गलत खान-पान नहीं, इन कारणों से भी बढ़ता है वजन

09 जनवरी 2019   |  मिताली जैन   (98 बार पढ़ा जा चुका है)

गलत खान-पान नहीं, इन कारणों से भी बढ़ता है वजन

आज के समय में अधिकतर लोग अपने बढ़ते वजन से परेशान है और इसके लिए खान-पान की गलत आदतों व लाइफस्टाइल को जिम्मेदार ठहराते हैं, पर वास्तव में सिर्फ खान-पान ही वजन बढ़ने के लिए जिम्मेदार नहीं होता। ऐसी भी बहुत सी चीजें होती हैं, जो वजन बढ़ाती हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ कारणों के बारे में-


दवाईयों का सेवन


वर्तमान में, हर व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से पीड़ित है और उसके उपचार के लिए दवाईयों को सेवन करते हैं। लेकिन ऐसी बहुत सी दवाईयां है, जो वजन बढ़ने के लिए जिम्मेदार होती हैं। खासतौर से, डायबिटीज, माइग्रेन, ब्लड प्रेशर, बर्थकंटोल पिल्स व कैंसर के इलाज के लिए ली गई दवाईयां अक्सर वजन बढ़ाती हैं। इसलिए अगर बिना किसी वजह के आपका वजन बढ़ रहा है तो एक बार डाॅक्टर से सलाह लें और अपनी दवाईयों के बारे में बात करें।


कम नींद


आजकल काम के घंटे सिर्फ नौ से पांच तक सीमित नहीं रह गए हैं, बल्कि अक्सर लोग काम को पूरा करने के चक्कर में देर रात काम करते हैं या फिर रात में ही काम करते हैं। शायद आपको पता न हो लेकिन देर रात तक काम करना आपकी वेस्ट लाइन के लिए अच्छा नहीं है। दरअसल, देर रात तक जागने के कारण आप कुछ न कुछ खाते रहते हैं और स्नैकिंग टाइम अधिक होने व ओवरईटिंग करने से वजन बढ़ने लगता है।


एक्सरसाइज के बाद खाना


एक्सरसाइज यकीनन खुद को फिट व हेल्दी रखने का एक बेहतरीन उपाय है लेकिन आपको अपने आस-पास ऐसे लोग भी मिल जाएंगे जो एक्सरसाइज करने के बाद भी वजन कम न होने की शिकायत करते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह एक्सरसाइज के जरिए जितनी कैलोरी बर्न करते हैं, उससे अधिक कैलोरी इनटेक करते हैं। याद रखें कि फूड व एक्सरसाइज का आपके वेट लाॅस प्रोग्राम में 80ः20 प्रतिशत होता है। इसलिए अगर कोई व्यक्ति एक्सरसाइज के बाद हैवी भोजन करता है या फिर एक्सरसाइज करने के साथ-साथ हेल्दी व पौष्टिक आहार नहीं लेता तो उसका वजन कम होना बेहद मुश्किल है।


अत्यधिक तनाव


तनाव और व्यक्ति का आज के समय में चोली-दामन का साथ है। छोटे बच्चों से लेकर कामकाजी लोगों तक हर किसी को कहीं न कहीं चिंता व तनाव ने अपनी जद में लिया हुआ है। इससे अन्य परेशानियों के साथ-साथ व्यक्ति को वजन बढ़ने की भी शिकायत होती है। दरअसल, जब व्यक्ति बहुत अधिक तनावग्रस्त होता है तो उसके भीतर कोर्टिसोल नामक स्टेस हार्मोन रिलीज होता है। यह हार्मोन भूख को बढ़ाने का भी काम करता है। आपने कभी न कभी अवश्य नोटिस किया होगा कि तनावग्रस्त व्यक्ति अधिक खाता है या फिर खुद को रिलैक्स महसूस करवाने के लिए चाॅकलेट, आईसक्रीम व चिप्स आदि का सेवन करते हैं। यह सभी चीजें आपके वजन को बढ़ाने का काम करती हैं।


थाॅयराइड की समस्या


थाॅयराइड की बीमारी महिलाओं में बेहद आम है। थाॅयराइड दो तरह का होता है- हाइपर थायराइड और हाइपोथाॅयराइड। जिन महिलाओं को हाइपोथाॅयराइड की शिकायत होती है, उनका वजन तेजी से बढ़ता है। दरअसल, थाॅयराइड की समस्या होने पर मेटाबाॅलिज्म बेहद धीरे काम करता है और वजन का बढ़ना शुरू हो जाता है। हालांकि नियमित रूप से व्यायाम व खान-पान पर नियंत्रण के जरिए वजन बढ़ने को काफी हद तक रोका जा सकता है।


धूम्रपान बंद करना


धूम्रपान कई तरह की बीमारियों की जड़ है और इसलिए हमेशा धूम्रपान न करने की सलाह दी जाती है। इतना ही नहीं, जिन लोगों को धूम्रपान की लत है, उन्हें भी इसे छोड़ने के लिए प्रेरित किया जाता है। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ है कि जो लोग धूम्रपान करना एकदम से बंद कर देते हैं, उनका वजन तेजी से बढ़ने लगता है। इसका अर्थ यह कतई नहीं है कि वजन को बढ़ने से रोकने के लिए आप धूम्रपान करते रहें, बल्कि सिर्फ इस बात का ध्यान रखें कि जब भी आप धूम्रपान छोड़ें तो साथ में व्यायाम अवश्य करें। इसके अतिरिक्त पौष्टिक व संतुलित खान-पान पर जोर दें।


आनुवंशिकता


मोटापे का एक मुख्य कारण जेनेटिक भी हो सकता है। अक्सर यह देखने में आता है कि जिन बच्चों के माता-पिता मोटे होते हैं, वह भी बचपन से मोटे ही होते हैं। हालांकि इसका अर्थ यह नहीं है कि ऐसे बच्चे अपने मोटापे से निजात नहीं पा सकते। बस उन्हें अतिरिक्त मेहनत करने की आवश्यकता होती है। ऐसे लोगों को बस अपने खान-पान व एक्सरसाइज रूटीन को लेकर थोड़ा सख्त होना पड़ता है ताकि उनका वजन जल्दी से न बढ़े।


मेडिकल हिस्ट्री


ऐसी बहुत सी बीमारियां है जो कहीं न कहीं वजन बढ़ने की वजह बनते हैं। थाॅयराइड के अतिरिक्त भी पीसीओएस, मूड डिसआॅर्डर, डायबिटीज, आदि बीमारियों से वजन बढ़ने लगता है। इसलिए अगर किसी व्यक्ति को ऐसी कोई भी समस्या है तो उसे अपने डाॅक्टर से परामर्श अवश्य लेना चाहिए।


फाइबर की कमी


खाने में फाइबर की कमी वजन बढ़ने की मुख्य वजह बनता है। जब आपके शरीर को फाइबर पूर्ण रूप से नहीं मिलता तो इससे व्यक्ति को बार-बार भूख लगती है। जिससे व्यक्ति ओवरईटिंग करता है और वजन बढ़ने लगता है।


मील को स्किप करना


बहुत से लोग वजन कम करने के चक्कर में मील्स को स्किप कर देते हैं। इससे वजन कम होने के स्थान पर बढ़ने लगता है। खासतौर से, सुबह काम की जल्दी में लोग नाश्ता नहीं करते। बहुत से अध्ययन इस बात को साबित करते हैं कि जो लोग सुबह नाश्ता नहीं करते, उनका वजन तेजी से बढ़ता है। इसलिए कभी भी कोई भी मील स्किप न करें। ऐसा करने से न सिर्फ मेटाबाॅलिज्म स्लो होता है, बल्कि आप ओवरईटिंग भी करते हैं।


जल्दी-जल्दी खाना


एक बात हमेशा याद रखें कि आप चाहें कितनी भी जल्दी में हो, लेकिन खाना हमेशा आराम से और चबा-चबाकर खाना चाहिए। इससे आपको पेट भरने का अहसास होता है और आप ओवरईटिंग करने से बच जाते हैं। वहीं दूसरी तरफ, जो लोग जल्दी-जल्दी खाना खाते हैं, वह ओवरईटिंग तो करते हैं ही, साथ ही भोजन सही तरह से न पचने के कारण वजन बढ़ने लगता है।




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये