11+ हल्दी वाले दूध पीने के हैं अद्भुत फायदे

29 मई 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (57 बार पढ़ा जा चुका है)

बहुत से लोगों के बचपन में उनकी मां ने हल्दी वाला जरूर पिलाया होगा. हल्दी वाला दूध सच में बहुत गुणकारी होता है, इसके लिए डॉक्टर्स भी सलाह देते हैं कि किसी भी तरह का दर्द हो उसमें एक गिलास हल्दी वाला दूध पीने से सारा दर्द चला जाता है. दूध में कैल्शियम और प्रोटीन पाया जाता है तो हल्दी में कई बीमारियों को ठीक करने की शक्ति होती है, ऐसे में हर किसी को हल्दी वाला दूध पीना चाहिए लेकिन बहुत से लोगों को इसके फायदों के बारे में सही तरह से पता नहीं होता जिसके लिए मैं आपको बताऊंगी haldi doodh ke fayde और आपको इसके बारे में जरूर जानना चाहिए.


हल्दी वाला दूध

दूध पीना फायदेमंद होता है और इसमें विटामिन ए, के और बी 12, थाइमिन और निकोटिनिक एसिड, मिनरल जैसे कैल्शियम, फास्फोरस, सोडियम और पोटेशियम पाए जाते हैं जो हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. यह शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है और हेल्थ को मजबूत करता है. अगर दूध में हल्दी को मिला दिया जाए तो यह और भी कई गुना गुणकारी हो जाता है इस वजह से ज्यादातर लोग ठंड के दिनों में हल्दी वाला दूध पीते हैं. हल्दी अपने एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुणों के लिए प्रसिद्ध है और दूध में कैल्शियम होता है जो शरीर और दिमाग दोनों को स्वस्थ रखता है.


कैसे बनता है हल्दी वाला दूध ?


हल्दी वाला दूध स्वाद में बहुत अच्छा लगता है. एक गिलास दूध मे आधे चम्मच से कम हल्दी लेना चाहिए. पहले दूध को अच्छे से खौला लें और फिर उसमें हल्दी मिलाकर और खौला लें. आप इसमें इलाइची, बादाम या काजू के टुकड़े भी मिला सकते हैं जिससे दूध का स्वाद और बढ़ जाएगा. इसके अलावा कई तरह के पोषक तत्व भी आपको इस दूध के साथ मिल जाएंगे. इस दूध को आप फ्रिज में रखकर ठंडा भी पी सकते हैं और इसमें आपको फ्लेवर भी अलग-अलग रखना चाहिए. हल्दी वाला दूध पीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है ये बात तो आप समझ ही गए होंगे लेकिन अगर आपको कहीं दर्द होता हो तो उसमें दिन में दो टाइम तो इसे जरूर पिएं. इसके अलावा दूध कब-कब पीना चाहिए इसके बारे में भी मैं आपको आगे बताऊंगी.


क्या होता है दूध पीने का सही समय ?


अक्सर लोग दूध सोने से पहले पीते हैं या फिर सुबह-सुबह लेकिन आपको ये पता होने चाहिए कि दूध को अलग-अलग समय पर पीने से उसके फायदे भी अलग ही होते हैं. नाश्ते में दूध पीना अच्छा माना जाता है और बहुत से लोग रात के खाने के बाद दूध पीना पसंद करते हैं. ऐसा बताया जाता है कि दिन में दूध पीने से ऊर्जा दिनभर बनी रहती है और रात में पीने से दिमाग ठंडा रहता है. मगर फिर भी इसके कुछ अलग ही नियम बनाए गए हैं.

सुबह के समय- पचाने में भारी होने के कारण सुबह दूध पीने से मना किया जाता है, लेकिन माना जाता है कि इस समय दूध पीने से दिनभर शरीर में एनर्जी बनी रहती है. दोपहर के समय- दोपहर के समय दूध पीना बुजुर्गों के लिए फायदेमंद होता है क्‍योंकि इससे शरीर को ताकत मिलती है.

शाम के समय- शाम के समय दूध पीना आंखों के लिए बहुत अच्‍छा माना जाता है.

रात के समय- रात को दूध पीना सब माना जाता है क्‍योंकि इससे शरीर की दिन भर की थकान मिटती है और नींद अच्‍छी आती है.


हल्दी दूध पीने के फायदे


अक्सर बीमारी, दर्द या चोट लगने पर हल्दी वाला दूध पिलाया जाता है, जिसे देखते ही मुंह तो बनने लगता है लेकिन बहुत से लोगों को इसका स्वाद अच्छा लगता है. दूध हल्दी के साथ औषधिय गुणों से भरपूर होता है और हल्दी की एंटीबायोटिक्स प्रॉपर्टीज और दूध में मौजूद कैल्शियम ये दोनों ही हल्दी के गुणों से भरपूर होता है. हल्दी वाले दूध में अगर आप कच्ची हल्दी का उपयोग करेंगे तो ये ज्यादा फायदा करता है. वैसे चलिए बता दें कि हल्दी वाले दूध को पीने से क्या फायदा होता है.

पीरियड्स के दर्द में- हल्दी का दूध पीरियड्स के दर्द को कम करता है, इसे डिलीवरी के बाद महिलाओं को भी दिया जाता है जिससे उनका दर्द जल्दी भर जाए. इसे डिलीवरी के बाद औरतों को जल्दी रिकवरी के लिए दिया जाता है जिसका एक और फायदा ये होता है कि डिलीवरी के बाद इससे ब्रेस्ट मिल्क बहुत इम्प्रूव होता है और मां को स्तनपान कराने में आराम रहता है.

हड्डियां करता है मजबूत- हल्दी में मौजूद एंटीबायोटिक्स और दूध में मौजूद कैल्शियम दोनों ही हड्डियों को मज़बूत बनाते हैं. इसीलिए किसी भी तरह की बोन डैमेज या फ्रैक्चर हो जाए तो हल्दी वाले दूध के साथ दवाईयां लेने से परेशानी जल्दी खत्म हो जाती है.

कैंसर के मरीज़ के लिए- हल्दी में पाया जाने वाला पदार्थ करक्यूमिन कैंसर के मरीजों को रिकवरी में काफी मदद करता है. अगर कोई पहली स्टेज के कैंसर से जूझ रहा है तो हर दिन दो गिलास हल्दी वाला दूध पिए, रिकवरी में आराम मिललता है.

सांस लेने की तकलीफ- हल्दी वाले दूध मे मौजूद एंटी माइक्रो बैक्टीरियल गुण, दमा, ब्रोंकाइटिस, साइनस, फेफड़ों में जकड़न और कफ से राहत देने में मदद करते हैं. गर्म दूध के सेवन से शरीर में गर्मी का संचार होता है जिससे सांस की तकलीफ में बहुत आराम मिलता है.

जोड़ों के दर्द में- हल्दी वाला दूध हर दिन सेवन करना चाहिए और इसमें गठिया, बाय, जकड़न को दूर करता है. इसके साथ ही जोड़ों में मांसपेशियों को लचीला बनाता है. बॉडी के किसी भी ज्वाइंट में दर्द होने से बहुत परेशानी होती है और ऐसे में हल्दी वाला दूध बहुत फायदेमंद होता है.

ब्लड शुगर कम करे- खून में शर्करा की मात्रा ज्यादा होने पर ब्लड शुगर हो जाता है और हल्दी वाले दूध का सेवन आपके शुगर को कंट्रोल में रखता है. अगर किसी का शुगर लेवर बहुत ज्यादा है तो उन्हें दूध में हल्दी मिलाकर बिना चिनी के पीना चाहिए बहुत आराम मिलता है.

शारीरिक दर्द में- शरीर के किसी भी पार्ट में दर्द तो हल्दी वाला दूध जरूरी पीना चाहिए बहुत आराम मिलता है. शरीर में ज्यादातर जोडो़ं में, सिर में, हाथ या पैर में दर्द होता है और इनके लिए हल्दी वाला दूध हर रात जरूर पीना चाहिए.

त्वचा को खूबसूरत बनाए- दूध पीने से त्वचा में प्राकृतिक चमक आ जाती है और दूध में अगर हल्दी मिल जाए तो चेहरे में होने वाले दाग-धब्बे या फिर डार्क सर्कल सब दूर हो जाते हैं. इंफेक्शन, खुजली, मुंहासे जैसे बैक्टीरिया को भी धीरे-धीरे हल्दी वाले दूध के सेवन से खत्म कर देता है.


हल्दी वाला दूध


नींद ना आने पर- हल्दी वाले गर्म दूध में ट्रिप्टोफैन नाम के अमीनोअम्ल बनाता है जो शांतिपूर्वर और गहरी नींद में काफी मदद करता है. अगर आपको नींद नहीं आती है तो हर रात खाने के दो घंटे बाद हल्दी वाला दूध पी लें ये समस्या कुछ दिनों में कम और फिर खत्म हो जाएगी.

सर्दी खांसी आने पर- अपने प्रतिजीवाणु और प्रतिविषाणु गुणों के कारण हल्दी वाले दूध को सर्दी और खांसी का सबसे बेहतरीन उपचार माना जाता है. हल्दी वाले दूध का सेवन आपके खराश, सर्दी और खांसी से आराम देती है इसलिए सर्दी में हर दिन एक गिलास हल्दी वाला दूध पीजिए.

हड्डियों को मजबूत बनाए- हल्दी वाला दूध कैल्शियम का अच्छा स्रोत होता है जो हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाने के लिए जरूरी होता है. भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर हड्डियों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए हर दिन पीते हैं. हल्दी वाले दूध से हड्डियों में नुकसान और ऑस्टियोपोरेसिस में कमी आ जाती है.


हल्दी वाले दूध पीने के नुकसान


मैंने आपको पहले ही बताया है कि जिस चीज का फायदा होता है उस तीज के नुकसान भी होते हैं. यहां मैंने अब तक बात हल्दी और दूध के फायदों के बारे में की है लेकिन अब आपको बताऊंगी कि हल्दी वाले दूध को पीने के नुकसान क्या होते हैं ?

1. हल्‍दी और दूध बीमारियों के साथ दर्द से तुरंत आराम देता है, लेकिन हल्दी और दूध के बहुत अधिक सेवन करने से बचना चाहिए.

2. एक रिसर्च के मुताबिक, ज्यादा हल्दी के सेवन से आपकी त्वचा रूखी और खुजलीदार हो सकती है. सामान्य तौर पर 240 से 500 मिग्रा हल्दी वो भी तीन बार में प्रयोग करने की हिदायत दी जाती है.

3. अगर आपको मसालों के सेवन से एलर्जी होती है तो हल्दी का भी प्रयोग करना बंद कर देना चाहिए. हल्दी आपकी एलर्जी को और बढ़ा सकती है.

4. कई प्रेग्‍नेंट महिलाएं दूध में हल्दी डाल कर पीती हैं, जिससे उनका बच्चा गोरा पैदा हो लेकिन हल्दी गर्भाशय का संकुचन, गर्भाशय में रक्त स्रव या गर्भाशय में ऐंठन पैदा करती है और इससे आपके बच्चे को विकास करने में परेशानी हो सकती है.

5. ज्यादा हल्दी खाने से पुरुषों को इंर्फटिलिटी की भी समस्या होती है. इससे स्पर्म का प्रोडक्शन कम होता है, और ऐसा एक रिसर्च में सामने आया है. ज्यादा हल्दी खाने से पेट में गैस की समस्या भी हो जाती है.

6. हल्दी वाले दूध के फायदे तो बहुत हैं लेकिन इसकी तासीर गर्म होती है और अगर आपको बहुत गर्मी लगती है या फिर ज्यादा परेशानी हो रही है तो रात में सोने से पहले इसे नहीं पिएं. अगर आपने गर्मी में भी हल्दी वाला दूध पी लिया तो कुछ समय बाद आपको अच्छा महसूस नहीं करेंगे.



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये