पीरियड्स की समस्याओं का समाधान - Periods Problem Solution In Hindi

02 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (83 बार पढ़ा जा चुका है)

Periods Problem Solution In Hindi- महिलाओं में पीरियड्स प्रोबलम होना आम बात है और इस दौरान उन्हें कई समस्याओं का सामना करन पड़ता है ये भी एक सच है. इस मासिक धर्म से महिलाओं को हर महीने गुजरना पडता है और यह चक्र हर महीने 3 से 5 दिनों तक रहता है. इन दिनों महिलाओं को पेट दर्द, कमर दर्द, पेट के निचले हिस्से और शरीर में दर्द बना रहता है ऐसा पहले और दूसरे दिन बहुत होता ह, ये सभी माहवारी के दर्द के नॉर्मल लक्षण हैं लेकिन कई बार दर्द असहनीय हो जाता है कि पीरियड्स के दर्द की दवा का सहारा लेती हैं.


पीरियड्स की समस्याएं


पीरिड्स की समस्याओं के लक्षण -Symptoms of Periods Problems


पीरियड्स के दौरान कमर और पेट दर्द की समस्या सबसे ज्यादा होती है. इसमें पेट के निचले हिस्से में असहनीय दर्द होता है और इससे शारीरिक कमजोरी भी हो जाती है. खून की कमी से पीरियड रुक-रुक कर आने या रैगुलर ना होने से भी दर्द होता है. वहीं ठीक से नहीं खाना-पीना भी और ठंडा पानी पीने से भी दर्द होता है. इसके चलते महिलाओं में सुस्त मूड, चिड़चिड़ापन, उदासी और तनाव के भाव आने लगते हैं. इसके अलावा ज्यादा नींद आना, खाने पीने का मन नहीं होना ये सभी भी नॉर्मल लक्षण होते हैं जिनसे आपको घबराना नहीं चाहिए.


क्यों होता है पीरियड्स में पेट दर्द ?-Why Periods in the stomach Pain


पीरियड्स में कमर और पेट के निचले हिस्से में असहनीय दर्द होता है और ये शारीरिक कमजोरी की वजह से होता है. खून की कमी से पीरियड रुक-रुक कर आने या रैगुलर ना होने से भी ज्यादा दर्द होता है. वहीं खान-पान का सही नहीं होना और ठंडा पानी पीने से भी दर्द की समस्या बढ जाती है. एक महीने खुलकर ब्लीडिंग होने से विटामिन और आयरन की कमी हो जाती है और इसलिए आहार के द्वारा ही इनकी पूर्ती करना जरूरी हो जाता है जिससे अगले महीने के पीरियड्स के दौरान महिलाओं में ऐसी समस्याएं फिर नहीं आएं. मासिक धर्म होने के दौरान आपको दूध की चीजें, ठंडी तहसील वाली चीजें,मांस और दालों का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि ये सभी चीजें पेट में गैस बना देती हैं जो दर्द का एक कारण हो सकता है.


ये है पीरियड्स पेन रिलीफ - Periods Pain Relief


पीरियड्स के दौरान शरीर में दर्द, थकान और पेट दर्द होना आम बात है इसे ठीक करने के लिए आप इन दो दवाओं का इस्तेमाल कर सकती हैं नोरिथिस्टेरॉन टैबलेट 5 mg और प्रिमोलुट एन टैबलेट या आर्युवेदिक दवाओं का इस्तेमाल कर सकती हैं और अगर इनसे भी आराम नहीं मिलता है तो एक चम्मच हल्दी पाउडर को गर्म गिलास में दूध मिलाकर पीएं. इससे शरीर में गर्मी पैदा होती है और इससे जुड़ी समस्याओं से राहत भी मिलती है.


मासिक धर्म में इन उपायों से भी पा सकते हैं निजात- Solution in Periods


पौष्टिक गुणों से भरपूर आहार खाने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है और पीरियड्स के दौरान एनर्जी भरपूर बनी रहती है. इसके लिए आपको फल, एक कप हल्दी वाला दूध, हरी पत्तेदार सब्जी का भरपूर स्वाद, विटामिन्स युक्त खाद्य पदार्थ और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए. डाइट में विटामिन बी, ई, सी और फोलेट जैसे कई सप्लीमेंट्स लेना फायदेमंद साबित होता है. इसके अलावा ये भी कर सकती हैं आप..


1. पेट दर्द होने पर आप गर्म पानी की बोतल या थैली को पेट के निचले हिस्से या दर्द वाली जगह पर रख दें. इससे गंदगी व रुका हुआ रक्त निकल जाता है और दर्द में राहत मिलती है.


2. कमर व बॉडी पेन से राहत पाने के लिए जैतून और नारियल का तेल को गुनगुना करके मसाज करने से भी राहत मिलती है.


3. पीरियड्स में दर्द होने पर व्यायाम, योग या स्ट्रेचिंग का सहारा भी लिया जा सकता है लेकिन इस दौरान आपको हल्का व्यायाम करना चाहिए फायदेमंद होगा.


4. पीरियड्स के दर्द में अगर आप लेटकर दिवार के सहारे पैरों को ऊपर कर लें तो कुछ देर का आराम मिलता है और ये एक नेचुरल तरीका होता है.



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये