गिलोय के लाभ और गुण | Giloy Benefits In Hindi for Health

12 अप्रैल 2019   |  डॉ मुकुल पांडेय   (80 बार पढ़ा जा चुका है)

गिलोय के लाभ और गुण | Giloy Benefits In Hindi for Health

भारत देश में कई प्रकार की औषधि और जड़ी-बूटियां पाई जाती है इन्हीं में से एक है गिलोय। आज हम आपको गिलोय के बारें में बताएंगे जिससे आप जान सकेंगे कि गिलोय कितना लाभकारी औषधी है और इसे किस प्रकार से उपयोग में लाया जा सकता है। तो चलिए जानते है गिलोय और उसके लाभ व उपयोग के Giloy Ke Labh Aur Upyog बारें में वह मानव शरीर के कितना लाभप्रद है?


गिलोय क्या है? | Giloy Kya Hai


गिलोय एक प्रकार की लता होती है जो पान की पत्ते की तरह दिखाई देती है आयुर्वेद में इसे कई नामों से चिन्हित किया जाता है जैसे- चक्रांगी, अमृता, गुडुची आदि। इसमें अमृत की भांति ही गुण पाए जाते है इसलिए इसे अमृता भी कहा जाता है। इसकी लता जंगलों, पहाड़ों और खेतों में पाई जाती है। इसका वैज्ञानिक नाम टीनोस्पोरा कार्डीफोलिया है। यह एक प्रकार से बहुत ही महत्वपूर्ण और उपयोगी औषधियों में से एक मानी जाती है। गिलोय पौधा बेल के रुप में होती है और यह वृक्षों से सहारा लेकर ऊपर चढ़ती है। इसकी जड़ और तना को उपयोग में लाया जाता है। औषधीय गुणों के आधार पर नीम के वृक्ष पर चढ़ी हुई गिलोय को सर्वोत्तम माना जाता है क्योंकि गिलोय की बेल जिस वृक्ष पर भी चढ़ती है वह उस वृक्ष के सारे गुण अपने अंदर समाहित कर लेती है तो नीम के वृक्ष से उतारी गई गिलोय की बेल में नीम के गुण भी शामिल हो जाते हैं अतः नीमगिलोय सर्वोत्तम होती है। यह स्वाद में तीखी होती है और पकने पर यह लाल रक्त के समान हो जाती है। गिलोय में फूल गर्मी के मौसम में लगते है।


गिलोय का उपयोग व लाभ | Giloy Ke Labh Aur Upyog


गिलोय बहुत ही लाभकारी औषधी के रुप में जाना जाता है और बीमारियों से बचाने और चिकित्सा दोनों ही रुप में उपयोगी होता है। गिलोय के पत्तों में प्रोटीन, फास्फोरस और कैल्शियम जैसे लाभकारी पदार्थ पाए जाते है जबकि इसके तने में स्टार्च की मात्रा बहुतायत में पायी जाती है। गिलोय पाचन तंत्र को ठीक करती है और मधुमेह के नियंत्रण में भी इसका प्रयोग किया जाता है। वहीं सांस संबंधी रोगों जैसे अस्थमा और दमा, आंखो की बीमारी और गठिया के दर्द से लाभ पाने के लिए गिलोय के पत्तों का उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग जूस, पेस्ट और कैप्सूल के रुप में किया जाता है।


1.गिलोय त्वचा के लिए लाभकारी | Giloy Benefits for Skin


गिलोय में चमत्कारी व लाभकारी गुण पाए जाते है जो त्वचा के लिए काफी लाभदायक होते है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी एजेजिंग जैसे गुण पाए जाते है जो त्वचा में पड़ रहे झुर्रियों को बनने से रोकते है और त्वचा को सुंदर और जवान बनाए रखने में कारगर सिद्ध होते है आप गिलोय के रस का सेवन या लेप को त्वचा पर लगा सकते है और इससे आपके त्वचा संबंधी विकार जैसे- कील, मुहांसे, धब्बे, और एक्जिमा जैसे समस्या से निजात दिलाने में इसका सेवन काफी लाभप्रद होता है। गिलोय का उपयोग करने से आप समय से पहले बूढ़ा दिखने जैसी समस्या से बच सकते है और आपके त्वचा पर एक सुंदर और बेहतर निखार आ सकता है।


क्लिक कर जानें- कैसे रखें गर्मियों में त्वचा का ख्याल


2.गिलोय का उपयोग वजन घटाने के लिए | Giloy Benefits for Weight Loss


गिलोय एक औषधी के रुप में इतना लाभकारी है कि इसमें कई प्रकार के बीमारियों को दूर करने की क्षमता है। गिलोय का उपयोग आप मोटापा कम करने के लिए भी कर सकते है। वजन को घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण के साथ गिलोय को रोजाना दो बार शहद के साथ इसका सेवन करे। आप गिलोय के रस का भी इस्तेमाल मोटापा को कम करने के लिए कर सकते है। इसके उपयोग से आपको कुछ समय में लाभ मिलना प्रारंभ हो जाएगा।




3.गिलोय का इस्तेमाल पेट के लिए | Giloy Benefits for Stomach


गिलोय का उपयोग करने से पाचन तंत्र जैसे विकारों से छुटकारा मिलता है और पेट संबंधी रोग भी दूर हो जाते है। आप पाचन तंत्र को ठीक करने के लिए गिलोय के पाउडर का इस्तेमाल कर सकते है। आप आंवले का पाऊडर को गिलोय के साथ रोजाना 15 दिनों तक सेवन करें आप पाएंगे कि पहले कि अपेक्षा अब आपका पाचन तंत्र स्वस्थ्य और मजबूत हो गया है और पेट संबंधी रोग भी खत्म हो गए है। पेट संबंधी रोगों को दूर करने के लिए आप गिलोय के साथ शतावरी को महीन पिसकर पानी मिलाकर इसका काढ़ा तैयार कर ले और जब काढ़ा पककर आधा हो जाए तो इसका सेवन करें ऐसा आप रोजाना 10 दिनों तक करें। पेट संबंधी विकार दूर हो जाएंगे।


क्लिक कर जानें- सेहत बनाने के उपाय


4.आंखों के लिए गिलोय | Giloy Benefits for Eyes


गिलोय आंखों के लिए काफी लाभदायक होता है जो नेत्र संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करता है। अगर आपको धुंधली दृष्टि या आंखों में दर्द की समस्या रहती है तो आप गिलोय का उपयोग करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते है। गिलोय का जूस बहुत ही लाभदायक होता है आप इसके सेवन के साथ इसे आंखों पर भी लगाए ऐसा करने आपकी धुंधली दृश्यता की समस्या खत्म हो जाएगी। आप गिलोय के रस को आंवले के रस के मिलाकर इसका सेवन करने से आंख संबंधी रोगों से छुटकारा दिलाता है। अगर आप इस मिश्रण का सेवन करते है तो आप नेत्र विकारों के साथ ही आंखो की रोशनी भी ठीक हो जाती है।


5.पीलिया रोग में फायदेंमंद है गिलोय का सेवन | Giloy Benefits for Jaundice

पीलिया होने पर आप गिलोय के पत्तों का पाऊडर को शहद के साथ सेवन करें इससे पीलिया रोग से निजात पाने में यह नुस्खा काफी कारगर साबित होगा। अगर पीलिया रोग से जल्दी से छुटकारा पाना चाहते है तो आप गिलोय के पत्तों को पीस लें और उसके रस को छान लें और एक गिलास छाछ को लेकर उसमें एक चम्मच गिलोय का रस मिलाकर प्रतिदिन प्रातकाल के समय इसका सेवन करें। इससे पीलिया रोग जल्द ही खत्म जाएगा।


क्लिक कर जानें- पीलिया के लक्षण और कारण


6.किडनी की समस्या से निजात दिलाता है गिलोय | Giloy Benefits for Kidney


अगर आपको किडनी संबंधी किसी भी प्रकार का रोग है तो आप गिलोय के सेवन से इस समस्या से छुटकारा पा सकते है। आजकल लोगों को गुर्दे की पथरी की समस्या काफी आम हो गई ऐसे गिलोय का सेवन करना रामबाण औषधि माना गया है। आप गिलोय के जूस का सेवन करें आपको पथरी की समस्या से निजात के साथ ही भविष्य में कभी भी इस तरह की समस्या नहीं आएगी.


7.बुखार से राहत के लिए गिलोय | Giloy Benefits for Fever


गिलोय का उपयोग बुखार से राहत पाने के लिए भी किया जाता है इसमें कई तरह के गुण पाए जाते है और शायद इसीलिए अमृता भी कहा जाता है। गिलोय में एंटी पैरेथिक गुण पाए जाते है। गिलोय का रस को शहद के साथ सेवन करें इससे मलेरिया बुखार से भी राहत मिलता है। यह एक प्रकार का रसायन की भांति कार्य करता है जिसे पीपल के चूर्ण और शहद के साथ गिलोय के रस के सेवन से तेज बुखार व खांसी में आराम मिलता है।




8.खून की कमी को दूर करें गिलोय | Giloy Benefits for Anaemia


आप शरीर में रक्त की कमी को पूरा करने के लिए गिलोय का सेवन कर सकते है। गिलोय का रस में शहद या घी के साथ रोजाना सेवन करें इसके सेवन से आपके शरीर में खून कमी जल्दी ही पूरी हो जाती है।


9.उल्टी से छुटकारा दिलाता है गिलोय | Giloy Benefits for Vomiting


कई बार यात्रा या अन्य कारणों से मनुष्य को उल्टी की समस्या होने लगती है ऐसी स्थिति होने पर आप गिलोय के रस में थोड़ी चीनी या शहद मिलाएं और इसका सेवन रोजाना 3-4 बार करें इससे उल्टी की संख्या में कमी आएगी और उल्टी बंद भी हो जाती है।


10.गिलोय से पाएं खुजली में राहत | Giloy Benefits for Itching


अगर आपके त्वचा में किसी भी प्रकार की खुजली या एलर्जी की समस्या है तो इस समस्या से छुटकारा दिलाने का काम भी गिलोय करता है आप गिलोय के पत्तों को हल्दी के साथ मिलाकर पीस लें और इस मिश्रण को त्वचा में हो रही खुजली या एलर्जी के स्थान पर लगाएं इससे आपको काफी लाभ मिलेगा और कुछ दिन में खुजली की समस्या समाप्त हो जाएगी।



गिलोय उपयोग से होने वाले नकारात्मक प्रभाव | Side Effects Of Giloy


जब कोई औषधी हमारे लिए काफी लाभप्रद हो सकती है तो कुछ दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते है। आप इसके इस्तेमाल से पहले इसके बारें पूरी जानकारी लेना ही लाभदायक सिद्ध होता है अगर अधिक मात्रा में गिलोय का सेवन किया जाता है इससे शरीर में कई प्रकार के साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते है इसलिए आप इस औषधि का इस्तेमाल चिकित्सक से परामर्श के अनुसार ही करें-


1.गिलोय का अधिक सेवन शरीर में रक्त शर्करा की कमी ला सकता है।

2.इसके रस के अधिक सेवन से शरीर में कब्ज की समस्या हो सकती है।

3-गिलोय का अधिक मात्रा में सेवन से पेट में दर्द की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

4.गर्भवती महिलाओं को गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए अगर आवश्यक हो तो आप चिकित्सक के सलाह से ही इसका सेवन करें।





शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये