दिल का दौरा: लक्षण,कारण,उपचार, घरेलू नुस्खे | Heart Attack: Symptoms,Causes,Remedies,Home Remedies

11 मार्च 2019   |  डॉ मुकुल पांडेय   (72 बार पढ़ा जा चुका है)

दिल का दौरा: लक्षण,कारण,उपचार, घरेलू नुस्खे | Heart Attack: Symptoms,Causes,Remedies,Home Remedies - शब्द स्वास्थ्य(health.shabd.in)

भारतीयों का खान-पान तय नहीं होता है। वह कभी देर रात में खाते हैं और सोते है। फिजिकल एक्सरसाइज करने में भी परहेज करते है।इन्हीं कारणों से पिछले कुछ साल से युवाओं में हार्ट अटैक के मामले बढ़ रहे हैं। जिससे दिल की बीमारी भारत में तेजी के साथ वृद्धि कर रहा है। मानव शरीर में दिल का दौरा तब पड़ता है जब ह्रदय तक पहुंचने वाला ऑक्सीजन युक्त खून का प्रवाह बाधित हो जाता है। यह वसा, कोलेस्ट्रॉल और अन्य पदार्थों के कारण होता है जो ह्रदय तक खून का प्रवाह पहुचांने वाले कोरोनरी धमनियों में प्लेक (एक चिपचिपा पदार्थ) का जमाव बनाकर उन्हें बाधित करते है। बाधित रक्त प्रवाह के कारण ह्रदय को ऑक्सीजन नहीं मिल पाता है और यदि ह्रदय को ऑक्सीजन जल्दी नहीं मिले तो ह्रदय की मांसपेशियां नष्ट हो जाती है। दिल के दौरे जिसे मायोकार्डियल इन्फ्रक्शन भी कहा जाता है, यह खतरनाक हो सकता है लेकिन सही समय से उपचार के शुरु करने से इसमें सुधार भी हो सकता है।

दिल के दौरे लक्षण | Symptoms Of Heart Attack In Hindi

हार्ट अटैक के लक्षण अलग-अलग होते हैं और अक्सर सभी लोगों को जिन्हें हार्ट अटैक है उनमें कुछ लोगों को हल्का दर्द होता है, दूसरों को अधिक गंभीर दर्द होता है। कुछ लोगों में कोई लक्षण नहीं होते हैं। आपके पास जितने अधिक लक्षण होंगे, आपको दिल का दौरा पड़ने की संभावना उतनी ही अधिक होगी। कुछ दिल के दौरे अचानक से हमला कर देते हैं, लेकिन कई लोगों के लक्षण दिनों या हफ्तों पहले से चेतावनी देते हैं। सबसे पहले चेतावनी छाती में दर्द या दबाव (एनजाइना) हो सकती है जो थकावट और आराम से राहत देती है। एनजाइना हृदय में रक्त के प्रवाह में अस्थायी कमी के कारण होता है। मुख्यत दिल के दौरे पड़ने के लक्षण निम्न है-

1.ह्रदय में दबाव, जकड़न, दर्द होना

2.दर्द का सीने से लेकर बांहो और गर्दन, जबड़े तक फैलना

3.रोगी को मतली, अपच, या पेट दर्द होना

4.सांस लेने में दिक्कत महसूस होना

5.शरीर से ठंडा पसीना आना

6.अचानक से चक्कर आना, बेहोश हो जाना


क्लिक कर जानें- डायबिटीज होने के लक्षण और कारण

दिल के दौरे पड़ने का कारण | Causes On Heart Attack In Hindi

जब आपकी एक से अधिक कोरोनरी धमनी बाधित हो जाए तो दिल का दौरा पड़ता है। कोलेस्ट्रॉल के संचय के कारण कोरोनरी धमनी संकुचित हो जाती है जिसे कोरोनरी धमनी रोग कहते है और ज्यादातर दौरे इसी के कारण होते है। दिल के दौरे का एक अन्य कारण कोरोनरी धमनी की ऐंठन है जो हृदय की मांसपेशियों के हिस्से में रक्त के प्रवाह को बंद कर देता है। तंबाकू और अवैध दवाओं का उपयोग करना, जैसे कोकीन, जीवन के लिए खतरा पैदा कर सकता है। दिल के दौरे पड़ने के मुख्यत कारण निम्न है-

1.बहुत अधिक खाना और बैलेंस डाइट न लेना

2.हाइपरटेंशन और डायबिटीज होना

3.धूम्रपान, तंबाकू और शराब का अत्याधिक सेवन करना

4.शारीरिक व्यायाम नहीं करना

5.कंप्यूटर पर अधिक समय तक कार्य करना

6.बहुत अधिक मोटापा होना

7.ब्लड प्रैशर का अधिक होना

8.वंशानुगत समस्या

क्लिक कर जानें- ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखने के बारें में

दिल के दौरे का उपचार | Treatment On Heart Attack In Hindi

दिल के दौरे का उपचार उस दौरे के प्रकार पर निर्भर करता है। दिल का दौरा पड़ने से बचने के लिए कदम उठाने में कभी देर नहीं की जानी चाहिए भले ही वह अटैक पहली बार हो। दवाएं लेने से दिल के दौरे के खतरे को कम किया जा सकता है और आपके क्षतिग्रस्त दिल की कार्यक्षमता को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है।दिल के दौरा अगर अधिक समय से लगातार पड़ रहा है तो डॉक्टर आपको दवाइयों के जरिए उसे नियंत्रित करने का प्रयत्न करेगा अगर फिर भी मरीज को आराम नहीं मिलता है तो चिकित्सक मरीज का बायपास सर्जरी कर सकता है। जो निम्न प्रकार की होती है-

1.एंजिओप्लास्टी- बैलून का उपयोग करके या बाधित करने वाले पदार्थ को हटाकर धमनी को खोला जाता है।

2.स्टेंट डालना- एंजिओप्लास्टी के बाद धमनी को खुला रखने के लिए एक प्रकार ट्यूब स्टेंट अवरुद्ध भाग में खोला जाता है।

3.बायपास सर्जरी- ह्रदय के अवरुद्ध भाग में रक्त के प्रवाह की आपूर्ति के लिए सर्जरी करना

4.हार्ट वाल्व सर्जरी- जिस वाल्व में रिसाव हो रहा है उस वाल्व को ऑपरेशन के जरिए बदल दिया जाता है।

5.पेसमेकर सर्जरी- ह्रदय की असामान्य गति का एक पेसमेकर की मदद से नियंत्रण किया जाता है।

6.ह्रदय प्रत्यारोपण- यह क्रिया गंभीर परिस्थितियों में ही किया जाता है, जब दिल के दौरे के कारण ह्रदय की ऊतकें पूरी तरह से नष्ट हो जाती है।

क्लिक कर जानें- माइग्रेन होने के कारण व उपचार

दिल के दौरे से बचने के घरेलू नुस्खे | Home Remedies On Heart Attack In Hindi

दिल के दौरे से बचने के लिए डॉक्टर द्वारा दी गयी दवाओं का सेवन नियमित रुप से करें, रोजाना व्यायाम करें। पौष्टिक आहार का सेवन भी करें, धूम्रपान बंद करे। यहां पर कुछ घरेलू नुस्खे है जिन्हें अपनाकर आप इस बीमारी के खतरे से बच सकते है-

1.लौकी का जूस - लौकी की सब्जी या जूस के सेवन से आप दिल के दौरे के खतरे से बच सकते है।

2.पीपल के पत्तें - पीपल के 10-12 पत्तों को साफ करके पानी में उबाल लें। इसे पीने से हार्ट ब्लॉकेज की समस्या खत्म हो जाती है।

3.अंकुरित गेहूं -गेहूं को 10 मिनट तक पानी में उबालकर अंकुरित करने के लिए किसी कपडे में बांध कर 1 इंच लंबा होने दें। रोजाना इसका सेवन हार्ट अटैक का खतरा कम करता है।

4.गाजर- कच्ची गाजर या इसके जूस का सेवन दिल के लिए बहुत फायदेमंद है। रोजाना गाजर का रस पीने और डाइट में हरी सब्जियां शामिल करने से आप इससे बच सकते है।

क्लिक कर जानें- बावासीर के लक्षण व उपचार



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें
05 मार्च 2019
05 मार्च 2019

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये