खुजली से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

12 मार्च 2019   |  विश्व प्रताप सिंह   (67 बार पढ़ा जा चुका है)



त्वचा में खुजली एक समस्या है जो कई लोगों को प्रभावित करती है। लेकिन त्वचा में खुजली के कारण, आपको व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन दोनों में परेशानी हो सकती है। लेकिन आप कुछ घरेलू उपायों के जरिए त्वचा में खुजली की इस समस्या को हल कर सकते हैं। त्वचा पर खुजली होने पर आप इन प्राकृतिक उपायों को अपना सकते हैं जो बहुत प्रभावी और प्रभावी माने जाते हैं। इस लेख में आप त्वचा की खुजली को ठीक करने के घरेलू उपचार सीखेंगे। आइए जानते हैं कि त्वचा में खुजली होने पर आप किन उपचारों का उपयोग कर सकते हैं।



खुजली क्‍या है



मानव शरीर का सबसे बड़ा हिस्सा त्वचा माना जाता है। त्वचा की खुजली एक सनसनी है जो त्वचा या तंत्रिका कोशिकाओं के जलने से उत्पन्न होती है। मेडिकल खुजली को प्रुरिटस के रूप में जाना जाता है। त्वचा में खुजली होने के कई कारण हो सकते हैं। जिससे आपकी त्वचा में लाल चकत्ते या लाल चकत्ते आदि हो सकते हैं। इस तरह त्वचा की खुजली आपके लिए परेशानी का कारण बन सकती है।



खुजली होने के कारण



  • रूखी त्वचा

  • त्वचा में जलन या चकत्ते

  • आंतरिक रोग जैसे कि यकृत की समस्याएं या गुर्दे की विफलता

  • तंत्रिका तंत्र के विकार, मधुमेह आदि।

  • सौंदर्य प्रसाधन और एलर्जी के कारण

  • गर्भावस्था, अधिक उम्र

  • पर्यावरणीय कारक आदि।



खुजली के लक्षण



आप अपने शरीर के कुछ हिस्सों में खुजली का अनुभव कर सकते हैं। विशेष रूप से त्वचा, खुजली जननांगों, हाथ, पैर या आपके शरीर के अन्य भागों में पाई जा सकती है। इस तरह से खुजली के कारण आपके शरीर में कुछ बदलाव भी दिखाई दे सकते हैं, जैसे कि लाल धब्बे, त्वचा के छाले या छाले, परतदार त्वचा आदि। इसके अलावा, यह खुजली लंबे समय तक बनी रह सकती है जो आपके दैनिक जीवन को प्रभावित करती है। इस प्रकार लंबे समय तक चलने वाली खुजली धीरे-धीरे त्वचा के दाने का रूप ले सकती है। अगर आप भी त्वचा की खुजली से प्रभावित हैं तो यहां बताए गए प्राकृतिक और घरेलू उपायों को अपनाएं।



खुजली से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय



नारियल का तेल



जिन लोगों की त्वचा में खुजली होती है, वे उपचार के रूप में नारियल के तेल का उपयोग कर सकते हैं। अध्ययन बताते हैं कि नारियल के तेल में मौजूद पोषक तत्व खुजली वाले क्षेत्रों में दवाओं की सेवा करते हैं। नारियल के तेल में प्राकृतिक जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो त्वचा के संक्रमण के प्रभाव को कम कर सकते हैं। आप शायद जानते हैं कि त्वचा संक्रमण का मुख्य कारण बैक्टीरिया है। नारियल तेल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा में मौजूद बैक्टीरिया के विकास और प्रभाव दोनों को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा नारियल तेल के इस्तेमाल से त्वचा को प्राकृतिक नमी मिलती है। इस तरह आप त्वचा की खुजली को दूर करने के लिए नारियल के तेल का उपयोग कर सकते हैं।



बेकिंग सोडा



शरीर की स्वच्छता खुजली के लिए सबसे आसान और प्रभावी उपाय है। बेकिंग सोडा का उपयोग शरीर को साफ रखने और खुजली से छुटकारा पाने के लिए किया जा सकता है। इसके लिए आप अपने नहाने के पानी में थोड़ा सा बेकिंग सोडा मिलाएं और इस पानी से नहाएं। खुजली के दौरान गर्म पानी में बेकिंग सोडा का उपयोग बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन अगर शरीर के किसी हिस्से में विशेष रूप से अधिक खुजली होती है, तो आप बेकिंग सोडा पेस्ट का भी उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए 1 चम्मच बेकिंग सोडा लें और इसमें कुछ मात्रा में पानी मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाएं और 2 से 5 मिनट के बीच में पानी से धो लें।



दलिया



जो लोग लंबे समय से खुजली से पीड़ित हैं उन्हें दलिया के लाभ मिल सकते हैं। खुजली प्रभावित क्षेत्र में पानी के साथ दलिया का उपयोग सुखद अनुभव देता है। इसके लिए अपने नहाने के गर्म पानी को 2 कप ओटमील के साथ मिलाएं और इस पानी से प्रभावित हिस्से को धोएं। लेकिन खिलजी से प्रभावित क्षेत्रों में गर्म पानी का उपयोग करने से बचें क्योंकि बहुत गर्म पानी आपकी क्षतिग्रस्त त्वचा को खराब कर सकता है। आपकी खुजली की समस्या और भी गंभीर हो सकती है। खुजली वाली त्वचा को हटाने के लिए यह सबसे अच्छा और प्रभावी घरेलू उपचार है।



सेब का सिरका



यदि आपकी त्‍वचा शुष्‍क है और आप खुजली से परेशान हैं तो इसके उपचार के लिए प्राकृतिक उत्‍पादों का उपयोग करें। सेब का सिरका भी एक ऐसा प्राकृतिक पदार्थ है जो खुजली को प्रभावी रूप से ठीक कर सकता है। सेब के सिरका में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो त्‍वचा संक्रमण से निपटने में हमारी मदद कर सकते हैं। यदि आप त्‍वचा की खुजली का इलाज करना चाहते हैं तो अपने नहाने के पानी में सेब के सिरका का उपयोग कर सकते हैं। आप अपने नहाने के पानी में 2 से 3 कप सेब का सिरका मिलाएं और प्रभावित अंग को इस पानी से धुलें और फिर स्‍नान करें। सेब के सिरका के औषधीय गुण आपके शरीर के बाहरी अंग को अच्‍छी तरह से डिटॉक्सिफॉइ करने में मदद करते हैं।



शहद



खुजली एक ऐसी समस्‍या है जो आपको लोगों के सामने शर्मिंदगी का अनुभव करा सकती है। लेकिन त्‍वचा की खुजली का घरेलू इलाज किया जा सकता है। इसके लिए आप प्राकृतिक शहद का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। क्‍योंकि शहद में एंटीऑक्‍सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं। ये आपकी त्‍वचा की सूजन को कम करने के साथ ही त्‍वचा में मौजूद संक्रमण को फैलने से रोक सकते हैं। इसके लिए आप 2 चम्‍मच शहद लें और इसे हल्‍का गर्म करें। इस गुनगुने शहद को अपनी खुजली प्रभावित जगह पर लगाएं और लगभग 15 मिनिट के बाद धो लें। शहद आपकी त्‍वचा में नमी को बनाए रखने में मदद करती है। इसके अलावा आपकी त्‍वचा में मौजूद संक्रामक कीटाणुओं को नष्‍ट करने में भी अहम योगदान देती है। इस तरह से त्‍वचा की खुजली को दूर करने के लिए आप शहद का उपयोग कर सकते हैं।



तुलसी



त्‍वचा की खुजली होने पर घरेलू उपाय के लिए तुलसी का उपयोग बहुत ही फायदेमंद होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि तुलसी के पत्‍तों में यूजानॉल और थाइमोल जैसे घटक मौजूद रहते हैं। इसके अलावा तुलसी में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण भी होते हैं जो त्‍वचा की खुजली और इससे होने वाली सूजन को कम करने में मदद करते हैं। खुजली होने पर आप तुलसी के कुछ पत्‍तों को पीस कर एक पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को खुजली प्रभावित अंग पर लगाएं और कुछ देर के बाद धो लें। तुलसी के उपचार गुण आपको खुजली से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। खुजली से तत्‍काल राहत पाने के लिए आप इस उपचार को खुजली ठीक होने तक प्रतिदिन 2 बार उपयोग कर सकते हैं।


ज्यादा जानकारी के लिए आप यहाँ पर क्लिक करे : Hindi Health Tipes , Online Pharmacy




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें
05 मार्च 2019
05 मार्च 2019

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये