दिमाग तेज करने के चमत्कारी तरीके - Dimag Tej Karne ke Upaye

17 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (115 बार पढ़ा जा चुका है)

Dimag Tej Karne ke Upaye- इंसान के शरीर में दो हिस्से काम ना करे तो वो कुछ भी नहीं, उन दो हिस्सों का नाम है रक्त और मस्तिष्क, जिनके इंसान शायद जिंदा भी नहीं रह सकता. जह से हम पैदा हुए है हमारा दिमाग तब से काम कर रहा है और आपका शरीर तो सोते समय आराम कर लेता है लेकिन दिमाग कभी आराम नहीं करता. सोते समय जो हमें सपने आते हैं अक्सर दिमाग से उत्पन्न होते हैं जो दिनभर या कुछ दिनों से मन सोच रहा होता है उन्ही को दिमाग सपने बनाकर दिखाने लगता है. मस्तिष्क ही हमारी बॉडी को कंट्रोल करता है और वही बताता है कि हमें कब बोलना चाहिए, कब हंसना-रोना चाहिए, कब भूख लगी है और कब क्या करना है.


मस्तिष्क


कभी-कभी तो ऐसा लगता है कि दिमाग कितने कम की चीज गोती है और इतना छोटा-सा होकर भी हमारे पूरे शरीर को कंट्रोल में रखता है ये क्या कम बात है. जब हमें दिमाग की जरूरत होती है ये हमेशा हाजिर रहता है और बिना थके हमारे काम करता है. मस्तिष्क हर किसी का एक समान ही होता है, मगर इसका इस्तेमाल हर इंसान अलग-अलग करता है जिसकी वजह से लोग कम पढ़े-लिखे और ज्यादा पढे-लिखे बनते हैं. दिमाग की शक्तियों का अंदाजा कोई नहीं लगा सकता, लेकिन जो लगा लेते हैं वे कुछ ना कुछ बड़ा ही करते हैं. हमें जब भी दिमाग की जरूरत होती है हमारा दिमाग बिना थके हमारे लिए काम करता है. मगर दिमाग को बढ़ाने के लिए हमें कुछ ना कुछ जरूर करना और खाना चाहिए जिससे ये बढ़े.


इस तरह करें मस्तिष्क में वृद्धि -Increase your Brain


मस्तिष्क हमारे शरीर की सबसे जटिल संरचना मानी जाती है और लोगों को लगता है कि मस्तिष्क को हम प्रभावित कभी नहीं कर सकते हैं. एक रिसर्च के मुताबिक मस्तिष्क की पैतृक बनावट के बारे में दिखाया गया है कि जिसमें हमारा मस्तिष्क न्यूरॉन्स बना सकते हैं.ध्यान हर प्रकार से आपकी दिमागी शक्ति को बढ़ा सकता है यह तनाव को कम करता है औ सोचने की शक्ति को भी बढ़ाता है. इसके अलावा भी दिमाग को इन तरीकों से बढ़ाया जा सकता है.

बायां हाथ- बाएं हाथ का प्रयोग आपके मस्तिष्क की तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाता है और न्यूरॉन्स भी बढ़ाता है जिस तरह व्याायाम करने से शरीर में मजबूती और स्फूर्ती आती है ठीक उसी तरह से हमारा मस्तिष्क भी बाएं हाथ के प्रयोग से ज्यादा ऊर्जावान बनता है. कुछ रिसर्च में ये बात सामने आई है कि जिस हाथ से ज्यादा काम करते हैं तो दिमाग का एक ही गोलार्ध काम करता है लेकिन जब आप दोनों हाथों से काम करते हैं तो दो गोलार्ध की कार्यशील आपके हाथ होती है.

व्यायाम - व्यायाम सेहत के लिए हर तरह से अच्छा होता है और 20 मिनट तक बिना रुके ताकत बढ़ाने के लिए व्यायाम करने से मस्तिष्क की मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं और दिमाग तेज चलता है. निष्क्रिय लोगों की तुलना में जो लोग व्यायाम करते है उनमें मस्तिष्क की गति बढ़ाने वाले प्रोटीन 32 पर्तिशत ज्यादा पाया जाता है जो निर्णय लेने, कुछ सोचने और सीखने में मदद करते हैं.

टेटरिस बढ़ाता है याद्दाश्त - कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च के मुताबिक, कुछ देर ब्लॉक जोड़ने वाला खेल खेलने से भी दिमाग अच्छा होता है.जिससे चीजों को ज्यादा समय तक याद रखने में आसानी होती है. मस्तिष्क के ज्यादातर न्यूरॉन्स इसी ग्रे द्रव्य में पाये जाते हैं. न्यूरॉन्स, मांसपेशियाों की तरह ही होते हैं जिन्हें वजन के साथ मजबूत किया जाता है.

जॉगिंग बढ़ाता है याद्दाश्त - एक रिसर्च के मुताबिक, जॉगिंग से रक्त प्रवाह बढ़ता है और इससे आपके मस्तिष्क की ऑक्सीजन और पोषक तत्व अच्छे से मिल जाते हे. इस अध्ययन में ये भी पाया गया है किजॉगिंग करने के कुछ दिन बाद ही आप फूर्ति के साथ काम करने लगते हैं. नियमित रूप से कोई भी शारीरिक गतिविझि आपकी याद्दाश्त बढ़ाने में मदद करते हैं.

पानी पीने से - जब भी हमारा शरीर थकावट महसूस करता है तो हम पानी पीते हैं और उसके बाद हम आगे के काम को निपटा पाते हैं. ऐसा इस लिए कि लगातार काम करते-करते दिमाग कुछ समय के लिए सुस्त पड़ जाता है लेकिन जैसे ही हम पानी पीते हैं तो वो फिर अपना काम करने लगता है.शरीर में पानी की मात्रा कितनी है ये आपके ट्वायलेट जाने के समय से पता चलता है.

तनाव से रहें दूर - कभी-कभी छोटी बातें हम भूल जाते हैं और ऐसा अक्सर तब होता है जब हम तनाव में होते हैं. हमारे आस-पास दिनभर में लाखो चीजें हो जाती हैं लेकिन जिन्हें याद रखना मुश्किल हो जाता है ऐसा इसलिए क्योंकि इंसान को उस समय दूसरी कोई बात परेशान कर रही होती है. इसलिए जब दिमाग तनाव में हो तो धीमा संगीत सुनिये या फिर एक दम ध्यान लगाकर बैठ या लेट जाइए.


इन चीजों को खाने से बढ़ाएं दिमाग -These things can Increase your brain


दिमाग


लगातार किसी काम को करने के बाद हमें भूख का एहसास होने लगता है. ऐसा तब होता है जब दिमाग को हमारी बॉडी अनुदेश देने लगती है कि अब खाने का समय हो गया है. पूरी बॉडी को खाने की ऊर्जा चाहिए, जिसके बाद ही काम आगे हो पाएगा फिर जाकर हमारा दिमाग काम करता है ऐसे कई आहार हैं जो खाने के बाद हमारा दिमाग ऊर्जा से भरकर फिर से नॉर्मली काम करने लगता है.

शहद और दालचीनी - पांच से आठ ग्राम दालचीनी पाउडर शहद में मिलाकर हर रोज लेने से दिमाग की कमजोरी दूर होने लगती है और दिमाग तेज होता है.

हल्दी - हल्दी एक ऐसी औषधी है जो आसानी से उपलब्ध हो जाती है और इसके कई सारे गुण होते हैं जो आमतौर पर लोगों को पता नहीं होते हैं. एक चम्मच हल्दी को एक गिलास दूध में मिलाकर हर दिन पीने से आपके दिमाग की शुद्धि होगी और इसमें वद्धि भी होगी.

जायफल - हर भारतीय रसोई में जायफल आसानी से मिल जाता है. इसके ऐसे कई फायदे होते हैं जो दिमाग को तेज करने में फायदा देता है. जायफल की तासीर गर्म होती है इसलिए इसे आधा चम्मच गर्म पानी के साथ लेनी चाहिए लेकिन अगर ठंड का मौसम है तो आपको जायफल के पाउडर को गर्म दूध के साथ लेना चाहिए इससे दिमाग तेज होता है.

बादाम - चार से पांच बादाम रात में भिगोकर रख दें और सुबह उसे दूध के साथ खाएं इससे आपकी याद्दाश्त बढ़ जाएगी और आपका दिमाग भी खूब तेज होता है. इस उपाय को ज्यादतर लोग करते हैं और हां आप बादाम का इस्तेमाल दूध में घिसकर भी कर सकते हैं.

केसर - केसर का भाव बाजा में बहुत ऊंचा है लेकिन जितना इसका दाम ऊंचा है ये फायदा भी उतनी ही तेजी से करता है. केसर को सही मात्रा में दूध के साथ हर रोज लें इसका फायदा आपके दिमाग बढ़ने से होगा.

अलसी के बीज - अलसी के बीज की तासीर गर्म होती है लेकिन अगर आपका मस्तिष्क में अक्सर दर्द बना रहता है और कमजोरी का एहसास होता है तो आपक नियमित रूप से अलसी के बीजों का पाउडर का सेवन करना चाहिए.




शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये