हाथ पैर में झनझनाहट के कारण hath pair me jhunjhanaht ke karan

20 मई 2019   |  डॉ अंजली कश्यप   (67 बार पढ़ा जा चुका है)

हाथ पैर में झनझनाहट के


हाथ पैर में झनझनाहट के मुख्य कारण


आपको भी कभी ऐसा महसूस हुआ है कि आपके हाथ पैरों में अजीब सी झुनझुनी हो रही है, और कई बार इसमें दर्द भी महसूस हो सकता है। ऐसा होने पर हम किसी भी चीज को छुते है तो हमे उसका अहसास भी नही होता। ऐसी अवस्था में हाथ-पैरों में सुईयां चुभने जैसा गहरा अहसास होता हैं या झनझनाहट सी महसूस होती हैं। यदि आपके साथ ऐसा हो रहा है ,तो आपको इस पर खास ध्यान देने की जरूरत हैं।


झनझनाहट के कुछ मुख्य कारण

जो शरीर में विटामिन बी 12 की कमी, शरीर में रक्त कोशिकाओं के सुचारू रूप से कार्य न करने की वजह से, तंत्रिका पर किसी प्रकार की चोट लगने की वजह से या नशीली पदार्थ का सेवन करने के कारण आपको इस तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जब कोशिकाओं के कार्य में कुछ असामनता हो जाती है तब भी आपको झनझनाहट महसूस हो सकती है।तंत्रिका तंत्र पर दबाव पड़ने के कारण या तंत्रिका तंत्र पर चोट लगने के कारण हाथो पैरो में झनझनाहट होने लगती है। रक्त वाहिकाओं के दबाव के कारण या शरीर के किसी हिस्से में रक्त का प्रवाह सुचारु रूप से न होने के कारण। शरीर में विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और बी-12, मैग्नीशियम, पोटेशियम आदि की कमी भी आपके हाथो और पैरों में झनझनाहट का कारण बनती है।बहुत अधिक शराब का सेवन, धूम्रपान आदि करने पर भी आपको इस परेशानी का सामना करना पड़ता है। ठन्डे पानी में काफी देर रहना, या ठंडी चीज को काफी देर तक छूने के कारण भी आपको झनझनाहट महसूस हो सकती है। एक जैसी स्थिति में बैठे रहने से हाथ पैर पूरी तरह सुन्न पड़ जाते है।ब्लड पे्शर के अस्मान होने की वजह से भी आपको शरीर में झनझनाहट महसूस होता हैं।शुगर के रोगियोंको ये समस्या ज्यादा होती है। ऐसे में हम आपके लिए कुछ घरेलू उपाय लेकर आये है जिनके माध्यम से आप इस समस्या से पूरी तरह छुटकारा पा सकते है।


झनझनाहट की समस्या से ये घरेलु उपाय हैं रामबाण

1. हाथ-पैर सुन्न होने पर ब्लड का फ्लो कतई नहीं हो पाता, तो ऐसे में आप दालचीनी पाउडर का सेवन अवश्य कर सकती हैं, क्योंकि इसमें न्यूरट्रिशियंस और कैल्शियल दोनों ही बहुत भरपूर मात्रा में पाएं जाते है।

2. सबसे पहले प्रभावित स्थान पर गर्म पानी का सेक करें ऐसा करने वहां बल्ड सर्कुलेशन भी शुरू हो जाता है।

3. जब भी हाथ पैर-सुन्न पड़ जाये तो उनको मसाज देना शुरू कर दें। ऐसा करने से बल्ड सर्कुलेशन बहुत ज्यादा बढ़ता है।

4. आप अपने आहार में अंडे, मछली, दूध,मेवे, मीट, केला, पनीर और फल जैसी चीजों को शामिल कर आप इस समस्या से पूरी तरह निजात पा सकते है।

5. अगर आपके हाथ-पैर सुन्न हो जाते हैं तो ऐसे में आप पनीर बटर, सोया बीन, हरी पत्तेदार सब्जियां, केला, लो फैट दही, ओटमील, ठंडे पानी की मछलियां और मेवे, जैसी चीजों का भरपूर सेवन करें।

6. हल्दी में ऐसे तत्व पाएं जाते हैं जो हमारे ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में बहुत ज्यादा मदद करती हैं,तो आप हल्दी का उपयोग करें।

7. एक वॉर्म कंप्रेस लें और इसे प्रभावित क्षेत्र पर पांच-सात मिनट तक रखें। हर दिन यह प्रक्रिया तीन बार दोहराएं। दिन में दो-तीन बार करें ।

8. साइप्रस का तेल से शरीर में होने वाली झनझनाहट में काफी अराम मिलता हैं। साइप्रस और जैतूनया नारियल तेल को मिला लें। हाथ-पैरों के प्रभावित क्षेत्र पर इस तेल को लगाएं। कुछ देर तक मसाज करें और रात भर तेल को लगे रहने दें। ये रोज दिन में एक बार करना चाहिए। इस तेल की नियमित मालिश क्षतिग्रस्त नसों की मरम्मत कर ठीक से काम करने में मदद करती है जिससे झनझनाहट की समस्या कम होती जाती हैं।

9. एक चम्मच सेब का सिरका एक गिलास गरम पानी में मिलाएं।अब पानी में शहद डालकर अच्छी तरह मिलाएं। इसे धीरे-धीरे पिएं। सेब के सिरकेमें एसिटिक एसिड होता है और यह एक कारगर एंटी- इंफ्लेमेटरी की तरह काम करता है। इसमें और भी कई जरूरी पौषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर में ऊर्जा बढ़ाने का काम करते हैं। हाथों-पैरों की झुनझुनी से राहत पाने के लिए आप सेब के सिरके का इस्तेमाल कर सकते हैं।

10. पानी से भरे हुए टप में एक कपसेंधा नमक मिलाएं। इसे प्रभावित क्षेत्र पर 20 -25 मिनट तक रखे। काफी हद तक तुरंत अराम मिल सकता हैं।



शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये