आँखों की कमजोरी का इलाज-Aankhon Ki Kamjori Ka Ilaj

23 मई 2019   |  डॉ अंजली कश्यप   (55 बार पढ़ा जा चुका है)

आँखों की कमजोरी का इलाज


आँखे हमारे शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। ये हमारे शरीर सबसे संवेदनशील अंग हैं। आँखों का कमजोर होना आजकल आम बात हो गई। हर व्यक्ति,बच्चा दिनभर फोन,टीबी,कम्पूयटर और टैबलेट में आंखे गढ़ाए रहता हैं। बालों में कलरर तरह-तरह के एक्सपेरिमेंट करना। अनियमित जिवनशैली।


तनाव भरा जीवन और सही खानपान ना होने की वजह से हमारी आँखें अत्यधिक कमजोर होता जा रह हैं। इसके अलावा भी भोजन मेंविटामिन एकी कमी, शक्तिशाली प्रकाश में निरंतर पढऩा, पाचन विकार, और भी कमजोर दृष्टि के लिए जिम्मेदार हैं। जो लोग शराब या फिर सिगरेट आदि का ज्यादा सेवन करते है उनकी भी आंख बहुत जल्दी ही कमजोर हो जाने की सम्भावना होती है।


आँखों के कमजोर होने के मुख्य कारण- reason of eye sight week


आजकल लोगो को जंक फूड खाना बहुत पसंद है जैसे की, बर्गर, पिज़्ज़ा, कोल्डड्रिंक। ये सभी जंक फूड ना तो आपके स्वासथ के लिए अच्छे होते है और ना ही आपके आँखों की रोशनी के लिए।


आँखों की कमजोरी को दूर करने के लिए अच्छी और संतुलित आहार लेना बहुत ज़रूरी है। आपके आहार में विटामिनस और मिनीरल की मात्रा अच्छी होनी चाहिए। आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए विटामिन ए, विटामिन सी, और विटामिन ई से परिपूर्ण भोजन का सेवन करे।


कम्पूयटर और मोबाँईल से निकलने वाली लाइट लम्बे समय तक आँखों पर पड़ने से हमारी आँखों को बहुत नुकशान पहुँचती है।आज कल सभी कंपनियो का काम करने का तरिका ऐसा हो गया है की बिना कम्पूयटर और मोबाँईल के कोई भी काम करना मुसकिल हो गया है। इसलिए ना चाहते हुए भी हमें कम्पूयटर और मोबाँईल की स्क्रीन के सामने लम्बे समय तक रहना पड़ता है। जो सबसे समान्य और बडा कारण हैं कमजोर आँखों के होने में।


किसी भी चीज को देखने के लिए आँखों को लाइट की ज़रुरत पड़ती है। जब हम कम लाइट वाली जगह में लिखते है या पढते है, तो हमारी आँखों को उस चीज को देखने के लिए ज़्यादा ज़ोर लगाना पड़ता है। जो की हमारी आँखों की रोशनी के लिए बिलकुल भी अच्छा नहीं है।


बीमारियो के कारण भी आँखों की रोशनी पर असर पड़ता है. क्यूंकि जब हम बीमार होते है तो हमारे शरीर में बहुत से विटामिनस और मिनीरल की कमी हो जाती है। जिसकी वजह से हमारे आँखों की रोशनी कमज़ोर हो जाती है।


जब हमारी आँखे ख़राब होती है तो हमें चश्मा लग जाता हैं।चश्मा पहना सबसे अच्छा उपाय है। पर चश्मा पहनने से आपके आँखों की रोशनी बढती नहीं है।उल्टा कमज़ोर होती जाती है। एक बार जो इंशान चश्मा पहना शुरू करता है। उसका चश्मा कभी नहीं उतरता है, उल्टा चश्मे के नंबर बढ़ते जाते है। क्यूंकि सूर्य की तरफ से मिलने वाले विटामिन आपकी आँखों तक पहुँच नहीं पाते है।


एसे बढाएँ आँखों की रौशनी-Raise eye sight


आवला हमारी आँखों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। वैसे तो आप आवले का इस्तमाल कैसे भी कर सकते हो, आप आवले का जूस पी सकते हो, मुर्ब्बा खा सकते हो और कच्चे आवले का भी सेवन कर सकते हो। सभी से आपके आँखों की रोशनी बढ़ेगी। आपको एक मुट्ठी सूखे आवले को पानी में रात भर भिगोकर रखें। अगले दिन इस पानी को छान लीजिये और फिर छाने हुए पानी से आँखों को धोयिये। आपको कुछ ही दिन में चमत्कारी परिणाम मिलेंगे।


रोज़ाना सुबह उठकर हर घास पर नंगे पाँव चलिए इससे आपको पर्याप्त मात्र में सूर्य से मिलने वाले विटामिन्स मिल जायेंगे।


100 ग्राम बादाम, 100 ग्राम सौंफ, 50 ग्राम कालीमिर्च और 100 ग्राम मिश्री को ले लीजिये।सभी चिजो को अच्छी तरह से पिस ले और पाउडर बना ले। इसका इस्तमाल रोज़ाना दो बार करे। एक बार सुबह और एक बार रात को सोने से पहले। एक ग्लास दूध के साथ एक चम्मच पाउडर लीजिए।


पैर के तलवों पर सरसों के तेल की मालिश करके सोएं।


नियमित रूप से अनुलोम-विलोम प्राणायाम करें।


बादाम की गिरी, बड़ी सौंफ व मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिला लें। रोज इस मिश्रण को एक चम्मच मात्रा में एक गिलास दूध के साथ रात को सोते समय लें।


खुब हरी सब्जियाँ खाएं। जैसै-पालक,तोरई,लौकी,टिंडे एवं इत्यादि।













शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये