आपको भी होती है पेशाब में जलन ? सही समय पर करें इसका इलाज

01 जुलाई 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (18 बार पढ़ा जा चुका है)

फिल्म कहो ना प्यार के एक सीन में कॉमेडी एक्टर जॉनी लीवर को जोर से पेशाब लगती है और उसे ट्वॉयलेट खाली नहीं मिलता है तो वो वहीं पर कर देता है। फिल्म के अंदर ये सीन बहुत फनी लगी थी लेकिन असल में अगर आप अपनी पेशाब को रोकते हैं तो ये आपकी किडनी के लिए सही नहीं मानी जाती है। बहुत से लोगों को peshab me jalan की शिकायत होती है और ये समस्या महिला या पुरुष दोनों में पाई जाती है। पेशाब को अंग्रेजी में urine कहते हैं और ये हर जीवित प्राणी के लिए जरूरी होता है फिर वो इंसान हो, पशु-पक्षी हो या फिर कीड़े-मकौड़े हों।


पेशाब में जलन


क्यों होती है पेशाब में जलन ?


क्या आपने हाल ही में अपनी पेशाब में जलन महसूस की है ? पेशाब में जलन या दर्द होना कोई आम बात नहीं होती है और अक्सर कई मौकों पर यह किसी जटिल समस्या का संकेत भी हो सकती है। हमने दिल्ली के एक प्रतिष्ठित अस्पताल के एक डॉक्टर से इस बारे में बात की। उनके अनुसार, जब कभी आपको पेशाब करते समय दर्द या जलन महसूस हो तो उसको मेडिकल भाषा में डिस्युरिया कहते हैं। ऐसा कई कारणों से हो सकता है लेकिन इसके लक्षणों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। जरूरी नहीं कि पुरुष और महिलाओं में पेशाब में जलन का कारण एक जैसा हो ये अलग-अलग कारणों से भी हो सकता है।


पुरुषों के पेशाब में जलन का कारण


एक्सपर्ट्स के अनुसार, मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन होने की संभावना महिलाओं से ज्यादा होती है लेकिन पुरुषों में भी ये होता है। अक्सर इस इंफेक्शन के कारण लोगों की पेशाब में जलन महसूस होती है। मूत्रमार्ग में जलन का एहसास यानी बैक्टीरिया का इकट्ठा होना होता है। अगर ये बैक्टीरिया मूत्रनली में उत्पन्न हो जाते हैं तो वहां सूजन और जलन आम बात है इस स्थिति को यूरेथ्राइटिस कहते हैं। इसके अलावा पुरुषों की पेशाब में जलन इन कारणों से हो सकता है-

1. बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना

2. गाढ़ा पेशाब निकलना या उसमें गंध आना

3. कभी-कभी पेशाब में रक्त आना

4. प्रोस्टेट के बढ़ने पर दिन में सामान्य से ज्यादा पेशाब आना

5. रात में चार से ज्यादा बार पेशाब जाना

6. पेशाब करने में जोर लगाना

7. पीठ या पेट के निचले हिस्से में दर्द होना

8. पेशाब करते समय दर्द होना

9. यौन-संबंध बनाते समय इंफैक्शन होना

10. सेक्स के दौरान बैक्टीरिया का आदान-प्रदान


महिलाओं के पेशाब में जलन का कारण


महिला रोग विशेषज्ञ के अनुसार, महिलाओं के पेशाब में जलन होने का कारण इंफेक्शन होना होता है। लगभग हर महिला को जीवन में एक ना एक बार इंफेक्शन का सामना करना पड़ता है। औरतों का छोटा मूत्रमार्ग जल्दी बैक्टीरिया खींचता है। अक्सर साबुन या निजी हाइजीन पदार्थों का इस्तेमाल करने पर मूत्रमर्ग के इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। इन वजहों से हो जाती है महिलाओं के पेशाब में जलन-

1. यीस्ट इंफेक्सन कैंडिडा फंगस के कारण हो जाता है।

2. प्रैग्नेंसी के दौरान यीस्ट इंफेक्शन होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है।

3. किडनी, युरेटर या ब्लैडर में स्टोन आना।

4. अंदरूनी वस्त्रों की स्वच्छता ना होने के कारण इंफेक्शन होना।

5. यौन-संबंध बनाने पर महिलाओं में इंफेक्शन की संभावना बढ़ जाती है।

6. किडनी में स्टोन पाए जाने पर भी जलन होती है।

7. किसी चीप साबुन या दवाई का प्रयोग भी जलन का कारण बनता है।

8. पीरियड्स के दौरान ज्यादा खुजली होना भी मूत्रमार्ग में इंफेक्शन का कारण बनता है।


पेशाब में जलन


पेशाब में जलन के आम लक्षण


महिलाओं, पुरुष और बच्चों में जलन का कारण अलग-अलग होता है लेकिन आमतौर पर जलन के कुछ कारण समान होते हैं। बस आपको पेशाब में जलन के लक्षण पहचानकर उनका उपचार सही समय पर करें-

1. पेशाब करते वक्त दर्द और जलन होना

2. पेशाब करने के लिए जोर लगाना

3. पेशाब रुक-रुक के थोड़ी आना

4. पेशाब में पीलापन

5. पेशाब में बदबु

6. पेट मे दर्द

7. बुखार

8. जी मचलाना


पेशाब में जलन होने पर करें आयुर्वेदिक उपचार


आमतौर पर पेशाब में जलन एंटीबायोटिक्स दवाईयों से ठीक हो जाती है लेकिन कुछ ऐसे घरेलू उपाय हैं जिन्हें अपनाकर आप इस परेशानी को दूर कर सकते हैं। इस बीमारी से राहत पाने के लिए पहले घरेलू उपाय या आयुर्वेदिक उपचार का इस्तेमाल करें-

1. दिन में कम से कम 3 लीटर पानी पीने से पेशाब में जलन कम हो जाती है और शरीर में पानी की कमी भी पूरी रहती है।

2. अगर पेशाब का रंग पीला है तो आपको हर दिन नारियल पानी पीना चाहिए क्योंकि नारियल पानी में पाया जाने वाला प्रोटीन बैक्टीरिया को नष्ट कर देते हैं।

3. विटामिन सी युक्त चीजों का इस्तेमाल भी आपकी पेशाब में जलन की समस्या कम कर सकती है। आपको ऐसे में नींबू, अनानास, मोसंबी या संतरे का जूस पीना चाहिए।

4. तरबूज खाने से शरीर में पानी की कमी पूरी होती है और इसके कारण पेशाब में जलन भी रुक जाती है।

5. एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच धनिया पाउडर मिलाकर रात भर के लिए रख दें। इसके बाद सुबह उठकर इसे छानकर शक्कर या गुड़ मिलाकर पी लें।

6. शीतल और पाचक युक्त ककड़ी भी पेशाल को खुलकर कराती है। खुलकर पेशाब होने पर मूत्रमार्ग में जलन बंद हो जाती है।

7. कम से कम 5 बादाम को इलाइची और बादाम के साथ बारिख पीसकर एक गिलास पानी में घोलकर पीने से भी पेशाब में जलन कम हो जाती है।

8. रात को सोने से पहले एक मुट्ठी गेंहू पानी में भिगोकर रख दं और फिर सुबह इसी पानी में गेंहू को पीसकर छा लें और मिश्री मिलाकर पीलें।


निष्कर्ष- पेशाब करना हर किसी के लिए जरूरी होता है लेकिन अगर इसमें कोई समस्या होती है तो आपको एक्सपर्ट्स से बात कर लेनी चाहिए। पेशाब में जलन या कोई और समस्या हो तो आप हमारे एक्सपर्ट्स से बात कर सकते हैं।

पेशाब में जलन



देव बाबू
02 जुलाई 2019

धन्यवाद स्नेहा जी अपने बहुत ही अच्छी जानकारी दिया है जो की अपने बताया है कि पेशाब में जलन होने पर करें आयुर्वेदिक उपचार।

शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको पेशाब में जलन होती है ?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये