पथरी में क्या खाएं, क्या नहीं और क्या परहेज करें, जानिए - Pathri Me Kya Khaye

09 अप्रैल 2019   |  डॉ.स्नेहा दुबे   (125 बार पढ़ा जा चुका है)

Pathri Me Kya Khaye- आजकल गुर्दे में पथरी की समस्या आम हो गई है और इसकी वजह ठीक से खानपान या लाइफ का रूटीन है जिसे अच्छे से रखना चाहिए. अगर इस रूटीन में कोई बदलाव नहीं आता है तो उन्हें पथरी की समस्या शुरु हो जाती है. कभी-कभी पथरी किडनी से संबंधित बड़ी समस्या लोगों में तेजी से बढ़ने लगी है. इसे ठीक कराने के बारे में मरीज तब सोचता है जब उसके प्राइवेट पार्ट में असहनीय दर्द होता है तब इस समस्या से बचने के लिए लोग उपाय ढूंढते हैं.


पथरी


कैसे बनता है पथरी ? How to make stones


पेशाब में कैल्शियम ऑक्जलेट या अन्य क्रिस्टल् का एक दूसरे से मिलने के कुछ समय बाद धीरे-धीरे मूत्रमार्ग में कठोर पदार्थ बनने लगता है और इसे पथरी के नाम से जाना जाता है. किडनी में पथरी होने के कई कारण होते हैं जिसमें आहार, मेडिकेसन, फैमिली हिस्ट्री और उल्टा-सीधा खाते रहना. किडनी में पथरी होने से अगर आप इसका इलाज समय पर करवाते हैं तो आपकी सेहत के लिए अच्छा रहेगा. वैसे आपको बताते हैं किडनी होने के मुख्य कारण -


आहार - आप जो कुछ भी खाते हैं उसके कारण आपकी किडनी पर असर पड़ सकता है. आमतौर पर कैल्शियम और ऑक्सलेट के साथ में इकट्ठा होने से भी पथरी बनती है.


मोटापा - जो लोग मोटापे के शिकार होते हैं उनके लिए किडनी स्टोन की समस्या ला सकती है. अगर आपका बॉडी मास इंडेक्स 30 या उससे ज्यादा है तो इसका मतलब ये है कि आप मोटापे के शिकार हैं.


मेडिकेशन - कुछ तरह की मेडिकेशन्स होती है जिनकी वजह से पथरी में स्टोन हो जाता है जैसे एंटीबायोटिक्स, एचआईवी ड्रग्स, हाई ब्ल़ड प्रेशर के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कुछ निश्चित दवाईयां किडनी में पथरी का कारण बन जाती है.


बीज वाली चीजों का प्रयोग - अगर डाइट में आप बूज वाली चीजें ले रहे हैं तो ये भी पथरी का कारण बन सकती है. पथरी की समस्या से जूझने वालों को डाइट का पूरा ध्यान रखना चाहिए और उन्हें अपने खाने मेें शामिल करें.


आंत से जुड़ी समस्या - आंत से जुड़ी समस्याएं जैसे इंफ्लेमेटरी बोवेल डिसीज, डायरिया, अल्सरेटिव कॉलेटिस जैसी चीजों से भी किडनी में स्टोन होने की संभावनाएं हो जाती हैं. पथरी की समस्या किडनी, पित्त की थैली और यूरीन पाइप में हो सकता है.


पथरी होने के ऐसे होते हैं लक्षण


1. किडनी स्टोन से पीड़ित लोगों का यूरीन अक्सर गुलाबी,लाल या भूरे रंग का होता है. स्टोन के बढ़ने से मूत्रमार्ग ब्लॉक हो जाता है.


2. किडनी स्टोन से पीड़ित लोग अक्सर लगातार या दर्द के साथ यूरीन आने की शिकायत में रहते हैं. ऐसा तह होता है जब किडनी स्टोन मूर्तमार्ग से मूत्राशय मे जाते हैं. ऐसा मंजर बहुत दर्दनाक होता है और अक्सर मूत्र मथ के संक्रमण की वजह बनते हैं.


3. किडनी स्टोन होने के समय ठंड देकर बुखार आना आम होता है. इसका कारण मूत्र पथ के संक्रमण की संभावना बढ़ती है.


4. किडनी स्टोन के बड़े और बहुत उत्तेजक होने पर उन जगहों पर दबाव पड़ने लगता है जहां पर स्टोन है. ऐसे में बैठने या उठने में असहनीय दर्द् का एहसास होता है.


5. किडनी के स्टोन में यूरीन का रंग बदलता है और साथ में इससे स्मैल भी बहुत ज्यादा आती है. ऐसा यूरीन में हार्ड कैमिकल मिल जाने की वजह से ऐसा होना स्वाभाविक है.


6. पेट की गड़बड़ी महसूस होना और जी मिचलाना भी किडनी में स्टोन होने का खतरा होता है. इसमें उल्टियां जरूर आती हैं और मन भी ठीक नहीं रहता है.


पथरी होने पर क्या खाना चाहिए-Pathri Me Kya Khaye


1. पथरी बने के कारण फाइबर युक्त आहार की कमी और प्रोटीन युक्त आहार का ज्यादा सेवन करना अच्छा होता है अपनी डाइट में फलियां, ओट्स, दलिया, चावल के चोकर, सूखी बीन्स, करेला, मटर, शलगम, कद्दू जैसी कई चीजों को शामिल करें.


2. पथरी से परेशान लोगों को गन्ने का जूस जरूर पीना चाहिए. इससे शरीर की पानी की कमी पूरी हो जाती है और पथरी अपने आप शरीर से निकलने लगती है.


3. गाजर में विटामिन बी-6 विटामिन सी युक्त गाजर किडनी के लिए बहुत फायदेमंद होता है. रक्त को शुद्ध करने के साथ ही ये किडनी को बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाता है.


4. नींबू का रस कैल्शियम स्टोन का खतरा कम होता है और किडनी में पथरी के साइज को कम करने में भी नींबू कारगर साबित होता है. आप नींबू पानी ,सलाद या फिर फलों में नींबू का रस मिलाकर सेवन करें.


5. नारियल पानी में कई गुणकारी फायदे होते हैं लेकिन पथरी में इसे खासतौर पर रोज पीना चाहिए. इससे धीरे-धीरे पथरी गल जाती है.


6. किडनी की पथरी में मूली का आधा कप रस हर सुबह खाली पेट पिएं. ऐस करने से किडनी की सफाई हो जाती है और मरीज को फायदा मिलता है.


7. हर्बल टी पीने से भी पथरी का खतरा काफी कम होता है इसलिए हर्बल टी का इस्तेमाल पथरी मरीजों को जरूर करना चाहिए.


8. जीरे को चीनी के साथ समान मात्रा में पीसकर ठंडे पानी के साथ दिन में तीन से चार बार हर दिन खाइए. किडनी स्टोन में ये बहुत जल्दी ही पेशाब के जरिए निकल जाता है.


9. गुर्दे की पथरी के लिए सौंफ एक रामबाण उपचार माना जाता है. यह आपकी किडनी को साफ-सुथरा रखने में मदद करती है. सौंफ, मिश्री और सूका धनिया 50-50 ग्राम लेकर रात में डेढ़ लीटर पानी में भीगोकर रख दें इसके बाद इस पानी को 24 घंटों के बाद पेस्ट बनाएं और फिर ये पेस्ट पानी में मिलाकर पिएं.


10. हृदय और किडनी के लिए लाल अंगूर फायदेमंद साबित होते हैं. यह किडनी से विषैले तत्वों को बाहर निकालर किडनी को स्वस्थ बनाते हैं.



पथरी में क्या नहीं खाना चाहिए - Pathri Me Kya Na Khaye


1. ज्यादा मात्रा में प्रोटीन का सेवन करने से किडनी का स्टोन पनपता है और बढ़ने लगता है. ऐसी स्थिति में हाई प्रोटीन वाले आहार जैसे मछली और मांस का सेवन कम कर देना चाहिए.


2. विटामिन सी का सेवन किडनी स्टोन मे करने से ये बढ़ता जाता है और फिर आगे चलकर नुकसान करता है.


3. टमाटर के बीज, कच्चा चावल, उड़द और चने की दाल, बैगन के बीज किडनी स्टोन की परेशानी को और भी बढ़ाते हैं इसलिए आपको इनके सेवन से बचना चाहिए.


4. इस परेशानी में पानी का भरपूर सेवन करना बहुत जरूरी होता है और इसमें आपको कोल्ड ड्रिंक से दूरी बना लेनी चाहिए.



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये