खाली पेट नीम खाने के होते हैं जबरदस्त फायदे

03 जुलाई 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (74 बार पढ़ा जा चुका है)

''रिश्तों की बगिया में एक रिश्ता नीम के पेड़ जैसा भी रखना, जो सीख भले ही कड़वी दे मगर तकलीफ में महरम भी बनता है''...ये खूबसूरत लाइन पढ़ने में बहुत आनंद देती है लेकिन जब कोई नीम का सेवन करता है तो उसके कड़वेपन का एहसास होता है। नीम एक आयुर्वेदिक औषधि होती है जिसका उपयोग अनेक प्रकार के रोगों के निदान में किया जाता है। नीम का पेड़ कई लोगों को छाया देता है और इसके साथ ही इसकी पत्ती, फल, छाल, जड़, लकड़ी सबकुछ फायदा देता है। नीम स्वाद में भले ही कड़वी होती है लेकिन इससे मधुमेह, अस्थमा, रक्त परिसंचरण, मलेरिया, फंगल इंफेक्शन जैसी कई बीमारियां ठीक हो जाती है। neem ke patte ke fayde अनेक होते हैं।


नीम के पत्तों के फायदे

क्या है नीम का इतिहास ?


आजादीराचा इंडिका जिसे आमतौर पर नीम के नाम से जाना जाता है। नीम का इतिहास बहुत साल पुराना है और अपने औषधीय गुणों के कारण ही प्राचीन समय से इसका प्रयोग औषधीयों को बनाने में किया जाता है लेकिन हाल ही के कुछ सालों में इस पेड़ ने बहुत सारी लोकप्रियता हासिल की है। नीम के पेड़ के सभी भागों का अपना अलग महत्व होता है। नीम के फल और बीजों से तेल निकाला जाता है और इस तेल का उपयग त्वचा संबंधित बीमारियों के लिए किया जाता है। नीम के पत्ते एक्ज़िमा और सोरायसिस जैसी त्वचा संबंधित समस्याओं से छुटकारा दिलाते हैं। भारत में नीम का उपयोग हजारों सालों से होता आ रहा है औ रवेदों में नीम को सर्वरोगी निवारिणी कहते हैं इसका मतलब नीम हमारे शरीर की सभी प्रकार के रोगों से रक्षा करता है।


नीम के पत्तों के फायदे


हम सभी neem ke patte ke fayde जानते हैं औऱ इसका उपयोग किसी ना किसी रूप में करते हैं। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल कई आयुर्वेदिक दवाओं को बनाने में किया जाता है और इसके पत्तों में निंबिन, निंबिनन, निंबोलाइड, निमेंडियल, निनिनिन और दूसरे फायजेमंज यौगिक पाए जाते हैं। नीम के पत्ते प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करते समय यकृत स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं जो रक्त को शुद्ध करते हैं और पाचन तंत्र को बढ़ावा देते हैं। इसके अलावा नीम के पत्तों के फायदे कुछ इस तरह हैं-

1. कई रिसर्च में पता चला है कि नीम के पत्तों का सेवन हमारे लिए फायदेमंद होता है जो हाइपोग्लाइसेमिक या रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है। इस कारण इसका उपयोग Diabetes ke Gharelu Upay के रूप में किया जाता है।

2. कई तरह के वायरल संक्रमण का इलाज भी मुमकिन है जैसेchickenpox ka ilaj, Balgam Wali Khansi ka Desi Ilaj होता है। इनके लिए नीम के पत्तों का इस्तेमाल करना सही रहता है।


नीम

3. अगर आपको लगातार बुखार आता है तो नीम के पत्तियों का प्रयोग करें। यह मलेरिया बुखार का इलाज करता है औऱ नीम में औषधीय गुण गुडनिन मलेरिया के इलाज में प्रभावी होते हैं। मलेरिया के बुखार में Giloy Ke Labh Aur Upyog जानना जरूरी हो जाता है क्योंकि ये इसमें फायदा करता है।

4. पेट से संबंधित समस्याओं में भी नीम के पत्ते फायदा करता है। Pachan Shakti Kaise Badhaye अगर आपको ये जानना है तो आपको नीम की पत्तियों की गोली हर सुबह खाली पेट खानी चाहिए।

5. अक्सर लोग Face Care In Hindiर्च करते हैं मगर आपको सबसे अच्छा उपाय नीम की पत्तियों का उपयोग करके मिल सकता है। इसमें आप नीम की पत्तियों से नहा सकते हैं, इसकी गोलियां खा सकते हैं या फिर दूसरी तरीकों से भी इसका उपयोग कर सकते हैं।

6. hair loss ke karan नहीं पता होने पर आपको बहुत परेशानियां हो जाती हैं। बालों की समस्या आम होती है जो महिलाओं और पुरुषों को प्रभावित करतीहै। उबले हुए पानी में नीम की पत्तियों को डालकर उससे हर दिन नहाएं, ये Baal Ugane Ke Upay Hindi me बहुत सही है।

7. एक जीवाणुरोधी एजेंट के रूप में काम करते हुए हमारे शरीर में कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी हो जाती है। नीम के पत्तों में कैंसर से या कैंसर से होने वाले जीवाणुओं को मारने में लाभकारी होता है। बस किसी भी कैंसर की बीमारी में आपको हर दिन नीम की पत्तियों की गोलियां खानी चाहिए।

8. हैजा जैसी बीमारियों के लिए भी नीम के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है। अक्सर Cholera Disease In Hindi सर्च करने पर भी उन्हें वो लाभ नहीं मिल पाता है जिसकी उम्मीद होती है तो आपको नीम के पत्तों का इस्तेमाल करना चाहिए।

9. नीम से ही गर्भनिरोधक औषधी तैयार की जाती है और इसे खाने के बाद भी लोगों के मन में सवाल होते हैं कि Pregnant Kaise Hote Hai तो आपको इसके इलाज के लिए भी नीम के पत्तों का ही सेवन करना होगा।

10. asthma ka ilaj में भी नीम का तेल फायदेमंद होता है। अगर आपको कफ, बुखार या खांसी की समस्या है तो नीम के तेल की कुछ बूंदे पानी में मिलाकर पी लीजिए फायदा मिलेगा।


निष्कर्ष- नीम के पत्तों के बारे में बखान करने बैठो तो शब्द कम पड़ जाएंगे क्योंकि इसका सेवन औषधी के रूप में सदियों से किया जा रहा है और इस बात को आयुर्वेद के साथ-साथ ऐलोपैथिक ने भी माना है। अगर आपको स्वास्थ्य से जुडी़ कोई भी परेशानी है तो हमारे एक्सपर्ट्स से सलाह ले सकते हैं।

नीम की पत्तियों के फायदे



रूचि
05 जुलाई 2019

क्या मजेदार जोक मारा है अपने बिलकुल नीम और करेला पर उसके साथ साथ लेख भी बहुत पसंद आया |

शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये