महंगी दवाईयां नहीं, अनार के छिलकों की मदद से बीमारियों को दें मात

04 जनवरी 2019   |  मिताली जैन   (68 बार पढ़ा जा चुका है)

महंगी दवाईयां नहीं, अनार के छिलकों की मदद से बीमारियों को दें मात  - शब्द स्वास्थ्य(health.shabd.in)

अनार को सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। यह खून बढ़ाने से लेकर रक्त में शुगर लेवल को नियंत्रित करने, पाचन तंत्र को बेहतर बनाने, कैंसर के खतरे को कम करने व रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है। जहां इसके अनगिनत फायदें लोगों को अनार का सेवन करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, वहीं इसके छिलके भी कुछ कम काम के नहीं है। अगर आप अनार खाकर इसके छिलकों को बाहर फेंक देते हैं तो समझ लीजिए कि आप खुद का ही नुकसान कर रहे हैं। बहुत सी बीमारियों से लड़ने में अनार के छिलके आपकी मदद कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं अनार के छिलकों से होने वाले फायदों व इसके इस्तेमाल के बारे में-


रखें ओरल हेल्थ का ख्याल


अनार के छिलके वास्तव में औषधीय गुणों से भरपूर है और यह ओरल हेल्थ केयर का पूरी तरह ध्यान रखता है। यदि अनार के छिलकों के पाउडर को पानी में मिलाकर उससे कुल्ला किया जाए तो इससे बैड ब्रेथ से छुटकारा मिलता है। वहीं मसूडों में सूजन या ब्लीडिंग गम की समस्या होने पर अनार के छिलकों के पाउडर से करीबन दो मिनट तक मालिश करें। जिन लोगों को गले में खराश या टाॅन्सिल के कारण परेशानी हो रही हो, तो उससे तुरंत राहत पाने के लिए अनार के छिलकों के पाउडर को पानी में मिलाकर उबालें और फिर उसे छानकर ठंडा होने दें। अंत में इस पानी से गार्गिल करें।


निकालें विषाक्त पदार्थ


शरीर से सभी तरह के विषाक्त पदार्थ निकालने की क्षमता अनार के छिलकों में पाई जाती है, ऐसा इसमें मौजूद एंटी-आॅक्सीडेंट व औषधीय गुणों के कारण होता है। बाॅडी को टाॅक्सिन से निजात दिलाने के लिए अनार के छिलकों के पाउडर को पानी में मिलाकर पांच से सात मिनट के लिए उबालें। अब इसे छानें और पीएं।


पेट की समस्या को कहें अलविदा


अनार के छिलकों का पाउडर पेट की सेहत के लिए भी काफी गुणकारी माना गया है। अनार के छिलकों के पाउडर की मदद से पेट और आंत के कीटाणुओं को आसानी से मारा जा सकता है। इसके इस्तेमाल के लिए अनार के छिलके के पाउडर में छाछ, जीरा और नमक मिलाकर अच्छी तरह ब्लेंड करें। सप्ताह में दो से तीन बार इसका सेवन करें। आपको कुछ ही दिनों में बदलाव महसूस होने लगेगा।


हड्डियों को मिले मजबूती


अनार के छिलकों में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल व एंटी-इंफलेमेटरी प्राॅपर्टीज के कारण यह बोन डेंटिसिटी को बनाए रखता है। खासतौर से, मेनोपाॅज के बाद जब महिलाओं की हड्डियों का घनत्व कम होने लगता है, उस समय अनार के छिलकों का प्रयोग किया जाना चाहिए। यहां तक कि यह आॅस्टियोपोरोसिस की समस्या से निपटने में भी काफी हद तक कारगर है। इसके इस्तेमाल के लिए दो चम्मच अनार के छिलकों के पाउडर को गर्म पानी में मिक्स करंे। आप इसमें नींबू की कुछ बूंदे व नमक भी मिला सकते हैं। अब इस मिश्रण का सेवन हर रात सोने से पहले करें।


हृदय रोगों से सुरक्षा


आज के समय में लोग जिस तरह का लाइफस्टाइल जी रहे हैं, उसके कारण सिर्फ वृद्ध लोगों को ही नहीं, बल्कि यंग एज में भी लोगों को हृदय संबंधी बीमारियां अपनी चपेट में ले रही हैं। इनसे निजात पाने में अनार के छिलकों का पाउडर आपकी मदद कर सकता है। इसमें मौजूद पावरफुल एंटीआॅक्सीडेंट्स तनाव ही नहीं, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम करता है। इसके इस्तेमाल के लिए एक चम्मच अनार के छिलकों को एक गिलास गर्म पानी में मिक्स करें। इस मिश्रण का सेवन प्रतिदिन या एक दिन छोड़कर करें।


रोके बालों का झड़ना


आपको शायद जानकर हैरानी हो लेकिन अनार के छिलके बालों को झड़ने से तो रोकते हैं ही, साथ ही डैंड्रफ को भी नियंत्रित करते हैं। बालों की मजबूती के लिए अपने हेयर आॅयल में थोड़ा सा अनार के छिलकों का पाउडर मिक्स करंे। अब इसे बालों की जड़ों पर लगाकर अच्छी तरह मसाज करें। करीबन दो घंटे बाद बालों को किसी माइल्ड शैंपू से धो दें।


बनें एक प्राकृतिक सनस्क्रीन


इस बात से तो हम सभी वाकिफ हैं कि सूरज की हानिकारक किरणें स्किन को काफी नुकसान पहुंचाती हैं। यह सिर्फ सनटैन का ही कारण नहीं बनती, बल्कि कई बार इसके चलते स्किन कैंसर जैसी गंभीर बीमारी भी हो जाती हैं। इसलिए स्किन को प्रोटेक्ट करना बेहद आवश्यक है। बहुत से लोगों को यह पता ही नहीं होता कि अनार के छिलके एक प्राकृतिक सनस्क्रीन के रूप में भी कार्य करता है। इसके इस्तेमाल के लिए पहले अनार के छिलकों को सुखाकर उसका पाउडर बना लें। अब इसे किसी एयरटाइट कंटेनर में भरकर रख लें। अब इसे अपने लोशन में मिक्स करके अप्लाई करें और करीबन 20 मिनट बाद घर से बाहर निकलें। आप चाहें तो इस अनार के छिलके के पाउडर को कुछ एसेंशियल आॅयल में मिक्स करके भी चेहरे व बाॅडी पर अप्लाई कर सकते हैं। वहीं अगर आप इसे नेचुरल माॅइश्चराइजर के रूप में इस्तेमाल करना चाहते हैं तो अनार के छिलके के पाउडर को दही में मिक्स करके एक पेस्ट बनाएं। अब इस पेस्ट को चेहरे व गर्दन पर लगाकर दस मिनट के लिए छोड़ दें। अंत में, पानी से चेहरे को वाॅश करें।


नहीं दिखेगी बढ़ती उम्र की निशानियां


दुनिया में शायद ही कोई ऐसी महिला हो जो बूढ़ा दिखने की चाहत रखती हो। अनार के छिलके इसमें बेहद काम आते हैं। दरअसल, यह त्वचा में कोलेजन के टूटने को रोकता है और सेल ग्रोथ में मदद करता है। जिससे बढ़ती उम्र में भी आप बूढ़े नकजर नहीं आते। इसके इस्तेमाल के लिए दो चम्मच अनार के छिलके का पाउडर लें। अब इसमें थोड़ा सा दूध मिलाकर एक पेस्ट बनाएं। अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर तब तक छोड़ें, जब तक यह अच्छी तरह सूख न जाएं। अंत में गुनगुने पानी से चेहरे को वाॅश करें। सप्ताह में दो बार इस पेस्ट का इस्तेमाल करें। कुछ ही दिनों में आपको काफी बदलाव देखने को मिलेगा।




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x