जली हुई जीभ को आराम दिलाएंगे यह उपाय

24 फरवरी 2019   |  मिताली जैन   (40 बार पढ़ा जा चुका है)

जली हुई जीभ को आराम दिलाएंगे यह उपाय

अक्सर ऐसा होता है, जब आप बेहद जल्दी कुछ गरमागरम खा-पी लेते हैं तो जीभ जल जाती है। ऐसे में व्यक्ति को तकलीफ तो काफी होती है, लेकिन समझ में नहीं आता कि क्या किया जाए। जीभ में जलन होने पर वहां पर दवाई लगाना संभव नहीं होता। ऐसे में काम आते हैं कुछ घरेलू उपाय। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ बेहद आसान उपायों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से जली हुई जीभ को राहत मिल सकती है-


ऐसे लें सांस


आपको शायद पता न हो लेकिन आपके सांस लेने का तरीका भी जीभ की जलन को शांत करने का आसान उपाय है। अगर आपकी जीभ जल जाए तो आप तुरंत उसे थूककर जीभ को बाहर निकालें। इसके बाद नाक की जगह मुंह से सांस लें। जब आप ऐसा करते हैं तो इससे ठंडी हवा जीभ पर लगती है और व्यक्ति को ठंडक का अहसास होता है।


पानी का इस्तेमाल


ठंडा पानी भी जीभ की जलन को शांत करने का बेहद कारगर तरीका माना गया है। जीभ के जलने पर तुरंत एक गिलास ठंडा पानी पीएं। इससे आपको जीभ में होने वाली जलन से आराम मिलेगा। वैसे ठंडे पानी की जगह बर्फ, आईसक्रीम या ठंडा जूस आदि का सेवन भी किया जा सकता है। दरअसल, ठंडी चीजों का सेवन करने से जीभ को ठंडक मिलती है और जलन से आराम मिलता है।


काम आएगा नमक का पानी


ठंडे पानी के साथ नमक का पानी भी जीभ की जलन को शांत करने का एक आसान लेकिन प्रभावी उपाय है। इसके इस्तेमाल के लिए जीभ जलने पर सबसे पहले ठंडा पानी पीएं। इसके तुरंत आराम मिलता है। उसके बाद जब आपकी जीभ का तापमान सामान्य हो जाए तो आप हल्के गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक डालकर उससे कुल्ला करें। इससे बाद में होने वाली जीभ मंे जलन से आराम मिलेगा। नमक के पानी के सेवन का फायदा यह है कि एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक होने के कारण यह सूजन और दर्द को कम करता है।


शहद


शहद के एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफलेमेटरी प्राॅपर्टीज जीभ के जलने पर सूजन व दर्द को कम करने में मददगार है। इसलिए जीभ के जलने पर शहद का सेवन करें। इससे तुरंत आपको काफी राहत मिलेगी।


पेन रिलीवर है चीनी


आपको शायद पता न हो लेकिन चीनी एक प्राकृतिक दर्दनिवारक की तरह काम करता है। इसलिए जीभ के जलने पर इसका इस्तेमाल करना एक बेहतरीन उपाय है। इसके इस्तेमाल के लिए पहले कुछ दाने चीनी के अपनी जीभ पर रखें और उन्हें चबाएं नहीं। बस उन दानों को खुद ब खुद घुलने दें। इससे जीभ में होने वाली जलन शंात होगी। वैसे चीनी की तरह ही दही का इस्तेमाल करना भी एक अच्छा विचार हो सकता हैं।


प्रभावी है पुदीना


पुदीने के इस्तेमाल से जली हुई जीभ को तुरंत शांत किया जा सकता है। दरअसल, इसमें मेन्थाॅल होता है जो शीत-संवेदी नसों को सक्रिय कर देता है और व्यक्ति को ठंडक का अहसास होता है। साथ ही यह प्रभावित क्षेत्र को सुन्न कर देता है और सूजन को कम करता है। जिससे व्यक्ति को काफी अच्छा महसूस होता है।


कारगर है एलोवेरा


एलोवेरा के गुणों की जितनी तारीफ की जाए, उतनी ही कम है। एक ओर जहां एलोवेरा जूस कई तरह के स्वास्थ्य लाभ पहुंचाता है, वहीं इसके जेल का प्रयोग विभिन्न ब्यूटी प्राॅडक्ट्स में किया जाता है। वैसे महिलाएं इसके ताजा जेल को स्किन पर लगाकर अपनी खूबसूरती को बनाए रखती हैं। वहीं यह जली हुई जीभ की जलन को शांत करने में भी मददगार है। इसके इस्तेमाल के लिए आप एलोवेरा के पत्ते को तोड़कर उसका फ्रेश जेल निकालें और उसे अपनी जीभ पर लगाएं। आप इस प्रक्रिया को दिन में कई बार दोहराएं। अगर आपको एलोवेरा जेल लगाने में परेशानी हो रही है तो एलोवेरा जेल को आईस टे में रखकर फ्रीजर में रख दें और इस आईस क्यूब को कई बार अपनी जीभ पर रखें। इससे आपको काफी ठंडक का अहसास होगा।


विटामिन ई ऑयल


विटामिन ई ऑयल तुरंत जली हुई जीभ से राहत पहुंचाता है। इसके लिए कैप्सूल खोलें और उसे अपनी जीभ पर खाली करें। अब इसे अपनी उंगलियों कीे मदद से जीभ पर फैलाएं। दिन में दो से तीन बार इस उपाय को दोहराएं। इससे यकीनन आपको अच्छा लगेगा।


इसका रखें ध्यान


  • अगर आपकी जीभ जल गई है तो प्राकृतिक उपचार से यकीनन आपको लाभ मिलेगा लेकिन इसके साथ-साथ कुछ बातों का भी ध्यान रखें।
  • कुछ दिनों तक गरम तरल पदार्थो से बचें, इससे आपकी जलन बढ़ सकती है।
  • अम्लीय खाद्य पदार्थ जैसे टमाटर व खट्टे फलों का सेवन न करें।
  • कुछ क्रंची पदार्थ जैसे आलू के चिप्स व नट्स न खाएं। इससे आपकी परेशानी बढ़ सकती है।
  • जहां तक संभव हो, मसालेदार भोजन से दूर ही रहें।
  • जीभ में लार के उत्पादन को बढ़ाने के लिए च्वूइंग गम या कैंडी का सेवन करें।
  • ओरल हाईजीन पर पर्याप्त ध्यान दें।
  • कभी भी भोजन का सेवन करने से पहले उसका तापमान अवश्य चेक करें।




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये