मासिक धर्म का चक्र कितने दिन चलता है - Periods Kitne Din Chalta Hai

03 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (106 बार पढ़ा जा चुका है)

Periods Kitne Din Chalta Hai-महिलाओं में पीरियड्स की समस्या आम है लेकिन बहुत सी महिलाओं को इन दिनों बहुत ज्यादा समस्या रहती है. लड़कियां जब 9 या 10 साल की हों तभी उन्हें पीरियड से जुड़ी सारी बातें बताना शुरु कर देना चाहिए, जिससे आने वाले माहवारी के लिए वे तैयार रहें. वैसे तो 12 से 15 साल के अंदर ही महिलाओं को पीरियड्स आ जाते हैं और इसके बाद ये सिलसिला 50 से 60 साल की उम्र तक चलता है. हर महिलाओं के पीरियड्स की क्रिया अलग -अलग चलती है.

पीरियड्स


पीरियड्स कितने दिन चलता है - Periods Kitne Din Chalta Hai



पीरियड्स एक महिला के लिए इसलिए जरूरी होता है क्योंकि इसी प्रक्रिया से आगे चलकर वे एक बच्चे को जन्म दे सकती हैं. 12 से 15 साल की उम्र से लड़कियों में माहवारी की प्रक्रिया शुरु हो जाती है औजो लगभग 50 सालों तक चलती है और इसी दौरान लड़कियों के अंडकोष हर मीहने एक विकसित अंडा उत्पन्न करना शुरु कर देते हैं. वह अंडा अंडवाही नली (जिसे फालैपियन ट्यूब भी कहते हैं) के जरिए नीचे जाता है जो कि अंडकोष को गर्भाशय से जोड़ता है. जब अंडा गर्भाशय में पहुंच जाता है तब उसका स्तर रक्त और तरल पदार्थ से गाढ़ा हो जाता है और ऐसा इसलिए होता है कि अगर अंडा उर्वरित हो जाए तो वह बढ़ सके और शिशु के जन्म के लिए उसका स्तर विकसित हो सके. अगर वो अंडे का पुरुष के वीर्य से सम्मिलित नहीं होता है तो वह स्राव बनकर योनि से बह जाता है. इस वजह से पीरियड्स होते हैं और ये हर महीने 3 से 7 दिनों तक चलता है.


21 से 35 दिनों में मासिक धर्म फिर लौटकर आता है और जब ये लौटता है तो उसके पहले शरीर में कुछ पीरियड्स आने के संकेत मिलते हैं. जिसमें शरीर दर्द और भी कई चीजें शामिल होती हैं. अगर आपको पीरियड्स 21 दिन के पहले या 35 दिनों के बाद आ रहा है तो समस्या गंभीर हो सकती है और इसके लिए आपक डॉक्टर को दिखाने की जरूरत होती है.इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं मगर ज्यादातर महिलाएं पीरियड्स मिस होने पर उसे प्रेग्नेंसी मान लेती हैं लेकिन अगर आपके मन में भी यही सवाल होता होगा कि period ruk jaye to kya kare इसलिए आपको घबराने की जरूरत नहीं क्योंकि इसके पीछे की कई वजहें हो सकती हैं.


पीरियड्स मिस होने के कारण-Periods Miss Hone Ke Kaaran


आमतौर पर महिलाएं पीरियड्स रुकने की असली वजह प्रेग्नेंसी मान लेती हैं लेकिन असल में ये पूरी तरह से सही नहीं होता है. पीरियड्स की परेशानियों से तो हर महिलाओं को जूझना पड़ता है जिसमें कुछ के लिए ये आसानी से गुजरता है तो कुछ इससे बहुत परेशान हो जाती हैं. अगर किसी महिला के पीरियड्स में कुछ गड़बड़ी आती है तो उन्हें लगता है कि कुछ गड़बड़ी है लेकिन असल में इसके कुछ ऐसे भी कारण हो सकते हैं.


1. तनाव की वजह से भी कभी-कभी पीरियड्स मिस हो जाते हैं. तनाव ज्यादा लेने से शरीर के हार्मोंस पर असर पड़ता है और पीरियड्स आने में देरी हो जाती है.


2. जिन लड़कियों का शरीर हद से ज्यादा दुबला-पतला होता है उनमें वजन की सही मात्रा में नहीं होता और ऐसे में अनियमित पीरियड्स आ ही जाते हैं.


3. ज्यादा एक्सरसाइज करने से भी शरीर में हार्मोंस बदलते हैं और ये अनियमित पीरियड्स के कारण बन जाते हें. मगर हल्की-हल्की एक्सरसाइज रोज करने से सेहत ठीक रहती है.


4. जीवनशैली में बदलाव आने के कारण आजकल महिलाएं पॉलीसिस्टिक की शिकार होने लगी हैं. इसकी वजह से महिलाओं में ना सिर्फ अनियमत पीरियड्स होते हैं बल्कि वजन बढ़ना, बाल झड़ना और चेहरे पर दाग-धब्बे तक पड़ जाते हैं.


5. जब अंडाशय में सिस्ट हो जाता है या फिर परिवार में किसी को पीसीओएस हो जाता है तब भी पीरियड मिस होने की समस्या शुरु हो जाती है.


पीरियड्स में ज्यादा दर्द होने पर करें ये काम - Periods Me Dard ke Liye Kya Kare


पीरियड्स में कमर के निचले हिस्से में दर्द होना आम बात होती है और ऐसा वे अच्छी तरह से जानती हैं लेकिन कुछ महिलाओँ में इसके लिए असहनीय दर्द होता है. इसके लिए आप प्रिमोलुट एन टैबलेट और नोरिथिस्टेरॉन टैबलेट 5 mg जैसी दवाईयों का इस्तेमाल कर सकती हैं. मगर फिर भी अगर आप दवा यूज नहीं करना चाहती हैं तो फिर आपको इन घरेलू उपायों का सहारा लेना पड़ेगा.


1. पीरियड्स में अदरक बहुत फायदेमंद होता है, इसे आप कद्दूकस करके पानी में खौला लें और फिर शहद मिलाकर पिएं इससे दर्द में आराम रहेगा.


2. पपीता पाचन क्रिया को सही करने का काम करता है. पीयिरड के दर्द में आपको इसे जरूर खाना चाहिए फायदा करेगा.


3. दर्द में आप एक चम्मच हल्दी को दूध में मिलाकर पी सकती हैं दर्द में आपको आराम मिलेगा.


4. अजवाइन के सेवन से भी पीरियड्स के दर्द में आपको आराम मिलेगा और ये गैस भी नहीं बनने देता है.


यह भी पढ़ें - क्या होते हैं पीरियड्स मिस होने के कारण, बचाव और घरेलू उपचार | Periods Missed Hone Par Kya Kare In Hindi




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये