स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी गुणकारी है इलायची, जानिए कैसे

26 जनवरी 2019   |  मिताली जैन   (44 बार पढ़ा जा चुका है)

स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी गुणकारी है इलायची, जानिए कैसे - शब्द स्वास्थ्य(health.shabd.in)

भारतीय किचन में ऐसे कई तरह के मसालों का उपयोग प्रतिदिन किया जाता है, जिनके स्वास्थ्य लाभों से अब तक लोग अनजान है। जिसके कारण इन्हें हर दिन एक ही तरह से इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन वहीं दूसरी ओर, अगर इन्हें सही तरह से प्रयोग किया जाए तो इन्हीं मसालों की मदद से कई तरह की बीमारियों से निजात पाई जा सकती है। जैसे इलायची का प्रयोग सिर्फ चाय या सब्जी में करने के अतिरिक्त भी कई तरह से किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं इलायची से होने वाले कुछ स्वास्थ्य लाभों के बारे में-


नहीं आएगी मुंह से बदबू


ब्रश करने के बाद भी कुछ लोगों के मुंह से अक्सर बदबू आती है या फिर कभी प्याज व लहसुन का सेवन करने के बाद मुंह से दुर्गंध आना लाजमी है। ऐसे लोगों को हमेशा अपने पास इलायची का पैकेट रखना चाहिए। जब भी मुंह से बदबू आए, इसे चबाएं या फिर भोजन के बाद भी इलायची को चबाया जा सकता है। इतना ही नहीं, इलायची चबाने से मुंह के घाव या किसी भी तरह का मुंह का संक्रमण भी खुद-ब-खुद ठीक हो जाता हैं। मार्केट में मिलने वाले कई तरह के माउथ फ्रेशनर में भी इलायची के दानों का इस्तेमाल किया जाता है।


गले में खराश


अगर किसी को गले में खराश हो तो प्रतिदिन सुबह और रात को सोने से पहले छोटी इलायची को चबा-चबाकर खाएं और अंत में गुनगुना पानी पीएं।


खांसी-जुकाम से आराम


मौसम बदलने के साथ ही बच्चों से लेकर बड़ों तक हर किसी को खांसी-जुकाम की परेशानी होती है। यह परेशानी यूं तो तीन-चार दिन बाद ठीक हो जाती है लेकिन यह तीन से चार दिन काफी कष्टकारी होते हैं। इसलिए राहत पाने के लिए काली इलायची का प्रयोग करें। इलायची शरीर को गर्मी प्रदान करती है। इसके लिए इलायची की फली को शहद के साथ में पानी में भिगोकर रखने के बाद इसे चाय में इस्तेमाल किया जाए या फिर छोटी इलायची में अदरक, लौंग व तुलसी के पत्त को पान में रखकर चबाएं।


पाचन बनाए बेहतर


आजकल जिस तरह का लोगों का खानपान है, उसके परिणामस्वरूप पाचन संबंधी परेशानियां होती ही है लेकिन इलायची पाचन को भी बेहतर बनाता है। दरअसल, जब इलायची का सेवन किया जाता है तो इससे शरीर में एंजाइम सक्रिय हो जाते है और भोजन आसानी से पचता है। अगर किसी को अपच के साथ-साथ पेट में गैस, दर्द, दस्त या कब्ज की परेशानी हो, उसे भी इलायची का सेवन करना चाहिए।


दिल का रखे ख्याल


चूंकि इलायची में कई तरह के शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं, इसलिए यह दिल का काफी अच्छी तरह से ख्याल रखता है। साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कम करता है जिससे दिल संबंधी रोग होने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। अगर आप खुद को हद्य रोगों से बचाए रखना चाहते हैं तो आहार में काली इलायची को प्राथमिकता दें। काली इलायची रक्त का थक्का बनने से रोकती है जिसकी वजह से रक्त बड़ी आसानी से ह्रदय तक पहुंचता है।


खूबसूरती का रखे ख्याल


चूंकि इलायची का सेवन करने से शरीर में मौजूद खून साफ होता है, जिसका असर बाहरी तौर पर भी दिखाई देता है। जब शरीर के भीतर रक्त में से सभी तरह के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं तो उससे चेहरा भी साफ व खिला-खिला दिखाई देता है। खून साफ करने के लिए रात को दो इलायची खाकर गर्म पानी का सेवन करें।


लड़े कैंसर से


आपको शायद जानकर हैरानी हो लेकिन कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से लड़ने में इलायची काफी प्रभावशाली है। यह बात अध्ययन से भी साबित हुई है। इसलिए कैंसर से बचने या उससे लड़ने के लिए इलायची को अपने आहार का हिस्सा अवश्य बनाएं। खासतौर से बड़ी इलायची में मौजूद एंटी.ऑक्सीडेंट्स कैंसर कोशिकाओं को विकसित नहीं होने देते।


कम करे वजन


आज के समय में मोटापा किसी महामारी से कम नहीं है। अगर आप भी वजन बढ़ने से परेशान रहते हैं तो अब आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। बस, रोज रात को सोने से पहले दो इलायची खा कर गरम पानी पीएं। कुछ ही दिनों में आपको इसका लाभ दिखाई देने लगेगा। इसमें मौजूद कई तरह के पोषक तत्व शरीर में बनी अतिरिक्त चर्बी को कम करके आपको आकर्षक दिखाने में मदद करते हैं।


मधुमेह रोगियों के लिए सहायक


ब्लड प्रेशर के साथ-साथ मधुमेह रोगियों को भी काली इलायची का सेवन किसी न किसी रूप में अवश्य करना चाहिए। दरअसल, काली इलायची रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने का काम करती है और ऐसा इसमें मौजूद मैंगनीज की अधिकता के कारण होता है।


एलर्जी से परेशान


जिन लोगों को एलर्जी की समस्या होती है, उनके लिए काली इलायची किसी वरदान से कम नहीं है। इसमें मौजूद जिवाणुरोधी तत्व एलर्जी के निदान में मददगार होते है। इसके प्रयोग के लिए इलायची और शहद को मिक्स करके एलर्जी वाले स्थान पर लगाएं।


दौड़ने लगेगा दिमाग


बच्चों को इलायची अवश्य दी जानी चाहिए क्योंकि यह दिमाग की कार्यक्षमता में वृद्धि करती है। वैसे यह दिमाग को तेज करने के साथ-साथ आंखों की रोशनी भी बढ़ाता है। इसके सेवन के लिए इलायची के दानों के साथ बादाम व पिस्ता में एक-दो दूध डालकर पीस लें। अब इसे दूध में मिलाकर कुछ देर तक पकाएं और अंत में मिश्री मिलाकर बच्चों को पीने के लिए दें।


सफर का साथी


ऐसे बहुत से लोग होते हैं, जिन्हें घूमना तो पसंद होता है लेकिन सफर के दौरान उन्हें कई तरह की परेशानी जैसे उल्टी, जी मचलाना या सिरदर्द आदि होता है। ऐसे लोग इलायची को अपने सफर का साथी बना सकते हैं। अगर आपको चक्कर आएं या जी मचलाए, इलायची को मुंह में रखकर पूरे रास्ते चबाएं। वहीं अगर घर में उल्टियां हो रही हैं तो बड़ी इलायची को पानी में उबालें और जब पानी आधे से भी कम रह जाए तो गैस बंद करें और इस पानी का सेवन करें। इससे उल्टियां बंद हो जाती है।


नहीं होगा सिरदर्द


बहुत से लोग सिरदर्द होने पर दवाई का सेवन करना पसंद करते हैं लेकिन इसके स्थान पर बड़ी इलायची के तेल से मालिश करें।



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये