सोने का सही तरीका - Sone ke Tarike

22 मई 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (60 बार पढ़ा जा चुका है)

Sone ke Tarike- दिन भर की थकान में चूर जब कोई व्यक्ति बिस्तर पर जाता है तो उसे जो नींद आती है वो सबसे सुखद पल होता है. जब इंसान को नींद आई होती है तब वो किसी भी तरह सो जाता है लेकिन इसका परिणाम उठने के बाद सामने आता है जब बॉडी के किसी ना किसी पार्ट में दर्द होने लगता है. हमारे सोने की पोजिशन का हमारी सेहत पर ज्यादा असर पड़ता है और ये सच है. हर व्यक्ति के सोने का तरीका अलग होता है लेकिन आमतौर पर लोगों को सोने का सही तरीका मालूम नहीं होता है जिसके कारण वह अपने सोने के गलत तरीकों को सुधार नहीं पाते. जबकि सोना इंसान के लिए बहुत जरूरी होता है और 24 घंटों में इंसान को कम से कम 7 से 8 घंटों की नींद तो लेनी ही चाहिए.

sone ke tarike


क्यों जरूरी है सोना ? Sona kyu zaroori hai ?


अधूरी नींद का असर सीधे आपके मानसिक और शारीरिक सेहत पर पड़ता है. आपकी प्रोडक्टिविटी, इमोशनल बैलेंस, दिमाग और दिल की सेहत, प्रतिरक्षा प्रणाली, क्रिएटिविटी, जीवन शक्ति और यहां तक कि आपके वजन से लेकर आपकी हर दिन की जिंदगी को भी प्रभावित करती है. बॉडी भी एक मशीन की तरह होती है जिसमें टूट फूट होती रहती है और इसकी रिपेयर तब होती है जब हम आराम की नींद लेते हैं. दिन भर के काम में हमारी पूरी बॉडी के पार्ट्स काम करते हैं और लेटना या सोना इसलिए जरूरी हो जाता है क्योंकि जो सेल्स हमारी बॉडी को दिनभर एनर्जी से भरकर रखता है उन्हें भी आराम की जरूरत होती है. सोने पर हमारी बॉडी में दिमाग और हृदय काम करते हैं बाकी सभी पार्ट्स आराम करते हैं, इसलिए व्यक्ति को 7-8 घंटों तक आराम से सोना चाहिए.


उम्र के हिसाब से पूरी करें नींद- Sleep according to age


1. नवजात शिशु से 3 महीने के बच्चों को 14 से 17 घंटे तक सोना चाहिए.

2. 4 से 11 महीने के बच्चों को 12 से 15 घंटे तक सोना चाहिए.

3. 1 से 2 साल के बच्चों को 11 से 14 घंटे तक सोना चाहिए.

4. 3 से 5 साल के बच्चों को 10 से 13 घंटे तक सोना चाहिए

5. 6 से 13 साल के बच्चों को 9 से 11 घंटे तक सोना चाहिए.

6. 14 से 17 साल के किशोर अवस्था वालों को 8 से 10 घंटे तक सोना चाहिए.

7. 18 से 25 साल के युवाओं को 7 से 9 घंटे तक सोना चाहिए

8. 26 से 64 साल के लोगों को 7 से 9 घंटे तक सोना चाहिए.

9. 65 साल के बाद से वृद्ध लोगों को 7 से 8 घंटे तक सोना चाहिए.


भरपूर नींद नहीं लेने के लक्षण- Symptoms of less sleep


1. समय पर जागने के लिए अलार्म घड़ी की आवश्यकता.

2. जागने के बाद उठने में परेशानी होना.

3. दोपहर में सुस्ती.

4. मीटिंग्स, लेकचर्स या गर्म कमरे में नींद का आना.

5. भारी भोजन या ड्राइविंग के बाद नींद आना.

6. दिन में झपकी की जरूरत महसूस करना.

7. टीवी देखते समय या शाम को आराम करते समय सोने का मन होना.

8. वीकेंड पर सोने की जरूरत महसूस होना.

9. बिस्तर पर जाने के पांच मिनट के भीतर नींद का आ जाना.


क्या हैं सोने के सही तरीके ? Sone ke Tarike


ऐसा कहा जाता है कि हमारे सोने की पोजीशन का भी हमारे सेहत पर प्रभाव डालती है और ऐसा डॉक्टर्स भी मानते हैं कि अगर आप सही ढंग से नहीं सोते हैं तो बॉडी में दर्द बना रहता है. हर इंसान के सोने का तरीका एक-दूसरे से अलग होता है और उनका स्वास्थ्य भी उसी हिसाब से नजर आता है. अब मैं आपको सोने के सही तरीकों के बारे में बताऊंगी.

बायीं ओर सोना- डॉक्टर्स और सेहत विशेषज्ञों के मुताबिक बायीं ओर या बायीं करवट सोना अच्छी पोजीशन होती है. सामान्य तौर पर इंसान के लिए तो यह फायदेमंद होता है इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं के लिए भी सोने की ये सही पोजीशन मानी जाती है. इस पोजीशन में सोने से हर व्यक्ति को आराम मिलता है.

स्टारफिश पोजिशन- यह पोजीशन भी सोने की सबसे अच्छी पोजीशन होती है. स्टारफिश पोजीशन में सोने के लिए बिस्तर पर पीठ के बल लेट जाएं और दोनों पैरों को इस तरह से फैलाएं कि पैरों के बीच की दूरी कम हो और हाथों को ऊपर उठाकर सिर के पास रख लें. यह एक आरामदायक सोने की पोजीशन होती है.

पीठ के बल या सीधा सोना- सामान्य रूप से लोग इसी पोजीशन में सोते हैं क्योंकि यह सोने की सबसे आम पोजीशन मानी जाती है. यह एक ऐसी आरामदायक पोजीशन होती है जिसमें शरीर को राहत मिलती है और इसके साथ ही यह पोजीशन शरीर के विकारों को भी दूर करने में सहायक होता है.

भ्रूण पोजिशन- सोने के सही तरीके के अंतर्गत भ्रूण पोजीशन को भी सबसे अच्छा माना जाता है. इस पोजीशन में घुटने को हल्का सा मोड़कर सीने की तरफ लाया जाता है. इस पोजीशन में सोना इसलिए आसान होता है क्योंकि व्यक्ति को ऐसा करके आराम मिलता है और हड्डियों में ज्यादा तनाव नहीं होता है.


sone ke tarike


सोने के फायदे- Sone ke Fayde


1. बायीं करवट सोने से खाना आसानी से पच जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि इस तरफ लेटने पर अग्नाशयी एंजाइमों का भी स्राव होता है जिससे पाचन क्रिया आसानी से होती है. बायीं तरफ सोने से आपके भोजन में पाचक एंजाइम सही तरीके से मिलते हैं क्योंकि हमारे पेट में अमाशय बायीं तरफ होता है जिसमें भोजन के पाचन के लिए जरूरी होता है.

2. हमारे शरीर में हृदय बाईं ओर होता है और इसके कारण बाईं तरफ सोने से हृदय में रक्त प्रवाह बहुत आसानी से होता है. इससे हृदय मजबूत होता है और हृदय रोग नहीं होता है.

3. दाईं तरफ सोना उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है जो अनिद्रा के शिकार होते हैं. ऐसी स्थिति में दाएं करवट सोने से व्यक्ति के शरीर को ज्यादा राहत मिलती है और शारीरिक यांत्रिक क्रियाएं भी सही से काम करती है.

4. पेट के बल सोने से पेट की चर्बी दूर होती है ऐसी एक पुरानी धारणा है और अगर आपका पेट बाहर निकल रहा है तो ऐसा करने से वो अंदर चला जाएगा.

5. महिलाओं को हर महीने पीरियड्स होते हैं और इसमें काफी दर्द रहता है. अगर किसी को असहनीय दर्द होता है तो पेट के बल सोने से मासिक धर्म के दर्द में राहत मिलती है.

6. अगर आप ऐसा आहार खाते हैं जिससे आपकी सेक्स करने की क्षमता बढ़ती है तो उत्तेजना को कम करने के लिए उल्टा लेट जाना चाहिए. अगर इस स्थिति में आप उल्टा सोते हैं तो सेक्स करने की इच्छा पर कंट्रोल होता है.

7. आमतौर पर सोने के दौरान कई सारी समस्याएं आ जाती हैं. जैसे कंधों और हाथों का सुन्न होना, पीठ में दर्द लेकिन अगर आप सीधा सोने की आदत डाल लेते हैं तो गर्दन में अकड़न नहीं होती है.

8. एक पुरानी मान्यता है कि अगर आप उल्टा सोते हैं तो बुरे सपने नहीं आएंगे क्योंकि उल्टा सोने पर व्यक्ति के दिमाग में नकारात्मक विचार नहीं आते हैं. ऐसा होने से बुरे सपने भी आना बंद हो सकते हैं.

9. सीधा सोने से पीठ, कमर और रीढ़ की हड्डियों में झुकाव नहीं आता, जिसके कारण इनकी मांसपेशियों में दर्द नहीं होता है. ऐसा माना जाता है कि कमर शरीर का आधार होता है और अगर आप सीधे सोते हैं तो कमर में दर्द नहीं पकड़ता है.

10. एक रिसर्च में सामने आया है कि दाएं करवट सोने के समय चेहरे के नीचे तकिया लगाने से व्यक्ति की उम्र नहीं बढ़ती और वो हमेशा जवान नजर आता है.



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये