डॉक्टर भी मानते हैं बालों की समस्याओं के ऐसे समाधान- Balo Ki Samasya Ka Samadhan in Hindi

26 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (42 बार पढ़ा जा चुका है)

व्यक्ति के शरीर में बाल ही खूबसूरती को बढ़ाते हैं और जब ये बाल झड़ने लगते हैं तो महिलाएं हों या पुरुष सभी परेशान हो जाते हैं. सर्दी हो या गर्मी हर मौसम में बालों का ख्याल रखना हर किसी को पसंद होता है क्योंकि यही एक ऐसा अंग होता है जिसके होने से लोग आपकी तरफ ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं. बहुत से लोग बालों में कंघी लगाने से भी डरते हैं क्योंकि जैसे ही कंघी बालों में लगती है तो एक साथ करीब 50 से 100 बाल टूटकर गिर जाते हैं और ये बहुत ही चिंता की बात समझी जाती है.



बालों की केयर करने के लिए सबसे ज्यादा लड़कियों में जागरुकता होती है.वे बालों में मेहंदी, कलर, शैंपू, कंडीशनर या फिर दूसरी ऐसी चीजें लगाती हैं जिससे उनके बाल काले, घने और लंबे बनते हैं. फिर भी जब बालों से घिरी कुछ परेशानियां उनके सामने आती हैं तो उनके लिए ये चिंता का विषय बन जाता है. इसलिए मैं आपको बालों की समस्याओं के समाधान बताऊंगी.


बाल झड़ने के लक्षण- Symptom of Hair Fall Hindi


बाल झड़ने के लक्षण में माते के बाल पीछे से हटने लगते हैं और स्कैल्प प्रभावित होता है. इसे रोने के लिए आपको कुछ पौष्टिक आहारों का सेवन करना चाहिए. मगर उससे पहले जान लीजिए कि बाल झड़ने के लक्षण क्या होते हैं-

1. शरीर में खून की कमी

2. बालों की जड़ों में रोग

3. यौन रोग

4. धूम में हमेशा सिर का खुला रहना

5. बालों का पोषण रुक जाना


बाल झड़ने के प्रकार - Types of Hair Loss


ज्यादातर लोगों को लगता होगा कि बाल झ़ड़ने का मतलब बालों का टूटकर गिरना होता है लेकिन बाल कई तरह से झड़ते हैं. इनके प्रकार अलग-अलग होते हैं-

इनवानुस्नल एलोपीशिया - यह एक प्राकृतिक स्थिति होती है जिसमें बाल धीरे-धीरे उम्र के साथ पतले होते चले जते हैं. समय के साथ बालों के रोम की एक बड़ी संख्या मृत अवस्था में स्थानांतरित हो जाती है और बाकी बचे बालों की संख्या कम हो जाती है.

एंड्रोजेनिक एलोपेसिया - यह बालों के झड़ने की एक आनुवंशिक स्थिति होती है जो किसी भी पुरुष या महिला को प्रभावित कर सकती है. पुरुष के लिए इस स्थिति को पुरुष पैटर्न गंंजापन के नाम से जाना जाता है. इस स्थिति में व्यक्ति किशोरावस्था या 20 साल आते-आते बाल झड़ने की समस्या से जूझने लगता है और समय आते-आते बाल गायब हो जाते हैं.

एलोपेशिया एरेटा- बालों से संबंधित यह समस्या अचानक शुरु हो जाती है और बच्चों व युवाओं में बालों के झड़ने का कारण बन जाती है. इस बीमारी में व्यक्ति के सिर में जगह-जगह बाल उड़ जाते हैं और यह स्थिति पूरी तरह से गंजा बना देती है.

एलोपेशिया सार्वभौमिक - यह स्थिति भौहों, पलकें और जांघ के बाल सहित पूरे शरीर के बाल गिरने का कारण बनती है.

ट्रीकोटिलोमनिया- ट्रीकोटिलोमनिया समस्या अक्सर बच्चों में बालों के झड़ने का कारण बन जाती है. यह एक मनोवैज्ञानिक विकार होता है जिसमें व्यक्ति खुद बाल खींचता है.

टेलोजन एफ्लुवियम- यह समस्या बालों के बढ़ने में परिवर्तन की वजह से पूरे सिर पर अस्थाई पतले बालों का कारण बनती है. ऐसी स्थिति में बालों की एक बड़ी संख्या एक ही समय में अविकसित अवस्था में आती है जिसके कारण बाल पतले होते चले जाते हैं.


बाल गिरने के कारण- Causes of Hair Fall


बाल गिरने के कई कारण हो सकते हैं जिसमें समस्याएं अलग-अलग होती हैं लेकिन मैं आपको सॉलिड 7 कारण बताऊंगी जिसकी वजह से ज्यादातर लोगों के बाल गिरते हैं.

1. हार्मोन जैसे एंड्रोजन के असामान्य स्तर भी बालों के झड़ने का कारण बन जाते हैं. यह मुख्य रूप से पुरुष हार्मोन हैं जो कि पुरुषों और महिलाओं दोनों में उत्पन्न हो जाते हैं.

2. नर और मादा दोनों के जीन समान रूप से अपनी संतानों में बालों के गिरने की समस्या को ट्रिगर करते हैंं. यह गंजापन का भी कारण बन जाते हैं.

3. तनाव, बीमारी और प्रसव के कारण भी अस्थाई रूप से बालों का झड़ना शुरु हो जाता है. एक फंगल संक्रमण भी बालों के झड़ने का कारण बन जाता है.

4. कैंसर उपचार, रक्त पतला करने, बीटा एंड्रीनर्जिक ब्लॉकर्स और रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए प्रयुक्त कीमोथेरेपी दवाओं और जन्म नियंत्रण गोलियों सहित दवाओं का उपयोग भी बालों के झ़ड़ने का कारण बनता है.

5. गर्भावस्था, प्रसव और रजोनिवृत्ति के कारण हार्मोनल बदलाव होते हैं और इसके कारण बाल गिरने लगते हैं, ये समस्याएं ज्यादातर महिलाओं में आम होती है.

6. कॉस्मेटिक प्रक्रियाएं जैसे कई बार शैंपू करना, ब्लीच करना और बालों में डाई लगाने से भी बाल कमजोर और बेजान बन जाते हैं. इन सभी प्रक्रियाओं से बालों को नुकसान होता है और बाल टूटने लगते हैं, हालांकि इनकी वजह से गंजापन नहीं होता है.

7. कम प्रोटीन आहार या गंभीर रूप से कैलोरी प्रतिबंधित आहार भी बालों के कमजोर और झड़ने का कारण बनता है.



Image Courtney : Youtube

अब जानिए बालों के गिरने के समाधान - Solution of Hair Fall


वैसे तो बाजार में बाल झड़े के कई उपाय, तेल दवाईयां उपलब्ध हैं लेकिन इन सबका उपयोग आपको शायद सूट नहीं करे. इसलिए मैं आपको बाल झड़ने के घरेलू उपायों के बारे में बताऊंगी जो हर किसी के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

नारियल का दूध - एक कप नारियल के दूध को हेयर डाय ब्रश की मदद से नारियल के दूध को अपने सिर पर लगाएं इसके बाद सिर को तौलिए से ढक दें. ऐसा करीब 20 मिनट तक छोड़ दें और अब तौलिये को हटाकर बालों को ठंडे पानी से धुल लीजिए और आखिर में शैंपू से बालों को धुल लेें. नारियल के दूध में विटामिन ई और फैट होता है

नीम - 10 या 15 सूखी नीम की पत्तियों को गर्म पानी में उबाल लीजिए. इसे तबतक उबलने दें जब तक पानी आधा नही हो जाए और फिर इस पानी को ठंडा होने दें. अब बालों को इस पानी से धुल लीजिए और जब भी आप शैंपू करें तो इस मिश्रण का इस्तेमाल जरूर करें. अगर हो सके तो हफ्ते में दो बार बालों को धुलें और ऐसा करें. नीम में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो डैंड्रण से लड़ने में मददगार होते हैं. इसके अलावा यह सिर को साफ करके बालों को उगने में मदद भी करता है.

मेथी- दो चम्मच मेथी के बीज, चार चम्मच दही और एक अंडा की सामग्री इकट्ठा कर लें. इसके बाद मेथी के बीज को रात भर के लिए भिगो दें और अगली सुबह इन बीजों का पेस्ट बना लें और अब इसमें थोड़ा पानी मिलाकर मिक्स कर लें. इसके बाद इसमें दही और अंडे का सफेद हिस्सा मिला लें और अब इस पेस्ट को अपने बालों में लगाएं और आदे घंटे के बाद पानी से धुल लें. जब आपके बाल झड़ने लगें तभी इस उपाय का इस्तेमाल करें क्योंकि मेथी के बीज बालों को बढ़ने में मदद करता है.

अंडा - एर अंडे और एक चम्मच जैतून का तेल की सामग्री ले लेंऔ और दोनों को एक कटोरे में मलि कें और अंडे में से पीले हिस्से को अलग करके हेयर डाय ब्रश की मदद से पेस्ट को अपने सिर पर लगा लें. इसके बाद सिर शॉप कर लें और करीब 20 मिनट बाद बालों को ठंडे पानी से दो लें और फिर शैंपू से बालों को धुल लें.

प्याज का रस- प्याज को पीसकर उसका रस निकाल लें और अब इसमें रूई को डुबाकर रस को बालों की जड़ों से लेकर ऊपर की तरफ लगाएं. करीब आधे घंटे के बाद बालों को ठंडे पानी से धुलें और बाद में शैंपू से बालों को धुल लें. प्याज में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाया जाता है जो सिर पर संक्रण फैलान वाले जीवाणुओं को खत्म करने में मदद करता है.

ग्रीन टी - दो टी बैग्स को गर्म पानी में डालें और पानी को ठंडा होने तक इंतजार करें और फिर टी बैग्स को बाहर निकालकर पानी से बालों को धुले. इसके साथ ही आपको अपने सिर पर मसाज भी करनी चाहिए. और जब भी आप शैंपू करें तो बाद में इसे कंडीशनर की तरह इस्तेमाल करना सही होता है.


बालों की समस्याओं से जुड़े और लेख पढिए -

Easy Ways to Accelerate Hair (बालों को तेजी से बढाने के आसान तरीके)

Baal Ugane Ke Upay Hindi me(गायब होते बाल उगाने के सरल उपाय)



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये