“Health is Wealth” ऐसे रखें अपने स्वास्थ्य का ध्यान - In Hindi

27 फरवरी 2019   |  अंकिशा मिश्रा   (62 बार पढ़ा जा चुका है)

“Health is Wealth” ऐसे रखें अपने स्वास्थ्य का ध्यान - In Hindi - शब्द स्वास्थ्य(health.shabd.in)

एक कहावत “Health is Wealth” अर्थात स्वास्थ्य ही धन है। हर व्यक्ति चाहता है कि वो अपने पूरे जीवन में स्वस्थ्य रहना चाहता है ताकि उसे अपने काम के लिए कभी किसी का सहारा न लेना पड़े। हर कोई ये मानता है कि जीवन में स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन होता है जो कि हमेशा हमारे साथ रहता है और हर मुश्किल में हमारी सहायता करता है। ये भी माना जाता है कि अगर व्यक्ति ने पैसा खोया तो कुछ भी नहीं खोया लेकिन यदि उसने स्वास्थ्य खो दिया तो सब कुछ ही खो दिया क्योंकि फिर व्यक्ति कितनी भी कोशिश क्यों न कर ले या फिर कितने भी पैसे क्यों न खर्च ले उसे पहले जैसा स्वास्थ्य नहीं मिल सकता है लेकिन यदि किसी भी व्यक्ति के पास अच्छा स्वास्थ्य है तो वह धन आसानी से कमा सकता है इसलिए स्वास्थ्य ही हमारा सर्वोप्रिय धन है।


अच्छे स्वास्थ्य की इच्छा हर कोई रखता है पर कोई भी उसकी तरफ ध्यान नहीं देता है। आज के व्यस्त दिनचर्या में लोगों के पास अपने स्वास्थ्य के लिए समय ही नहीं है वह उसका ख्याल नहीं रखता है और सिर्फ पैसे के पीछे दौड़ता है और भूल जाता है कि उसका असली धन तो उसका स्वास्थ्य ही है। जब कहीं भी कोई भी धन काम नहीं आता है तो तब स्वास्थ्य ही साथ निभाता है क्योंकि अच्छे स्वास्थ्य में सभी मुश्किलों से लड़ने की क्षमता है। मनुष्य को अपने स्वास्थ्य को ध्यान रखना चाहिए। उसे सुबह के समय व्यायाम करना चाहिए और शरीर को शुद्ध हवा देनी चाहिए। हमें संतुलित आहार लेना चाहिए और बाहर के जंक फूड से बचना चाहिए और नींद भी पूरी लेनी चाहिए जिससे कि शरीर को आराम मिले। अगर हमारे स्वास्थ्य अच्छा है तो हम मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहेंगे और खुश रहेंगे।

अच्छा स्वास्थ्य होने पर हमें कार्य करने की शक्ति मिलती है तो यह हमारी सफलता की भी पूँजी हैं। स्वास्थ्य हमारे लिए बहुत कीमती है तो इसे संभाल के रखिए। अपने व्यस्त जीवन में से थोड़ा सा समय अपने स्वास्थ्य की देख-रेख के लिए भी निकाले। हम सबको बच्चों को भी अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रेरित करना चाहिए और उन्हें समझाना चाहिए कि यह हमारी सबसे पहली प्राथमिकता है। जिस व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा नहीं होता है वह जिंदगी को बहुत से रसों से वंचित रह जाता है। हम सबको स्वास्थ्य का महत्व समझना चाहिए और इसको स्वस्थ रखना चाहिए।


“Health is Wealth” ऐसे रखें अपने स्वास्थ्य का ध्यान :-


आधुनिक जीवन शैली की तेज रफ्तार एवं भागदौड़ भरी जिंदगी में सेहत का विषय बहुत पीछे रह गया है और नतीजा यह निकला कि आजकल लोग युवावस्था में ही ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, ह्रदय रोग, कोलेस्ट्रोल, मोटापा, गठिया, थायरॉइड जैसे रोगों से पीड़ित होने लगे हैं जो कि पहले प्रोढ़ावस्था एवं व्रद्धावस्था में होते थे और इसकी सबसे बड़ी वजह है खान पान और रहन सहन की गलत आदतें।

तो आइये सेहत की इन नियमों का पालन कर बनाएं अपने स्वास्थ्य को और अच्छा ताकि आप और अपका परिवार रहे स्वस्थ। ताकि एक स्वस्थ एवं मजबूत समाज और देश का निर्माण हो,क्योंकि कहा भी गया है-पहला सुख निरोगी काया l


भोजन हो संतुलित-



घी, तैल से बनी चीजें जैसे पूड़ी, पराँठे, छोले भठूरे, समोसे कचौड़ी, जंक फ़ूड, चाय, कॉफी, कोल्ड ड्रिंक का ज्यादा सेवन सेहत के लिए घातक है इनका अधिक मात्रा में नियमित सेवन ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रोल, मधुमेह, मोटापा एवं हार्ट डिजीज का कारण बनता है तथा पेट में गैस, अल्सर, ऐसीडिटी, बार बार दस्त लगना, लीवर ख़राब होना जैसी तकलीफें होने लगती हैं इनकी बजाय खाने में हरी सब्जियां, मौसमी फल, दूध, दही, छाछ, अंकुरित अनाज और सलाद को शामिल करना चाहिए जो कि विटामिन, खनिज लवण, फाइबर, और जीवनीय तत्वों से भरपूर होते हैं जो कि शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं l इसके साथ ही चीनी एवं नमक का अधिक मात्रा में सेवन ना करें, ये डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, ह्रदय रोगों का कारण हैं l बादाम, किशमिश, अंजीर, अखरोट आदि मेवा सेहत के लिए बहुत लाभकारी होते हैं इनका सेवन अवश्य करें l पानी एवं अन्य लिक्विड जैसे फलों का ताजा जूस, दूध, दही, छाछ, नींबू पानी, नारियल पानी का खूब सेवन करें, इनसे शरीर में पानी की कमी नहीं हो होती साथ ही शरीर की त्वचा एवं चेहरे पर चमक आती है।


व्यायाम का करें नियमित अभ्यास–



सूर्योदय से पहले उठकर पार्क जाएं। हरी घास पर नंगे पैर घूमें, दौड़ लगाएं, वाक करें, योगा, प्राणायाम करें, इससे शरीर से पसीना निकलता है, माँस पेशियों को ताकत मिलती है, शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है, अनेक शारीरिक एवं मानसिक रोगों से बचाव होता है, पूरे दिन भर बदन में चुस्ती फुर्ती रहती है, भूख अच्छी लगती है इसलिए नियमित रूप से व्यायाम अवश्य करें l


गहरी नींद भी है जरुरी -


शरीर एवं मन को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन लगभग 7 घंटे की गहरी नींद लेना जरुरी है। लगातार नींद पूरी ना होना, बार बार नींद खुलना, अनेक बीमारियों का कारण बनता हैl


अच्छी नींद के लिए ये उपाय करें-


सोने का कमरा साफ सुथरा, शांत और एकांत में होना चाहिए। रात को अधिकतम 10-11 बजे तक सो जाना और सुबह 5-6 बजे तक उठ जाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। सोने से पहले शवासन करें इससे अच्छी नींद आती है। खाना सोने से 2-3 घंटे पहले कर लेना चाहिए एवं शाम को खाना खाने के बाद 20-25 मिनट अवश्य घूमें l


टेंशन को कहें बाय बाय –


रोजमर्रा की जिंदगी में आने वाली समस्याओं के लिए चिंतन करना सही है लेकिन हद से ज्यादा चिंता करना सही नहीं है। चिता तो फिर भी मरने के बाद शरीर को जलाती है किन्तु लगातार अनावश्यक चिंता जीते जी शरीर को जला देती है इसलिए तनाव होने पर भाई, बंधू एवं विश्वास पात्र मित्रों से सलाह लें यदि समस्या फिर भी ना सुलझे तो विशेषज्ञ से राय लें l


नशे से रहें बच के-


युवा पीढ़ी के लिए कोई सबसे खतरनाक बीमारी है तो वो है नशा करना। शराब, धूम्रपान, तम्बाकू ये सब सेहत के दुश्मन हैं। इसलिए किसी भी स्थिति में नशे की लत से बचें, यदि नशे से बचे हुए हैं तो बहुत अच्छा है। लेकिन अगर कोई भी नशा करते हैं तो जितनी जल्दी नशे से दूरी बना लें उतना ही अच्छा है। नशा एक ऐसी बीमारी है जो कैंसर और एड्स से भी ज्यादा खतरनाक है जो एकसाथ कई परिवारों को बर्बाद करती है तथा शारीरिक, मानसिक, आर्थिक एवं सामाजिक प्रतिष्ठा के नाश का कारण बनती है, इसलिए नशे से बचना ही बेहतर उपाय है l




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये