कमर दर्द के कारण और इसके देसी उपचार || Kamar Dard Ke Karan

25 मार्च 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (60 बार पढ़ा जा चुका है)

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों की जीवनशैली प्रभावित होती है. जिसकी वजह से सिरदर्द, कमरदर्द या फिर शरीर में अकड़न की समस्याएं हो जाती हैं. इसकी वजह उठने-बैठने या गलत तरीके से सोने की वजह से हो जाता है. जिस तरह कमर दर्द को हम भले ही आम समस्या मानते हों लेकिन अगर इसका समय पर उपचार नहीं करते हैं तो ये पूरी जिंदगी झेलना पड़ सकता है. अगर हम थोड़ी सावधानी बरतें या अपनी जीवनशैली में थोड़ा बदलाव लाते हैं तो आप कमर दर्द को आसानी से हरा सकते हैं. कमर दर्द एक ऐसी बीमरी है जिसमें व्यक्ति ना चल पाता है और ना उठ-बैठ पाता है. इसकी समस्या आमतौर पर बुजुर्गों में होती है लेकिन आज के समय में ये किसी को भी हो सकती है. ऐसे में पहले आपको Kamar Dard Ke Karan और फिर इसके उपचार के बारे में जानकर सही समय पर इसका इलाज करा लें.


कमर दर्द


कमर दर्द के कारण और उपचार


कमर दर्द शारीरिक समस्याओं में बहुत गंभीर बीमारी होती है क्योंकि इसकी वजह से आपका दैनिक कार्य प्रभावित होता है और तकलीफ अलग महसूस होती है. समस्या अगर गंभीर हो तो उसका उपचार भी गंभीर रूप से किया जाना चाहिए वरना वो घातक हो सकता है. Kamar Dard Ke Karan जानकर ही उसका उस तरह से उपचार करना चाहिए.


कंधे पर भारी वजन डालना - अगर आप अपने कंधों पर भारी बैग लटकाकर घूम रहे हैं या फिर यही आपका काम है तो समय-समय पर उसे कंधे से हटाते रहं. आपके बैग का कुल वजन आपके शरीर के वजन का 10 फीसदी से ज्यादा बिल्कुल नहीं होना चाहिए वरना आपकी कमर और टांगो पर अच्छा असर नहीं पड़ेगा.


लगातार बैठे रहना - आजकल किसी भी ऑफिस में 9 से 10 घंटों का काम रखा जाता है. इतने घंटे लगातार बैठकर काम करना शरीर के लिए सही नहीं माना जाता है. लगातार बैठे रहने से स्पाइन होने के मुकाबले 50 फीसदी ज्यादा दबाव पड़ता है. कंप्यूटर पर काम करते हुए सिर और आंखों को सीधा रखकर कमर को130 डिग्री पर रखें जिससे कमर पर ज्यादा दबाव नहीं पड़े.


पुरानी मैट्रेस पर सोना - अगर आप 10 साल पुराने गद्दे पर सोते हैं तो वो आपकी कमर को पूरा सपोर्ट नहीं देता और कमर दर्द का कारण बनता है. इससे अच्छा है कि आप उन मैट्रेस को जल्दी से जल्दी बदल दें और एक मैट्रेस को सिर्फ 5 साल तक चलाना चाहिए और अगर इससे ज्यादा चल रहा है तो उसे एक बार फिर ठीक करवाना बेहतर होता है.


हाई हील्स या फ्लैट शूज पहनना - अगर आपको बहुत ऊंची हील्स पहनने का शौक है तो इससे आपका शरीर बेडौल हो जाएगा. हील्स के अलावा फ्लैट शूज, सैंडिल या चप्पल भी कमर दर्द का कारण बनता है. बेहतर है कि सही हाइट के जूते चप्पलों का चुनाव करें इससे आपको बैकपेन भी नहीं होगा और आप दिखने में भी लाजवाब लगेंगे.


एक्सरसाइज नहीं करना - हर बीमारी का इलाज व्यायाम है और अगर आप नियमित रूप से व्यायाम नहीं करते हैं तो आपकी कमर की मसल्स कमजोर होती जाएंगी. इसके बाद धीरे-धीरे दर्द महसूस होता है और फिर कमर पेट के निचले हिस्से में भीषण दर्द होता है.


कमर दर्द से छुटकारा पाने के उपाय


1. हर सुबह सरसों या नारियल के तेल में लहसुन की तीन या चार कलियां डालकर गर्म कर लें. इसके बाद इसे ठंडा करके कमर दर्द वाले हिस्से में अच्छे से मालिश करिए और ऐसा दर्द ठीक होने के बाद भी कुछ दिनों तक करिए.


2. पानी में नमक मिलाकर एक तौलिया से निचोड़ लें. इसके बाद पेट के बल लेट जाएं और दर्द वाली जगह पर तौलिये से भाप लें. ये कमर दर्द का अचूक उपाय होता है फिर ये दर्द किसी भी तरह का हो.


3. कढ़ाई में चार चम्मच नमक मिलाकर अच्छे से सेंक ले इसके बाद फिर इस नमक को सूती कपड़े पर बांधकर पोटली बना लें और इसे कमर के दर्द वाले हिस्से पर सिकाई करें.


4. अजवाइन तो तवे पर धीमी आंच पर सेंक लें और फिर ठंडा होने पर धीरे-धीरे चबाते हुए निगल जाएं. इसे नियमित रूप से हर दिन करें कमर दर्द में अच्चा आराम मिलेगा.


5. ऑफिस में काम करते समय कभी भी पीठ के सहारे नहीं बैठें. अपनी पीठ को कुर्सी पर इस तरह से टिकाएं कि यह हमेशा सीधी रहे. गर्दन को सीधा रखने के लिए कुर्सी में पीछे की ओर मोटा तौलिया रख सकते हैं.


6. कमर दर्द में भुन्ज्गासन, शलभासन, हलासन, उत्तानपादासन, श्वसन जैसे कई आसन बहुत ज्यादा फायदा देते हैं. इस योग को सुबह शाम जरूर करें.



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये