पुदीने के पत्तों का करें ऐसे इस्तेमाल, फर्क देखकर दंग रह जाएंगे आप

03 फरवरी 2019   |  मिताली जैन   (26 बार पढ़ा जा चुका है)

पुदीने के पत्तों का करें ऐसे इस्तेमाल, फर्क देखकर दंग रह जाएंगे आप - शब्द स्वास्थ्य(health.shabd.in)

ठंड के मौसम में पुदीना मार्केट में बेहद सस्ता व आसानी से उपलब्ध होने वाली चीज है। कई तरह के पेय पदार्थों से लेकर भोजन में इसे प्रयोग करने की सलाह दी जाती है। इसका इस्तेमाल करने से जहां एक ओर खाने का स्वाद बढ़ता है, वहीं दूसरी ओर इससे कई तरह के स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं। अगर अब तक आपने खाने में ही इसे इस्तेमाल किया है तो अब इसे कुछ अलग तरह से प्रयोग करके देखिए। उसके बाद कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं यूं ही छूमंतर हो जाएंगी और आपको डाॅक्टर के पास भी नहीं जाना पड़ेगा-


जब पेट दर्द करे परेशान


आज के समय में खानपान में बरती गई अनियमितता पाचन संबंधी परेशानियों को जन्म देती है। गलत समय पर भोजन करना, भोजन में लम्बा गैप करना या एकदम से हैवी भोजन करने से भोजन के पाचन में समस्या होती है। पेट अच्छी तरह साफ न होने या पेट में दर्द होने पर पुदीने का प्रयोग करना काफी अच्छा माना जाता है। इसके सेवने के लिए पुदीने को पीस कर पानी में मिला लें और फिर उस पानी को छान कर पीएं। पुदीने का इस तरह सेवन करने से पेट दर्द में आराम तो मिलता है ही, साथ ही इससे पाचन शक्ति में भी सुधार आता है। इसके अतिरिक्त पेट में दर्द होने पर पुदीने के रस में अदरक का रस व सेंधा नमक मिलाकर सेवन करें। इससे भी लाभ मिलता है। वहीं अगर कोई व्यक्ति अक्सर अपच के कारण परेशान रहता है तो उसे पुदीने की पत्तियों का रस निकालकर उसमें नींबू का रस व शहद मिलाकर दिन में कम से कम तीन बार लेना चाहिए।


चोट करे बेअसर


चोट लगने पर व्यक्ति को काफी पीड़ा होती है और चोट के घाव भी जल्द ठीक नहीं होते। इस स्थिति में पुदीने का प्रयोग करें। दरअसल, पुदीने में एंटी-बैक्टिरियल पाया जाता है जो घाव या चोट को ठीक करने में काफी प्रभावी तरीके से काम करता है। इसके इस्तेमाल के लिए आप पुदीने की पत्तियां मसल कर इसका पेस्ट बना कर घाव वाली जगह पर लगाएं। इससे आपको काफी आराम मिलेगा।


दूर करे सिरदर्द


सिरदर्द को दूर करने में पुदीना बेहद प्रभावशाली माना गया है। अगर आपको सिर में दर्द हो रहा हो तो पुदीने की पत्तियों का लेप बनाकर माथे पर लगाएं। इससे आपको ठंडक का अहसास होगा और तनाव का स्तर भी कम होगा। जिससे सिरदर्द से राहत मिलेगी।


श्वास विकार का उपचार


श्वास संबंधी किसी भी विकार के उपचार के लिए पुदीने का प्रयोग करना बेहद अच्छा रहता है। इसके लिए एक चम्मच पुदीने के रस में दो चम्मच सिरका और एक चम्मच गाजर का रस मिलाकर पीएं।


नहीं आएगी मुंह से बदबू


अपनी ओरल हेल्थ का ख्याल रखने के बाद भी कई लोगों के मुंह से कुछ देर में ही बदबू आने लगती है। इस समस्या से निपटने में भी पुदीना काफी कारगर है। जिन लोगों के मुंह से अक्सर दुर्गंध आती है, वह भोजन करने के बाद पुदीने की कुछ पत्तियों को चबाएं। इससे सांसों में लंबे समय तक ताजगी बनी रहेगी। वैसे अगर आप चाहें तो मुंह की बदबू से छुटकारा पाने के लिए पुदीने की पत्तियों को सुखाकर उसका पाउडर बनाएं। इस पाउडर का इस्तेमाल मंजन की तरह करें। यह मुंह की बदबू को दूर करने के साथ-साथ मसूड़ों को भी मजबूती प्रदान करता है।


गले का ख्याल


पुदीना ओरल हेल्थ का पूरी तरह ख्याल रखता है, फिर चाहे बात मुंह से आने वाली दुर्गंध की हो या गले की समस्या की। यह हर परेशानी का बेहद अच्छी तरह उपचार करता है। आपको चाहे गले में किसी भी तरह की परेशानी हो, बस पुदीने की पत्तियों को पानी में उबालें। अब पानी को छानकर उसमें थोड़ा नमक मिलाएं। इस पानी से गार्गिल करने पर आपको गले की हर समस्या से राहत मिलती है।


टाइफाइड में लाभकारी


टाइफाइड होने पर भी पुदीना रोग के उपचार में मददगार है। इसके लिए पुदीने में तुलसी का रस मिलाकर सेवन करना चाहिए।


मौसमी बीमारियों से छुटकारा


बदलते मौसम में खांसी, जुकाम और बुखार होने की समस्या बेहद आम है। इससे निपटने के लिए पुदीने के रस में काली मिर्च और काला नमक मिलाएं। अब इसे चाय की तरह उबालकर पीएं। आपको यकीनन आराम होगा।


हिचकी लगी हो


हिचकी आना एक बेहद ही सामान्य बात है। आमतौर पर कुछ देर में यह खुद-ब-खुद बंद हो जाती है या लोग हिचकी को रोकने के लिए पानी पीते हैं। लेकिन फिर भी अगर हिचकी नहीं रूक रही हो तो पुदीने की पत्तियां चबाएं या उसका रस निकालकर पीएं। इससे भी हिचकियां आनी बंद हो जाती हैं।


महिलाओं के लिए लाभकारी


पुदीना महिलाओं के लिए विशेष रूप से लाभकारी है। जिन महिलाओं को मासिक धर्म समय पर नहीं आता, वह इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए पुदीने की पत्तियों को सुखाकर उसका पाउडर बनाएं। अब इसमें थोड़ा शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार प्रतिदिन सेवन करें। कुछ ही दिनों में मासिक धर्म नियमित हो जाएंगे। वहीं प्रसव से पहले अगर स्त्री को पुदीने का रस पिलाया जाए तो इससे प्रसव आसानी से हो जाता है और प्रसव की पीड़ा भी कम होती है।


दूर करे गर्मी


गर्मी के दिनों में हर किसी को पुदीने का सेवन करने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह शरीर को ठंडक प्रदान करता है। अत्यधिक गर्मी के मौसम में अगर जी मचलाता है तो पुदीने की पत्तियों को सुखाकर उसके पाउडर में छोटी इलायची का पाउडर एक गिलास पानी में उबालें। अब इस पानी का सेवन करें। आपको काफी अच्छा लगेगा।





शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x