जाने दमा रोग के लक्षण,कारण,और इलाज के बारें में | Asthma:Symptoms,Causes,Treatment

13 मार्च 2019   |  डॉ मुकुल पांडेय   (4 बार पढ़ा जा चुका है)

जाने दमा रोग के लक्षण,कारण,और इलाज के बारें में | Asthma:Symptoms,Causes,Treatment  - शब्द स्वास्थ्य(health.shabd.in)

दमा के रोगियों को सांस लेने में तकलीफ का सामना करना पड़ता है। दमा रोग में श्वास नलिकाओं में सूजन और विकार आ जाता है जिस कारण नलिका सिकुड़ जाती है और इसके वजह से फेफड़ो में सूजन हो जाती है और कफ जम जाता है। दमा का ठीक समय पर इलाज ना करवाने से यह बहुत गंभीर समस्या बन जाती है। दमा रोगियों को घबरावट,घरघराहट,सीने में जकड़न और और खांसी आती है।

दमा रोग के लक्षण

दमा के लक्षण दो प्रकार के होते है-

1-बाहरी अस्थमा- यह एलर्जी के कारण होने वाली प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया है। जो कि पराग कण,जानवरों,धूल,प्रदूषण के कारण बाहरी कारणों से होता है।

2-आंतरिक अस्थमा- यह रोग श्वास द्वारा रसायनिक तत्वों को अंदर ले जाने के कारण से होता है। सिगरेट का धुआं,पुराने टायरों के जलाने का धुआं आदि इसके कारण होते है।

दमा रोग धीरे धीरे उभरता है| पहले श्वास नलिका मे दोष उत्पन होते है जिसे रोगी को श्वास लेने में हल्की समस्या होती है| धीरे-धीरे समय बढ़ने के साथ में सांस नलिका का मार्ग विकारों के कारण सिकुड़ता जाता है और यह गंभीर समस्या हो जाती है| जिससे रोगी को सांस लेने में बड़ी मुश्किल का समाना करना पड़ता है।

दमा रोग के कुछ लक्षण निम्न है-

1.सीने में जकड़न महसूस होना

2.सांस फूलना और सांस लेने में कठिनाई महसूस होना

3.सांस लेते वक्त और बोलते समय घरघराहट की आवाज आना।

4.थोड़ा मेहनत करने पर थकान महसूस होना

5.तेजी के साथ सांस लेना

6.सूखे बलगम के साथ या सूखी खासी होती है|

7.रोगी का मानसिक तौर पर चिड़चिड़ा होना थका महसूस करना|

8.सर्दी के समय अत्यधिक छिके आना, नाक बहना, खासी और सिरदर्द होना|


दमा रोग के कारण

दमा रोग अनेक कारणों से हो सकता है, जिसमें से हमारे आस-पास का वातावरण खास मायने रखता है-

1-यह मौसम एलर्जी, इत्र, खाद्य पदार्थो और बदबूदार वातावरण कारण हो सकते है|

2.कोकरोच, दीमक और अन्य कीड़ो के एलर्जी के वजह से भी हो सकता है।

3.वायु प्रदूषण भी दमा होने का एक कारण होता है।

4.कुछ खाद्ध पदार्थ जिनके सेवन से भी दमा रोग होता है जैसे-अंड़े,मछली,गाय का दूध,मूंगफली इत्यादि।

5.दमा रोग भावनात्मक दबाव, वायु प्रदुषण, संक्रमण और अन्य अनुवांशिक कारण हो सकते है|

6.अधिक धूम्रपान का सेवन करना भी इस रोग का कारण है।

7.एस्पिरिन जैसी कुछ दवाइयां भी दमा रोग का कारण बन सकती है।

8.अधिक व्यायाम से सांस फूलने के कारण यह रोग होता है।

9.आनुवंशिकी भी दमा होने का एक प्रमुख कारण होता है।

5.वृक्ष और घास के पराग कण का सांस द्वारा अंदर जाकर श्वास नलिका में जम जाना|

6.तीव्र सर्दी और मौसम बदलाव भी एक कारण हो सकता है|

7.पारिवारिक इतिहास जिन बच्चों की माता पिता को दमा का रोग है उन बच्चों को 80 से 95 प्रतिशत दमा रोग होने चांस होता है|

8.धुम्रपान या धुम्रपान वाले वातावरण में रहने के कारण भी दमा हो सकता है|

9.मोटापा जो सभी रोगों का भंडार होता है मोटापा भी दमा का कारण हो सकता है|

10.पुराना खाना खाना या समय पर खाना न खाना भी एक दमा होने का कारण हो सकता है|


दमा रोग का इलाज क्या है?

दमा रोग होने का कारण एलर्जी है अगर आपको सही समय पर पता चल जाएं कि आपको किन वस्तुओं से एलर्जी है तो आप दमा से काफी हद तक बच सकते है। अगर आपको सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो डॉक्टर से सलाह ले सकते है। दमा रोग के इलाज के लिेए आपको कुछ दवाइयों का सेवन करना पड़ सकता है जो निम्न है-

1-स्टेरॉयड और एंटी-इन्फ्लेमेटरी ड्रग

2-ब्रोंकॉडायलेटर्स

3-शार्ट एक्टिंग इन्हेलर

4-लांग एक्टिंग इन्हेलर

5-अस्थमा नेब्यूलाइजर

इन्हेलरों की सहायता से दवाएं आपके श्वास नली तक पहुंचकर दमा रोगियों के लिए काफी मददगार साबित होती है।नेब्यूलाइजर दवाओं को तरल रुप से भाप में बदल देता है जिससे दवाइयां आसानी से फेफड़ो तक पहुंच जाती है।


दमा रोग से बचाव के लिए क्या करें?

दमा की बीमारी से लाखों लोग पीड़ित है यह एक एलर्जी की समस्या है और दमा के रोगियों का काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। दमा पीड़ित रोगियों को समुचित और संतुलित आहार लेना चाहिए। भोजन को पर्याप्त समय देकर करना चाहिए।

1. ऐसे भोजन का प्रयोग करे जो हमारे शरीर की प्रतीक्षा प्रणाली को मजबूत बनाए।

2. ठंडी और प्रदूषित वाले स्थान पर जाने से बचें|

3. आप योग या हल्का व्यायाम कर सकते है|

4. फेफड़ो की जकड़न दूर करने के लिए गर्म पानी में पीना और स्नान करना लाभकारी माना जाता है।

5. दमा पीड़ित रोगी को ताजे फल या जूस का सेवन करना चाहिए|

6. रोगी को अधिक तेल-मसालों से बने भोजन से परहेज करना चाहिए।

7. ठंडे पेय पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए।

8. दमा रोग के रोगी को तेज मसाले, आचार, मिर्च और अधिक चाय काफी से बचना चाहिए|



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें
24 फरवरी 2019
अक्सर ऐसा होता है, जब आप बेहद जल्दी कुछ गरमागरम खा-पी लेते हैं तो जीभ जल जाती है। ऐसे में व्यक्ति को तकलीफ तो काफी होती है, लेकिन समझ में नहीं आता कि क्या किया जाए। जीभ में जलन होने पर वहां पर दवाई लगाना संभव नहीं होता। ऐसे में काम आते हैं कुछ घरेलू उपाय। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ बेहद आसान उपायों
24 फरवरी 2019
25 फरवरी 2019
कुछ लोगों की दूसरों और ज़रूरतमंदों के प्रति निःस्वार्थ भावना हमें चकित कर देती है. 14 फ़रवरी को कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गयी. लोग शहीदों के परिवारों की मदद के लिए आगे आने लगे. इसी कड़ी में राजस्थान के अजमेर से एक मिसाल पेश क
25 फरवरी 2019
26 फरवरी 2019
हम सभी ने बचपन में यह सुना है कि सुबह जल्दी उठना चाहिए। सुबह जल्दी उठने वाला व्यक्ति न सिर्फ स्वस्थ रहता है, बल्कि उसे कभी भी समय की कमी का रोना नहीं रोना पड़ता। ऐसे बहुत से लोग होते हैं, जो सुबह जल्दी उठना तो चाहते हैं लेकिन फिर भी ऐसा नहीं कर पाते। अगर आपका नाम भी ऐसे ही लोगों की लिस्ट मंे शुमार है
26 फरवरी 2019
27 फरवरी 2019
एक कहावत “Health is Wealth” अर्थात स्वास्थ्य ही धन है। हर व्यक्ति चाहता है कि वो अपने पूरे जीवन में स्वस्थ्य रहना चाहता है ताकि उसे अपने काम के लिए कभी किसी का सहारा न लेना पड़े। हर कोई ये मानता है कि जीवन में स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन होता है जो कि हमेशा हमारे साथ रहता है और हर मुश्किल में हमारी सहा
27 फरवरी 2019
28 फरवरी 2019
Benefit of Shimla Mirch वैसे तो हर हरी सब्जी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। पर कुछ ऐसे हरी सब्जियां भी होती हैं जो लोगों को या बच्चों को कम पसंद होती हैं पर उसके फायदे चौकाने वाले होते हैं। ऐसे ही एक हरी सब्जी है शिमला मिर्च। शिमला मिर्च खाने में भले ही बहुत स्वादिष्ट
28 फरवरी 2019
02 मार्च 2019
प्रोटीन से पैक अंडे का सेवन बच्चों से लेकर बड़ों तक को करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसके सेवन से सेहत को कई तरह के लाभ मिलते हैं। लेकिन अगर आप सोचते का इसका प्रयोग केवल यहीं तक सीमित है तो आप गलत हैं। अंडे का इस्तेमाल स्किन समस्याओं को दूर करने और एक बेहतरीन ग्लोइंग स्किन पाने के लिए भी किया जा सक
02 मार्च 2019
03 मार्च 2019
घरेलू नुस्खे हिंदी में
03 मार्च 2019
04 मार्च 2019
Disprin टैबलेट और Disprin डायरेक्ट टैबलेट दोनों में एंटी-इंफ्लेमेटरी दर्द निवारक एस्पिरिन होता है। Disprin के उपयोग सिरदर्द, माइग्रेन, तंत्रिका दर्द (नसों का दर्द), दांत दर्द, गले में खराश, अवधि दर्द सहित हल्के से मध्यम दर्द से राहत।सर्दी और फ्लू से संबंधित दर्द, दर्द
04 मार्च 2019
04 मार्च 2019
पेरासिटामोल क्या है?पेरासिटामोल (एसिटामिनोफेन) एक दर्द निवारक और बुखार निवारक है। की क्रिया का सटीक तंत्र ज्ञात नहीं है।पेरासिटामोल का उपयोग सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, गठिया, पीठ दर्द, दांत दर्द, जुकाम और बुखार जैसी कई स्थितियों के
04 मार्च 2019
04 मार्च 2019
पुदीन हरा सबसे पुराना और सबसे असरदार एक ओषधि है जिसमे पुदीना सत्वा है जो पेट दर्द, गॅस,बदहज़मी से जल्द राहत देता है। ये पेट के लिए एक लोकप्रिय दवा है जो बहुत ही तेजी से काम करता है। पुदीन हरा को प्राकृतिक एवं हर्बल और सुरक्षित माना जाता है। ये बाज़ार में टबलेट और लिक्विड के रूप में किसी भी मैडिसिन स्
04 मार्च 2019
04 मार्च 2019
पुदीन हरा सबसे पुराना और सबसे असरदार एक ओषधि है जिसमे पुदीना सत्वा है जो पेट दर्द, गॅस,बदहज़मी से जल्द राहत देता है। ये पेट के लिए एक लोकप्रिय दवा है जो बहुत ही तेजी से काम करता है। पुदीन हरा को प्राकृतिक एवं हर्बल और सुरक्षित माना जाता है। ये बाज़ार में टबलेट और लिक्व
04 मार्च 2019
04 मार्च 2019
D Cold Total Tablet का प्रयोग सामान्य सर्दी के लक्षणों के उपचार में किया जाता है।D Cold Total Tablet का उपयोग कैसे करें ?इस दवा को खुराक और अवधि में अपने चिकित्सक द्वारा सलाह के अनुसार लें। इसे पूरी तरह से निगल लें। इसे चबाएं, कुचलें या तोड़ें नहीं। D Cold Total Tabl
04 मार्च 2019
04 मार्च 2019
आजकल बदली हुई लाइफस्टाइल और भागदौड़ भरी जिंदगी हमें कुछ और दे पा रही हो या नहीं पर कई बीमारियां जरुर दिए जा रही है. उन्हीं में से एक बेहद खतरनाक बीमारी है- उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure). जिसे हम (Hypertension) भी कहते हैं. इस बीमारी को silent killer भी कहा जाता है क्योंकि अधिकतर लोगों को प
04 मार्च 2019
04 मार्च 2019
लिपोमाक्या आपने अपनी त्वचा के नीचे एक नरम रबरदार उभार देखा है? अगर हां तो यह लिपोमा का लक्षण हो सकता है। लिपोमा अक्सर तब होते जब आपके शरीर के नरम ऊतकों में वसा की एक गांठ बढ़ने लगती है, हालांकि उन्हें ट्यूमर के रूप में वर्गीकृत नहीं किया गया है, लेकिन वे आमतौर पर नुकस
04 मार्च 2019
05 मार्च 2019
विटामिन सी युक्त नींबू देखने में भले ही छोटा सा हो लेकिन यह बड़े-बड़े काम करने का माद्दा रखता है। जहां एक ओर यह कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करता है तो वहीं दूसरी ओर इसकी मदद से घर की कई छोटी-बड़ी परेशानियों को दूर किया जा सकता है। इतना ही नहीं, यह आपके सौंदर्य का भी उतनी ही बेहतरीन तरीके से ख्य
05 मार्च 2019
05 मार्च 2019
जेनेरिक नाम: मेट्रोनिडाजोलउत्पाद का नाम: MetrogylMetrogyl का उपयोग Metrogyl का उपयोग शरीर के विभिन्न हिस्सों में बैक्टीरिया और अन्य जीवों के कारण होने वाले कुछ संक्रमणों के इलाज के लिए किया जाता है। इसके साथ ही इसका उपयोग सर्जरी के दौरान होने वाले कुछ संक्रमणों को रोकने या इलाज के लिए भी किया जा सकत
05 मार्च 2019
05 मार्च 2019
Avil Tablet का उपयोग एविल टैबलेट्स में फेनिरामाइन माल्ट होता है, जिसका उपयोग एलर्जी की स्थिति जैसे कि हाइफ़िवर, नाक का बहना, त्वचा में खुजली और त्वचा पर चकत्ते के इलाज के लिए किया जाता है। साथ ही इसका उपयोग आंतरिक कान के विकारों (जैसे मेनियर की बीमारी) और यात्रा की बीमारी की रोकथाम और उपचार में भी
05 मार्च 2019
05 मार्च 2019
Flexon Tablet (फ्लेक्सॉन टैबलेट) बुखार, दांतों में दर्द, सिरदर्द, सर्दी, पीठ दर्द, कान का दर्द, शरीर में दर्द, दांत दर्द, मांसपेशियों का दर्द, दर्दनाशक और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए निर्देशित किया जाता है।Flexon Tablet (फ्लेक्सॉन टैबलेट) इस दवा गाइड में सूचीबद्ध नहीं किए गए उद्देश्यों के लिए भी
05 मार्च 2019
05 मार्च 2019
Ciplox 500 MG Tablet एक एंटीबायोटिक है जो दवाओं के क्विनोलोन परिवार का एक सदस्य है। यह बैक्टीरिया के कारण होने वाले संक्रमण के इलाज में प्रभावी है। Ciplox 500 MG Tablet का उपयोग निमोनिया, एंथ्रेक्स, सिफलिस, गोनोरिया, ब्रोंकाइटिस, गैस्ट्रोएंटेराइटिस और प्लेग जैसे जीवाणु संक्रमण के रोगियों के इलाज के
05 मार्च 2019
05 मार्च 2019
यदि आपकी उम्र 60 से अधिक है और आपकी दृष्टि में धुंधली या बादल छा गई है, तो आपको मोतियाबिंद हो सकता है। वृद्ध और वयस्कों में मोतियाबिंद की शिकायत अक्सर पायी जाती है।आंखों के
05 मार्च 2019

हमारे 500 से अधिक डॉक्टरों से फोन पर सलाह लीजिये

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x