11+ एलोवेरा के चमत्कारिक फायदे - AloeVera Benefits in Hindi

24 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (658 बार पढ़ा जा चुका है)

AloeVera Benefits in Hindi- हमारे आस-पास कुछ ऐसी चीजें पाई जाती हैं जिनके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं होती लेकिन उनके फायदे इतने होते हैं कि अगर पता चल जाए तो बस हमारी कई परेशानियां कम हो सकती हैं. मैं बात एक ऐसे आयुर्वेदिक पौधे की कर रही हूं जो दिखने में तो छोटा सा है लेकिन उसमें ना जाने कितने फायदे हैं. एलोवेरा एक हर्बल पौधा है और इसका इस्तेमाल लगभग हर आर्युवेदिक औषधि बनाने में किया जाता है और इसमें निकलने वाला जैल भी कई तरह से फायदेमंद साबित होता है. मैं आपको एलोवेरा के उन सभी लाभों के बारे में बताऊंगी जिनमें से कोई तो आपके काम जरूर आएगा.




क्या है एलोवेरा - What is AloeVera ?


एलोवेरा को हिंदी में घृत कुमारी कहते हैं और ये पौधा छोटा, तना हुआ और गूदेदार होता है जिसकी लंबाई 60 से 100 सेंटीमीटर होती है. इसका फैलाव नीचे से निकलती हुई शाखाओं तक हो जाता है. इसकी पत्तियां भाला की तरह दिखती हैं जो मोटी और मांसल से भरी होती है, इसका रंग हरा और स्लेटी कलर का होता है. इस पौधे को ज्यादातर घरों में लगाया जाता है और इसका उपयोग एक औषधि के रूप में किया जाता है. इसमें एक नहीं बल्कि अनगिनत गुण होते हैं और ऐसा माना जाता है कि इसे सबसे पबले उत्तरी अफ्रीका में पाया गया था जो फैलते-फैलते आज भारत में लगभग हर जगह पाया जाता है.


एलोवेरा के फायदे - AloeVera Benefits


एलोवेरा में एमीनो एसिड और 12 विटामिन पाए जाते हैं जो शरीर में खून की कमी को पूरा करता है और शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. यह जितना आपके स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद है उतना ही आपके बालों और त्वचा के लिए प्रभावशाली होता है. अब चलिए बताती हूं इसके फायदे..

वजन कम करने के लिए - मोटापे की समस्या आज के समय में हर तीसरे व्यक्ति को है और वे इससे बहुत परेशान भी रहते हैं. बाहर का खाना और सही ढंग से शारीरिक क्रिया ना करने से कई लोग वजन बढ़ने की समस्या को भी झेलते हैं. ऐसे में अगर एलोवेरा का जूस हर दिन पिया जाए तो इस परेशानी से छुटकारा मिल सकता है. एक रिसर्च के मुताबिक, एलोवेरा का सेवन आहार प्रेरित मोटापे को भी कम देता है.

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना - बदलते मौसम के कारण लोग बहुत जल्दी बीमार हो जाते हैं, ऐसे में एलोवेरा का सेवन आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने में मदद करेगा. यह कोशिकाओं को नाइट्रिक ऑक्साइड और साइटोकिन्स का उत्पाजन करने को प्रेरित करता है, जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को अच्छा करता है.

पाचन क्रिया के लिए एलोवेरा- आजकल ज्यादा मिर्च-मसाले वाला बाहरी खाना पाचन तंत्र को खराब करता है.ऐसे में अगर आप एलोवेरा का जूस पीते हैं तो तो आपका पाचन तंत्र भी सही रहेगा इस जूस में लैक्सटिव होता है जो पाचन क्रिया में मदद करता है और यह आपके पाचन तंत्र को साफ करता है और कब्ज आईबीएस को ठीक करता है.हालांकि एलोवेरा को आप दूसरे तरीकों से खाएंगे तो भी फायदेमंद होगा, लेकिन इसका जूस पेट में आसानी से अवशोषित हो जाता है.

मानसिक स्वास्थ्य के लिए - आजकल हर दूसरा व्यक्ति तनाव से ग्रसित है और ऐसे में जरूरी है कि योग और व्यायाम के साथ-साथ खानपान पर भी ध्यान दिया जाता है. एक रिसर्च के मुताबिक, जिन व्यक्तियों के आहार में एलोवेरा शामिल था और उन लोगों को स्मरण व्यक्ति बेहतर होती है और तनाव भी कम होता है. यह असर एलोवेरा मे मौजूद सैकराइडस की वजह से हुआ है.

सूजन या जलन में - सूजन और जलन का एक सामान्य कारण ऑक्सीडेटिव क्षति होता है. यह शरीर में मुक्त कणों की वजह से होता है जो कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं और यह सामान्य है कि एलोवेरा में एंटी-ऑक्सीडेंट होता है.

कोलेस्ट्रॉल के लिए - आजकल ज्यादातर लोग मोटापे की वजह से परेशान होते हैं और ये मोटापा कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से ही बढ़ता है. एलोवेरा के सेवन से कोलेस्ट्रॉल की परेशानी काफी हद तक कम हो जाती है और कुछ अध्ययनों से ये भी पता चला है कि एलोवेरा महत्वपूर्ण अंगों में कोलेस्ट्रॉल को कम करता है इसलिए एलोवेरा का सेवन अक्सर करते रहना चाहिए.

जलने या कटने पर - एलोवेरा अपने एंटी बैक्टीरिया और एंटी फंगल गुण के कारण घोव को जल्दी भर देता है. चोट लगने या जलने पर इसका जैल निकालकर लगाने से आराम मिलता है. जलने के तुरंत बाद ही इसके जैल को उस जगह लगा लेने पर छाले नहीं पड़ते हैं और जलन भी समाप्त हो जाती है.

झुर्रियों से बचाता है- बढ़ती उम्र के साथ झुर्रियों का आना आम बात होती है लेकिन अगर आप हर दिन एलोवेरा जैल से अपने चेहरे की मालिख करते हैं तो झुर्रियां कभी नहीं आएगी. यह त्वचा को मॉश्चराइज रखता है और इसका रस स्किन को टाइट बनाता है जिसमें मौजूद विटामिन्स सी और ई के कारण त्वचा हाइड्रेट भी बनी रहती है.

दिल की बीमारी - एलोवेरा शरीर के रक्त की मात्रा को बढ़ाता है और इसके साथ ही रक्त प्रवाह को भी सुचारू रूप से बनाए रखने में मददगार होता है. एलोवेरा हाई ब्लड प्रेशर को सामान्य करता है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम होता है.

बालों की समस्या- बालों के लिए एलोवेरा बहुत फायदेमंद होता है और बालों से संबंधित जितनी भी समस्याएं होती हैं वो एलोवेरा अपने प्रभाव से दूर भगा देता है. इस समस्याओं में बालों का गिरना, रूखे बाल का होना, बालों में डैंड्रफ जैसी परेशानियां शामिल हैं. हफ्ते में दो बार शैंपू करने से पहले चमेली,जोजोवा या नारियल के तेल में एलोवेरा का रस मिलाकर अच्छी तरग से बालों में लगाएं.

स्वस्थ दांत- मुंह और मसूड़ों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है और इसके इस्तेमाल से मसूड़ों की तकलीफ दूर होती है और अगर आपके मसूड़ों से ब्लड आता है तो वो भी ठीक कर देता है. इसके साथ ही मुंह में अल्सर की बीमारी को भी एलोवेरा ठीक करता है.

चमकती त्वचा - एलोवेरा शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालकर शरीर को अंदर से साफ करता है. इससे त्वचा में चमक आती है और दाग-धब्बों को भी दूर करता है. इसके अलावा एलोवेरा के जैल को त्वचा पर लगाने से एक्जिमा, पिंपल और सिरोसिस की समस्या दूर हो जाती है.

स्ट्रेच मार्क हटाए - मोटापे और प्रेग्नेंसी की वजह से पेट में स्ट्रेच मार्क पड़ जाते हैं और इसे हटाने के लिए एलोवेरा उपयोगी होता है. स्ट्रेच मार्क को हल्का करने के लिए रोज सुबह एलोवेरा जैल से मालिश करिए और यह आपके स्ट्रेच मार्क को काफी हद तक हटाता है.




एलोवेरा के साइड इफैक्ट्स - Side Effects of Aloevera


1. एलोवेरा के पत्ते का एक हिस्सा एलो लेटेक्स होता है और ये कुछ लोगों को सूट नहीं करता है. इससे गैस्ट्रोइनटेस्टाइनल प्रोबलम्स, पेट दर्द, अल्सर, इंटेस्टाइन में रुकावट जैसी परेशनियां आ सकती हैं.

2. एलोवेरा पीने से आपके ब्लड शुगर का लेवल डाउन हो जाता है और अगर आप डायबेटिक है तो इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है. इसलिए अगर आपको शुगर है तो एलोवेरा के सेवन से पहले अपने डॉक्टर से पूछ लें.

3. प्रेग्नेंट महिलाओं या फीडिंग देने वाली महिलाओं को एलोवेरा से दूर रहना चाहिए. इससे प्रेग्नेंट महिलाओं में यूटेराइन कॉन्ट्रैशन हो जाता है और इससे बच्चों में बर्थ डिफेक्ट्स या मिसकैरेज जैसी समस्याएं आ सकती हैं.

4. एलोवेरा दूस पीने से एलर्जिक रिएक्शंस हो सकता है जैसे स्किन रैशेज, स्किन पर खुजली, सांस लेने में परशानी, छाती में जलन और चेहरे का सूज जाना. तो अगर आपको किसी चीज की एलर्जी है तो इससे दूर रहें.

5. एलोवेरा जूस की ओवरडोज से यह पेल्विस में इकट्ठा होने लगता है जिससे किडनी खराब हो सकती है.


यह भी पढ़ें -Chukandar Benefits in Hindi (चुकंदर खाने के 13 असरदार फायदे)



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये