीने का प्रयोग करना चाहिए। पुदीने में मौजूद मेन्थाॅल बलगम से राहत दिलाने में मदद करता है। आप चाहें तो पुदीने की चाय का सेवन कर सकते हैं या फिर स्टीम बाथ लेते समय उसमें पुदीने की कुछ पत्तियों को भी अवश्य शामिल करें।


सूखी अदरक व काली मिर्च


सूखी अदरक में काली मिर्च मिलाकर को जीभ पर रखें। खांसी होने पर इसका सेवन बेहद ही कारगर साबित होता है। वहीं बलगम के साथ खांसी होने पर काली मिर्च को घी के साथ मिलाकर सेवन किया जा सकता है।


अमरूद का सेवन


सुनने में भले ही आपको अटपटा लगे लेकिन अमरूद का सेवन भी खांसी-जुकाम से राहत दिला सकता है। इसके लिए आप अमरूद के पत्तों को धोकर पानी में मिलाकर उबालें। अब इसमें थोड़ी शक्कर मिलाकर चाय की तरह गर्मागर्म सिप लेते हुए सेवन करें। वहीं अमरूद को भूनकर भी उसका सेवन किया जा सकता है। इससे भी स्थिति में काफी हद तक सुधार होता है।


शहद आएगा काम


स्वाद में लाजवाब शहद खांसी-जुकाम को बेहद आसानी से ठीक करता है। इसके सेवन के लिए आप शहद में काली मिर्च का पाउडर मिक्स करके लें। इससे जुकाम में आराम मिलता है। वहीं खांसी की समस्या अधिक होने पर अदरक के रस में शहद मिलाकर उसका सेवन किया जा सकता है।




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें
28 दिसम्बर 2018
चांद पर दाग हो तो चलता है, लेकिन आपके चांद से चेहरे पर दाग हो तो फिर मुश्किलें बढ़ जाती हैं। साथ ही अगर बात ख़ूबसूरती की आती है तो गोरा रंग सबसे पहले दिमाग में आता है। हर कोई चाहता है कि उसका चेहरा सबसे अच्छा औऱ खूबसूरत दिखे। सांवले रंगत की शक्ल भी अपने आप में खूबसूरत
28 दिसम्बर 2018
01 जनवरी 2019
महामारी की तरह फैलता मोटापा आज हर घर को अपनी चपेट में ले चुका है। आमतौर पर लोग इसे शिकस्त देने के लिए कई तरीके अपनाते हैं लेकिन अधिकतर उनके हाथ निराशा ही लगती है। ऐसे में अगर आप घर पर रहकर ही वजन कम weight loss करने की चाह रखते हैं तो एक्सरसाइज के साथ-साथ भोजन पर भी ध
01 जनवरी 2019
02 जनवरी 2019
वर्तमान समय में, बच्चे जिस तरह का लाइफस्टाइल जी रहे हैं, उसका सबसे बुरा प्रभाव उन्हीं की हेल्थ पर देखने को मिल रहा है। माॅडर्न युग के बच्चे घर के बने हेल्दी फूड के स्थान पर नूडल्स, बर्गर, पिज्जा आदि खाना ज्यादा पसंद करते हैं। ऐसे में उनका शारीरिक व मानसिक विकास बाधित होने लगा है। अगर आपके घर में भी
02 जनवरी 2019
02 जनवरी 2019
आजकल का जमाना काफी बदल चुका है और जमाने के साथ साथ लोगों की जीवनशैली भी बदल चुकी है यदि व्यक्ति को किसी भी प्रकार की कोई शारीरिक परेशानी होती है तो वह अंग्रेजी दवाइयों पर निर्भर रहता है हर बीमारी के लिए वह अंग्रेजी दवाइयों का सेवन करता है परंतु भारत में पहले ऐसा नहीं
02 जनवरी 2019
04 जनवरी 2019
कम कार्बोहायड्रेट युक्त आहार खाने से वजन घटाने में मदद मिलती है। हाल ही के शोध के निष्कर्षों के अनुसार, कम कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन वजन कम रखने में सहायक सिद्ध होती है। यह जांच बीएमजे नामक पत्रिका में सामने आया है और कहा गया है कि कम शक्कर खाने से कैलोरी की मात्रा कम हो... और पढ़ें
04 जनवरी 2019
04 जनवरी 2019
अनार को सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। यह खून बढ़ाने से लेकर रक्त में शुगर लेवल को नियंत्रित करने, पाचन तंत्र को बेहतर बनाने, कैंसर के खतरे को कम करने व रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है। जहां इसके अनगिनत फायदें लोगों को अनार का सेवन करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, वहीं इसके छिल
04 जनवरी 2019
05 जनवरी 2019
भोजन को यदि शरीर का ईंधन कहा जाए तो गलत नहीं होगा। भोजन का काम सिर्फ पेट भरना ही नहीं होता, बल्कि इसके जरिए शरीर को वह सभी पोषक तत्व प्राप्त होते हैं, जो शरीर के सही प्रकार से कार्यसंचालन के लिए आवश्यक होते हैं। इतना ही नहीं, अगर भोजन का चयन और उसका सेवन करते समय कुछ बातों का ध्यान दिया जाए तो कई तर
05 जनवरी 2019
06 जनवरी 2019
नींबू की गिनती एक स्वास्थ्यवर्धक पेय पदार्थ में की जाती है। अगर कोई बढ़ते वजन से परेशान है तो उसे सुबह उठकर खाली पेट नींबू पानी पीने की ही सलाह दी जाती है। जहां नींबू में मौजूद विटामिन सी इम्युन सिस्टम को मजबूत बनाने के साथ अन्य कई तरह के लाभ प्रदान करता है। अक्सर देखने में आता है कि लोग इसके लाभों क
06 जनवरी 2019
08 जनवरी 2019
मासिक धर्म हर स्त्री के शरीर का एक नेचुरल प्रोसेस है, लेकिन फिर भी बहुत सी महिलाओं को पीरियड के दौरान असहनीय कष्ट व पीड़ा का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर महिलाएं माहवारी के दर्द के दौरान पेनकिलर्स लेती हैं या सिर्फ आराम करना ही पसंद करती हैं। वहीं कुछ महिलाएं इस असहनीय दर्द के साथ चार-पांच दिन गुजार
08 जनवरी 2019
09 जनवरी 2019
आज के समय में अधिकतर लोग अपने बढ़ते वजन से परेशान है और इसके लिए खान-पान की गलत आदतों व लाइफस्टाइल को जिम्मेदार ठहराते हैं, पर वास्तव में सिर्फ खान-पान ही वजन बढ़ने के लिए जिम्मेदार नहीं होता। ऐसी भी बहुत सी चीजें होती हैं, जो वजन बढ़ाती हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ कारणों के बारे में-दवाईयों का स
09 जनवरी 2019
10 जनवरी 2019
आज के समय में लोग हर छोटी-बड़ी बीमारी के उपचार के लिए दवाईयों पर निर्भर रहते हैं लेकिन वास्तव में जरूरत से ज्यादा दवाईयों का सेवन स्वास्थ्य को हानि पहुंचाता है। ऐसी बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं हैं, जिनका उपचार बिना दवाईयों के भी किया जा सकता है। ऐसी ही एक स्वास्थ्य समस्या है, सिरदर्द की समस्या। वर्तमा
10 जनवरी 2019
11 जनवरी 2019
ठंड के मौसम में खान-पान में काफी बदलाव आ जाता है। इस कड़कड़ाती ठंड में लोग मीठा खाना ज्यादा पसंद करते हैं। लेकिन जरूरत से ज्यादा मीठा सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता। अगर आपको इस मौसम में अक्सर मीठे की तलब लगती है तो डाइट में रिफांइड शुगर के स्थान पर गुड़ को जगह दें। गुड़ में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नी
11 जनवरी 2019
13 जनवरी 2019
सर्दियों के मौसम में अदरक का सेवन काफी मात्रा में किया जाता है। फिर चाहे बात सुबह की चाय की हो या फिर दोपहर के खाने की, अदरक के बिना भोजन का वह स्वाद ही नहीं आता। इतना ही नहीं, ठंड के मौसम में अदरक का सेवन शरीर के तापमान को भी बनाए रखने का काम करता है। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि अदरक एक बे
13 जनवरी 2019
14 जनवरी 2019
आज के समय में जिस तरह का खानपान अपनाते हैं उस सीधा असर पाचन तंत्र पर दिखाई देता है| पेट की सभी परेशानियों में सबसे ज्यादा लोग गैस से परेशान रहते हैं| कभी कभी लंबे समय तक भूखे रहने के कारण या एकदम हैवी भोजन करने की वजह से खाना सही तरह से नहीं पच पाता और व्यक्ति को अपच पेट में गैस या पेट में दर्द
14 जनवरी 2019
16 जनवरी 2019
आज के समय में लोगों की गलत लाइफस्टाइल कई तरह की बीमारियों की वजह बनती हैं। अमूमन किसी भी तरह की परेशानी होने पर लोग दवाईयों का ही सहारा लेना पसंद करते हैं लेकिन अगर आप चाहें तो बिना दवाईयों के भी बहुत सी छोटी-छोटी परेशानियों को आसानी से दूर कर सकते हैं। खासतौर से, आपकी किचन में मौजूद काली मिर्च एक ऐ
16 जनवरी 2019
18 जनवरी 2019
आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में जब हर व्यक्ति किसी न किसी कारणवश तनाव में रहता है तो उसका सीधा असर स्वास्थ्य पर पड़ता है। यही तनाव व्यक्ति को बीमार या यूं कहें कि बहुत बीमार बनाने के लिए काफी है। दवाईयों के सहारे खुशहाल जीवन नहीं व्यतीत किया जा सकता। इसलिए इन सभी परेशानियों से बचने का एक आसान और असरदार
18 जनवरी 2019

हमारे 500 से अधिक डॉक्टरों से फोन पर सलाह लीजिये

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x