प्रेग्नेंट होने के सीक्रेट टिप्स - Pregnant Kaise Hote Hai

04 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (285 बार पढ़ा जा चुका है)

Pregnant Kaise Hote Hai-मां बनना हर महिला का सौभाग्य होता है और इसकी प्रक्रिया उनके जन्म से ही शुरु हो जाती है. संसार में भगवान के बाद महिलाएं ही हैं जिनका दर्जा ऊपर दिया गया है ऐसा इसलिए क्योंकि मौत की दहलीज पर जाकर महिलाएं एक जिंदगी को जन्म देती हैं. आमतौर पर लोग जानते हैं कि एक महिला जब किसी पुरुष के साथ शारीरिक संबंध बनाती है तब वे प्रेग्नेंट होती हैं और ये सच भी है लेकिन इसके अलावा भी कुछ प्रक्रियाएं होती हैं जिनसे महिलाएं प्रेग्नेंट होती हैं.


प्रेग्नेंसी

प्रेग्नेंट होने की प्रक्रियाएं - Process of Pregnancy in Hindi


मैं अपने इस आर्टिकल में आपको बताऊंगी कि महिलाएं प्रेग्नेंट कैसे होती हैं, गर्भधारण करने की प्रक्रियाएं क्या होती हैं, गर्भ कब ठहरता है और प्रेग्नेंसी के शुरुआती लक्षण क्या होते हैं. इसके अलावा गर्भ ना ठहरने पर क्या करते हैं.फिलहाल पहले आपको प्रेग्नेंट होने की प्रक्रियाओं के बारे में आपको बता देती हूं.


पुरुष की भूमिका - जब कोई पुरुष किसी महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाता है तो पुरुष के लिंग से महिला की योनि में एक तरल पदार्थ गिरता है जिसे सीमेन कहा जाता है. सीमेन मे पुरुष के शुक्राणु भी शामिल होते हैं और वो महिला की योनि में गिरने के बाद महिला के अंडे से निषेचन होता है और फिर वो दोनों मिलकर एक भ्रुण को बनाते हैं. पुरुष के शुक्राणु सूक्श्म कोशिकाएं होती हैं जो पुरुषों के टेस्टिकल्स से बनती है. हर यौन संबंध बनाने के बाद लाखों शुक्राणु महिला की योनि में गिरते हैं और महिला गर्भवति हो जाती है.


महिला की भूमिका - महिलाओं के अंडाशय में अंडे बनते हैं और मासिक धर्म उस दौरान रुक जाता है. पीरियड्स को कंट्रोल करने वाले हार्मोंस की वजह से इनमें से कुछ अंडे हर महीने परिपक्व होते हैं. जह ये अंडे परिपर्व होते हैं तो इसका मतलब यह कि वे स्पर्म कोशिकाओं के साथ भ्रूण बनाने को तैयार हैं. महिलाओं के शरीर में ये हार्मोन गर्भाशय की परत को मोटा और स्पंजी बना देते हैं और गर्भावस्था के दौरान बच्चे को संभालने को तैयार हो जाते हैं. पीरियड्स के बाद एक परिपक्व अंडा महिला के अंडाशय में रह जाता है इसे अंडोत्सर्ग करते हैं और यह परिपक्व अंडा फेलोपियन ट्यूब से गर्भाशय की ओर टहलते हुए करीब 12 से 14 घंटों तक स्पर्म की तलाश करता है.


इसी दौरान जब स्खलन के दौरान पुरुष का सीमेन महिला की योनि में गिरता है और तब स्पर्म कोशिकाएं सर्विक्स और गर्भाशय के माध्यम से फैलोपियन ट्यूब में तैरती है और फिर अंडे की तलाश करती है. गर्भाशय में स्पर्म कोशिकाएं 6 दिनों तक अंडे की तलाश में होती है और उसके बाद नष्ट हो जाती हैं.


निषेचन और प्रत्यारोपण - जब अंडा स्पर्म कोशिकाओं के संपर्क में आता है तो स्पर्म कोशिकाएं उसके साथ मिलकर निषेचन क्रियाएं शुरु कर देती हैं. हालांकि निषेचन तुरंत नहीं होता है क्योंकि सेक्स करने के बाद करीब 6 जिनों तक स्पर्म गर्भाशय और फलोपियन ट्यूब में रहता है इसलिए वो 6दिनों के बीच ही निषेचन करता है.अगर स्पर्म कोशिकाएं अंडे से नहीं जुड़ पाती तो निषेचित अंडा गर्भाशय की ओर फैलोपियन ट्यूब में चला जाता है और वहां से ज्यादा कोशिकाओं में बंटकर एक विकसित बॉल बन जाता है. बॉल कोशिकाएं जिसे ब्लास्टोसिस्ट कहते हैं निषेचिन के चार दिनों के बाद गर्भाशय में जाता है. बॉल की कोशिकाएं भी गर्भाशय मे दो से तीन दिन तक टहलती है फिर जब बॉल की कोशिकाएं गर्भाशय की दीवार की परतें जुड़ जाती हैं तो इस क्रिया को प्रत्यारोपण कहते हैं और इसके बाद शुरु होती है प्रेग्नेंसी. जब निषेचित अंडे गर्भाशय में प्रत्यारोपित होते हैं तो ये प्रेग्नेंसी हार्मोंस स्रावित करने लगते हैं जिससे महिला गर्भवती होती है और पीरियड्स रुक जाते हैं.


pregnancy


प्रेग्नेंसी के शुरुआती लक्षण -Symptoms Pregnancy In Hindi


सभी महिलाओं की अलग-अलग प्रवृत्ति होती है और सभी में अलग शारीरिक संरचना होती है. मगर ज्यादातर महिलाएं लक्षणों के आधार पर ही गर्भवती होने की पुष्टि कर पाती हैं. जिनके बारे में मैंने नीचे लिखा है-


1. मासिक धर्म रुक जाना


2. स्तनों का सूजना और मुलायम होना


3. उल्टी होना या जी मिचलाना


4. शरीर में थकान का अनुभव होना


5. बार-बार ट्वायलेट फील होना


6. स्तन के आकार में परिवर्तन


7. चक्कर आना, शरीर का सूजना और कब्ज हो जाना


इस तरह करें प्रेग्नेंसी की जांच-Pregnancy Test in Hindi


अगर आपके पीरियड्स रुक जाते हैं और आप ये सोचने लगें कि period ruk jaye to kya kare फिर इसके लिए आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्योंकि शायद ये प्रेग्नेंसी हो सकती है. प्रेग्नेंसी के शुरुआती लक्षण पीएमएस की तरह होते हैं इसलिए अगर आप यह निश्चित करना चाहती हैं कि आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं तो आपको प्रेग्नेंसी टेस्ट करना जरूरी हो जाता है. आजकल घर में लोग प्रेग्नेंसी टेस्टकर सकते हैं जिसके लिए बाजार में कई उपकरण उपलब्ध हैं लेकिन अगर आप घर पर ही रहकर प्रेग्नेंसी टेस्ट करना चाहती हैं तो भी आप कई चीजों का इस्तेमाल कर सकती हैं. जब आप निश्चित कर लें कि आप प्रेग्नेंट हो गई हैं तो फिर आपको एक-दो दिन के अंदर ही डॉक्टर के पास जाकर अपनी जांच करवा लेनी चाहिए जिसमें देर करना सही नहीं होता है. इसमें आपको याद रखने वाली बात ये होती है कि सिर्फ किसी एक्सपर्ट डॉक्टर के पास ही जाएं वरना समस्या हो सकती है.



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये