इसबगोल के फायदे और साइड इफेक्ट्स - Isabgol Health Benefits in Hindi

23 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (133 बार पढ़ा जा चुका है)

Isabgol Health Benefits in Hindi- दुनिया में बहुत से औषधीय पौधे पाए जाते हैं जिनके बारे में किसी को कुछ नहीं पता होता लेकिन अगर पता होता है तो ये नहीं पता होता कि उसका उपयोग कैसे किया जाता है. ऐसे मे आप गूगल करने लगते हैं और हर चीज के बारे में जानने के बाद ही कुछ करते हैं लेकिन हर कोई गूगल कर ले ऐसा जरूरी तो नहीं लेकिन बीमारी किसी को भी हो सकती है ये बहुत ये पूरी तरह से सच होता है इसे सभी जानते हैं. फिर भी आपको इसबगोल के बारे में कुछ जानकारी होनी चाहिए कि ये किन-किन बीमारियों में फायदा करता है और क्या इसके नुकसान भी होते हैं. इसलिए आज के इस आर्टिकल मैं आपको यही बताऊंगी.




क्या है इसबगोल - What is Isabgol ?


इसबगोल को अंग्रेजी में Psyllium Husk कहा जाता है और ये Planovate पौधे का बीज होता है. इसके पत्ते बिल्कुल एलोवेरा की तरह दिखते हैं और पौधे के बहुत बड़े-बड़े फूल होते हैं जिसमे इसके बीज पाए जाते हैं. आयुर्वेद में इसबगोल का बहुत महत्व माना जाता है.इसबगोल को भारत में सबसे ज्यादा पहचाने वाला आयुर्वेदिक पौधा होता है जो बहुत ही फायदेमंद होता लेकिन हर फायदेमंद चीज के कुछ नुकसान भी होते हैं तो इसबगोल के फायदों के साथ ही कुछ नुकसान भी पाए जाते हैं जिसके बारे में आपको आगे बताउंगी.


इसबगोल का इस्तेमाल और डोस - Use Of Isabgol


इसबगोल एक नेचुरल और हर्बल औषधि होती है जिसका प्रयोग पानी में भिगोकर किया जाता है. पानी में भिगोने के बाद ये फूलकर जैल बन जाता है लेकिन इसमें ना कोई स्वाद होता है और ना कोई सुगंध पाया जाता है. इसके प्रॉपर्टी रेचक होती है इसकी वजह से यह हमारे आंतों से पास से गुजरता है और इसके साथ-साथ यह हमारे बाउल मूवमेंट को भी इंप्रूव करता है. इसबगोल हमारी बॉडी में ना तो कोई न्यूट्रीशन को ऑबजर्ब करता है और ना ही डाइजेस्टिव एंजाइम को नुकसान पहुंचाता है. इसके रेचक प्रॉपर्टी की वजह से यह प्राकृतिक तौर पर हमारे बाउल मूवमेंट को इंप्रूव करता है. इसके अलावा यह हमारे आंतों में बने बैक्टीरिया और टॉक्सिन को भी भी ऑबजर्ब करता है . इसबगोल के अलग-अलग डोज होते हैं जिसमें बड़ों को इसका सेवन 7 से 10 ग्राम तक करना चाहिए जो 2 से 3 चम्मच के बराबर होता है. इसको दिन में 1 से 3 बार तक किया जा सकता है. इसको आप पानी दूध और जूस के साथ ले सकते हैं और इसके अलावा आप इसको रात भर पानी में भिगोकर सुबह भी ले सकते हैं.


इसबगोल खाने के फायदे - Isabgol of Benefits


जब इसबगोल का नाम कोई सुनता है तो लोग सोचते हैं कि इसे सिर्फ कब्ज को दूर करने के रूप में किया जाता है लेकिन इसके और भी कई फायदे होते हैं. बाजार में औषधि के रूप में मिलने वाले इसबगोल का उपयोग आपने शायद कभी नहीं किया हो लेकिन इसके गुणों के बारे में आपको जानना चाहिए क्योंकि ये आपके हित में हो सकता है.

कब्ज - इसबगोल प्राकृतिक रेचक प्रॉपर्टी वाली एक हर्बल औषधि है जिसमें फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है. जब हम ज्यादा मात्रा में फाइबर लेते हैं तो यह हमारे बाउल मूवमेंट को इंप्रूव करता है और हमें कब्ज से मुक्ति दिलाता है.

डायरिया - इसबगोल का इस्तेमाल डायरिया ठीक करने के लिए भी किया जाता है और जब आपको डायरिया होता है तो इसको दही के साथ मिक्स करके खाना चाहिए. दही एक प्रोबायोटिक प्रॉपर्टी है जिससे यह हमारे बॉडी को इन्फेक्शन से दूर रखता है. डायरिया को दूर करने के लिए आप 4 चम्मच इसबगोल को लेकर 8 चम्मच दही में मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं इसे आपको दिन में दो बार लेना होता है.

एसिडिटी - अगर आपको एसिडिटी की समस्या है तो इसबगोल आपके लिए सबसे बढ़िया औषधि साबित होगी और यह हमारे पेट में बनने वाले एसिड को कम करने से मिलती है और इसके इफेक्ट को खत्म कर देती है. एसिडिटी दूर करने के लिए आपको इसबगोल को ठंडे पानी में मिक्स करके खाने 10 मिनट बाद लेना चाहिए. इससे एसिडिटी की समस्या दूर हो जाती है.




टॉक्सिन - इसबगोल में सोखने की कमाल की क्षमता होती है और जब यह हमारे आंतो से होकर गुजरता है तो वहां पर मौजूद नुकसानदायक टॉक्सिन को सोखकर इससे हमारा कोलोन साफ होता है. इससे हमें कई तरह की स्वास्थ संबंधी समस्याएं दूर होती है. कोलोन को साफ करने के लिए आपको हल्के गर्म पानी या हल्के गर्म दूध में रात को सोने से पहले इसका सेवन करना सही होता है.

वजन कम करना - अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो भी इसबगोल आपके लिए फायदेमंद होगा. यह आपको फूड क्रेविंग से भी बचाता है . फूड क्रेविंग एक ऐसी समस्या है जिसमें बार-बार खाने की आदत हो जाती है. जब आप कोई ज्यादा मीठी चीज खाते हैं तो आपको हर थोड़े समय के बाद ज्यादा भूख लगने लगती है.

बवासीर - बहुत से लोग जानते हैं कि बवासीर जैसी गंभीर बीमारी में भी इसबगोल फायदा करता है. जैसा कि हमने आपको बताया है कि इसमें रेचक प्रॉपर्टी होती है जो हमारे बाउल मूवमेंट्स को नेचुरल इंप्रूव करता है. इसके अंदर बहुत ज्यादा मात्रा में सॉलुबल और इनसॉलुबल फाइबर होता है जो बवासीर को दूर करने में मदद करता है. इसे रात में सोने से पहले हर रोज पानी के साथ लेना चाहिए

डायबिटीज - इसबगोल एक पतला और मुलायम हर्बल औषधि है जो कि आसानी से टूट जाता है और यह हमारी बॉडी से ग्लूकोज को रोकता है. इससे बॉ़डी में ग्लूकोज की मात्रा कम होती है और इस तरह से इसबगोल आपके डायबिटीज को कंट्रोल करता है. डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए आपको खाने के बाद पानी के साथ एक चम्मच ये लेना चाहिए.


इसबगोल के साइड इफेक्ट्स - Side Effect of Isabgol


इसबगोल से कोई भी गंभीर एलर्जी रिएक्शन नहीं होता है और साइड इफैक्ट के मामले मे इसे बहुत सुरक्षित माना जाता है. मगर हर फायदा करने वाली चीज जरूरत से ज्यादा लेने से नुकसान तो करती ही है वही हाल इसबगोल का भी है. अगर आप इसका सेवन जरूरत से ज्यादा करेंगे तो इसका नुकसान हो सकता है. भूलकर भी इसबगोल को यूंही नहीं खाएं बल्कि हमेशा पानी, दूध या फिर दही में मिलाकर ही खाएं. वैसे तो इसके एलर्जिक रिएक्शन नहीं होते हैं लेकिन अगर ऐसा होता है तो तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए. अगर आपको कभी एपेंडिक्स या पेट में ब्लॉकेज की समस्या है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से जरूर मिल लें.


इसे भी जाने - Shatavari & Shatavari Benefits for Men (शतावरी एवं शतावरी के फायदे)



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये