आंखों में दर्द, कारण और बचाव की जानकारी || Eye Pain In Hindi

26 मार्च 2019   |  डॉ मुकुल पांडेय   (78 बार पढ़ा जा चुका है)

आंखों में दर्द, कारण और बचाव की जानकारी || Eye Pain In Hindi

आंखों में दर्द होना आजकल एक आम समस्या बन चुकी है। आंखों में दर्द का मतलब आंखों में जलन,सूजन, लालिमा के कारण दर्द,आंखों का गड़ना, फड़कने के कारण होने वाला दर्द शामिल है। कई बार किन्हीं और कारणों से भी आंखों में दर्द उठ सकता है। तेज सिरदर्द, दांत दर्द और वायु प्रदूषण के कारण भी यह हो सकता है। अगर दर्द लंबे समय से है तो आप तुरंत चिकित्सक से परामर्श लें। आजकल लोग अक्सर काम के सिलसिलें में घरों के बाहर ही अपना समय व्यतीत करते है जिससे उन्हें दिनभर प्रदूषण के बीच में रहना पड़ता है जिसमें धूल,मिट्टी और फसली कीड़े शामिल है जो हमारे आंखों के भीतर प्रवेश कर जाते है जिससे आंखों में दर्द प्रारंभ हो जाता है। आज हम आपको आंखों में दर्द, कारण और बचाव Eye Pain In Hindi के बारें में बताएंगे कि कैसें आंखों में दर्द प्रारंभ होता है और इसके बचाव क्या है?


आंखों में दर्द होने के कारण


आंखों में दर्द होने के कारण हो सकते है जिसका पता नेत्र विशेषज्ञ जांच के उपरांत लगा सकता है। आंखों में दर्द होने के कारण कुछ कारण निम्नलिखित हो सकते है-

1.आंखों में धूल और मिट्टी के प्रवेश के कारण

2.कांटेक्ट लेंस के अनुचित प्रयोग से

3.चश्में का नंबर बदल जाने के कारण

4.बाहरी चोट या संक्रमण से

5.माइग्रेन और सिरदर्द के कारण

6.आंख आने के कारण

7.आंखों में केमिकल प्रवेश या संपर्क से




8.कॉर्निया में खरोंच आने के कारण

9.ग्लूकोमा में दबाव की वजह से

11.आइटिरिस में सूजन से

12.अधिक समय तक तेज रोशनी में काम करने पर


आंखो में दर्द होने के लक्षण


वैसे तो आंखों में दर्द होने का पता रोगियों को आसानी से चल जाता है लेकिन कई मामलों में व्यक्ति इसे अनदेखा कर देता है। आंखों में दर्द Eye Pain In Hindi होने की वजह अलग अलग होती है इस कारण इसके लक्षण भी तमाम प्रकार के होते है जो निम्न है-


1.आंखों में लालिमा के कारण दर्द का होना

2.आंखों से द्रव पदार्थ का बहना

3.प्रकाश के प्रति अतिसंवेदनशीलता होना

4.आंखों में कोई वस्तु फंसी हुई सी महसूस होना

5.आंखों में जलन और दर्द होना

6.सिरदर्द और माइग्रेन के कारण दर्द


आंखों में वायु प्रदूषण के कारण दर्द होता है जिसमें प्रदूषित वायु के जरिए हमारे आंखों में धूल और मिट्टी के कण हमारे आंखों के संपर्क में आ जाते है। जिससे की आंखों में दर्द होना शुरु हो जाता है। आंखों में दर्द की समस्या होने पर इसे अनदेखा नहीं करें। आपको सही समय से उपचार प्रारंभ कर देना चाहिए ताकि आप की आंखों को गंभीर समस्या होने से बचाया जा सके।


आंख में दर्द होने का इलाज


कई बार आंखों में दर्द होने का कारण वायरस के संक्रमण भी होता है। इन सभी मामलों में डॉक्टर आपसे दर्द होने के समय और कारण के बारें में पूछकर आपका उपचार प्रारंभ कर देता है कई बार दवाओं और आई ड्राप से आंखों के दर्द में आराम मिल जाता है। गंभीर समस्या होने पर डॉक्टर आपको कुछ परीक्षण के लिए कह सकता है। आंखों में दर्द होने पर चूंकि यह शरीर का बहुत ही संवेदनशील भाग होता है इसलिए इसकी जांच किसी नेत्र विशेषज्ञ से करवाए। कॉर्निया में हुए घाव को भरने के लिए एंटी बायोटिक आई ड्राप से आराम मिलता है।कई बार तो कंम्प्यूटर और स्मार्ट फोन के अधिक प्रयोग से आंखों में हल्का दर्द शुरु हो जाता है जिसको कुछ दवाओं के जरिए सही किया जा सकता है।


आंखों के दर्द से बचाव के उपाय


कई बार आप कुछ उपायों को अपनाकर आंखों में होने वाले दर्द से बच सकते है। मनुष्य के शरीर का आंख एक महत्वपूर्ण अंग है जिसकी सुरक्षा करना आपकी जिम्मेदारी है। हम आपको कुछ उपायों के बारें में बताएंगे जिसे अपनाकर आप इस दर्द से काफी हद तक बच सकते है-

1.वाहन चलाते समय चश्में का प्रयोग करें जिससे की आंख सुरक्षित रह सकें।

2.केमिकल युक्त स्प्रे का प्रयोग करते समय आंखों को उसके संपर्क में आने से बचाएं।

3.कोई भी खेल-कूद और व्यायाम या किसी और काम को करते समय अपनी आंखों को चोट लगने से बचाएं। अगर संभव हो तो चश्में का प्रयोग करें।

4.अपने बच्चों को तेजधार वाले खिलौने से खेलने पर रोके। आतिशबाजी करते समय सुरक्षा नियमों पर विशेष ध्यान दें।

5.तेज धूप में निकलते वक्त आप अपनें आंखों पर सनग्लासेज का प्रयोग करें।

6.अधिक समय तक कंम्प्यूटर के स्क्रीन पर कार्य करने से बचें।

9.आंखों की सुरक्षा के लिए उच्च गुणवत्ता वाले कांटेक्ट लेंस और चश्में का प्रयोग करें।

10.आंखों को नियमित ठण्डें पानी से कम से कम दो बार धोएं।



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये