सिर से लेकर पैर तक का ख्याल रखता है पालक का जूस

05 फरवरी 2019   |  मिताली जैन   (83 बार पढ़ा जा चुका है)

सिर से लेकर पैर तक का ख्याल रखता है पालक का जूस

पोषक तत्वों से युक्त पालक को किसी न किसी रूप में डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है। वैसे तो पालक को सब्जी या परांठों के रूप में भी खाया जाता है लेकिन आप चाहें तो इसे बतौर जूस भी ले सकते हैं। पालक का जूस लेने से इसके पोषक तत्व यूं ही बरकरार रहते हैं। तो चलिए जानते हैं पालक के जूस से होने वाले फायदों के बारे में-


पोषक तत्वों से पैक


पालक में कई तरह के मिनरल्सए विटामिन और दूसरे कई न्यूट्रीएंट्स पाए जाते हैं, जिसके कारण इन्हें पीना सेहत के लिए बेहद लाभकारी है। पालक के जूस में विटामिन एए सीए ईए के और बी कॉम्प्लेक्स बहुत अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा इसमें मैगनीजए कैरोटीनए आयरनए आयोडीनए कैल्शियमए मैग्नीशियमए पोटैशियमए सोडियमए फॉस्फोरस और आवश्यक अमीनो एसिड भी पाए जाते हैं।


हड्डियों को मिलती है मजबूती


आपको शायद पता न हो लेकिन पालक का जूस हड्डियों को मजबूती प्रदान करने का काम करता है। दरअसल, इसमें विटामिन के उच्च मात्रा में पाया जाता है और अगर इसका नियमित सेवन किया जाता है तो विटामिन के की उपस्थिति के कारण बोन टिश्यू को मजबूती मिलती है।


आंखों की सुरक्षा


पालक के जूस में विटामिन ए और कैरोटीनाॅयड भरपूर होने के कारण, पालक का रस आंखों के लिए बेहद लाभकारी माना गया है। पालक का जूस पीने से आंखों की रोशनी तो तेज होती है। इसके अलावा, पालक में ल्यूटिन और जेक्सैंथिन होते हैं, जो सूरज की हानिकारक किरणों से आपकी रक्षा करते हैं।


गर्भवती महिलाओं के लिए लाभकारी


गर्भवती महिलाओं के लिए पालक का जूस किसी वरदान से कम नहीं है। अगर गर्भवती महिला इसका सेवन करती है तो इससे उसके गर्भ में पल रहे शिशु का विकास बेहद अच्छे तरीके होता है। इसके अतिरिक्त स्तनपान कराने वाली महिलाओं में भी यह उनके दूध को बढ़ाने का काम करता है।


पाचन में मददगार


यदि पालक के जूस का नियमित रूप से सेवन किया जाए तो इससे शरीर के सभी विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। यह पेट की परत को प्रोटेक्ट करता है, अल्सर को बनने से रोकता है और कब्ज की समस्या को भी दूर करता है। इस तरह यह पाचन तंत्र के लिए बेहद लाभदायक है।


कैंसर से बचाव


आपको जानकर हैरानी हो लेकिन पालक के जूस के पोषक तत्व महिलाओं में ओवेरियन कैंसर की संभावना को भी काफी हद तक कम करते हैं। एक अध्ययन से भी यह बात सामने आई है कि नियमित रूप से पालक का रस पीने वाली महिलाओं को ओवेरियन कैंसर का रिस्क 40 प्रतिशत तक कम होता है।


एनीमिया से बचाव


पालक में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण में मदद करते हैं। इसलिए अगर पालक के जूस का नियमित रूप से सेवन किया जाए तो इससे व्यक्ति कभी भी एनीमिया का शिकार नहीं होता।


अगर आता है मसूड़ों से खून


कभी-कभी ऐसा होता है कि जब आप ब्रश करते हैं तो मसूड़ों से खून आने लगता है। ऐसे लोगों को नियमित रूप से पालक के जूस का सेवन करना चाहिए। इसमें पाया जाने वाला विटामिन सी मसूड़ों से खून बहने की समस्या को दूर करता है।


कम करे रक्तचाप


जिन व्यक्तियों का ब्लडप्रेशर ज्यादातर हाई रहता है, उन्हें पालक का जूस अवश्य पीना चाहिए। इससे रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है।


गठिया से राहत


पालक के रस का सेवन गठिया के दर्द से भी राहत दिलाता है। ऐसा इसमें मौजूद उच्च क्षारीयता के कारण होता है। इसलिए जो भी व्यक्ति गठिया के दर्द से परेशान हो, उसे पालक का जूस अवश्य पीना चाहिए।


स्वस्थ व मजबूत बाल


बाल किसी भी व्यक्ति की खूबसूरती में चार-चांद लगाते हैं। लेकिन आज की लाइफस्टाइल में पतले बाल, बालों का टूटना, स्कैल्प में लगातार खुजली जैसी समस्याएं बेहद आम हो गई है। इनसे छुटकारा पाने के लिए ब्यूटी प्राॅडक्ट्स की जगह पालक के रस का सेवन कीजिए। पालक के रस में विटामिन बी काॅम्पलैक्स पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जो बालों की ग्रोथ को बेहतर बनाकर अन्य हेयर समस्याओं को भी दूर करता है।



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये