प्रिमोलुट एन टैबलेट || Primolut N Uses in hindi

02 अप्रैल 2019   |  डॉ मुकुल पांडेय   (189 बार पढ़ा जा चुका है)

प्रिमोलुट एन टैबलेट || Primolut N Uses in hindi

महिलाओं के लिए सामान्य और प्राकृतिक प्रक्रिया के अंतर्गत मासिक धर्मकी क्रिया होती है। महिलाओं को इस समय बहुत गंभीर दर्द से गुजरना पड़ता है परेशानी तो और अधिक तब बढ़ जाती है जब यह अनियमित हो जाता है। जब यह समय से पहले और बहुत देरी से आता है। दोनों ही दशाओं में महिलाओं को बहुत तकलीफ होती है ऐसे में तमाम महिलाएं दवाओं का सहारा लेती है। ऐसे में प्राइमोल्यूट एन Primolut N का उपयोग मुख्य रूप से असामान्य योनि से रक्तस्राव और मासिक धर्म संबंधी विकारों के इलाज के लिए किया जाता है। इसका उपयोग गर्भनिरोधक आपातकालीन टैबलेट के रूप में भी किया जाता है। Primolut N Tablet प्रोजेस्टिन का एक सिंथेटिक विकल्प है जो हार्मोन असंतुलन के कारण मासिक धर्म और योनि से संबंधित विकारों को ठीक करने में मदद करता है। अवांछित गर्भधारण के लिए जन्म नियंत्रण की गोली के रूप में भी प्रभावी है।


प्रिमोलुट एन के उपयोग व लाभ | Uses & Benefits of Primolut N In Hindi


इस दवा का मुख्यत प्रयोग गर्भ निरोधक और पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करने के लिए किया जाता है। इस दवा का उपयोग मुख्यत इन बीमारियों के होने पर किया जाता है-


1.अंर्तगर्भाशय कैंसर- इस दवा का उपयोग गर्भाशय कैंसर के उपचार के लिए किया जाता है। जब गर्भाशय का स्तर ऊतक के बाहर बढ़ता है और दर्द का कारण बनता है।

2.असामान्य गर्भाशय रक्तस्राव- प्रिमोलुट एन दवा का उपयोग मासिक धर्म के दौरान लंबे समय तक और भारी रक्तस्राव के क्रम को रोकने के लिए किया जाता है।

3.गर्भनिरोधक- अवांछित गर्भधारण को रोकने के लिए प्रिमोलुट एन को गर्भनिरोधक के रूप में उपयोग किया जाता है।

4.स्तन कैंसर- यह दवा कभी-कभी कुछ प्रकार के स्तन कैंसर के उपचार में भी उपयोग की जाती है।


प्रिमोलुट एन महिला के गर्भाशय में एस्ट्रोजन की मात्रा को बदलकर हार्मोन रिप्लेसमेंट के रुप में कार्य करता है और प्राकृतिक प्रोजेस्टेरोन का स्थान ग्रहण करता है। फलस्वरुप

सामान्य रुप से माहवारी लाने में कारगर सिद्ध होता है। प्रिमोलुट एन के एक स्ट्रिप में 10 गोलियां होती है जिसका इस्तेमाल आप डॉक्टर के सलाह पर ही करें।


मासिक धर्म के दर्द में राहत देने वाली अन्य दवा- बायोजेसिक टैबलेट


प्रिमोलुट एन के साइड इफेक्ट | Primolut N Side Effects In Hindi


प्रिमोलुट एन टैबलेट के प्रयोग आपको इसके कुछ दुष्परिणाम देखने को मिल सकते है हालांकि अलग-अलग परिस्थितियों में इसके विभिन्न प्रकार से लक्षण पाए जाते है।

प्रिमोलुट एन के सेवन से कुछ साइड इफेक्ट निम्न प्रकार से हो सकते है-


1.धुंधली दृष्टि या दृष्टि की हानि

2.सांस लेने में कठिनाई

3.आंखों और त्वचा का पीला पड़ना

4.छाती में जलन या तेज दर्द होना

5.अनियमित मासिक धर्म

6.नींद न आना

7.उदास मन और बैचेनी महसूस होना

8.एलर्जी प्रतिक्रिया

9.बेहोशी और चक्कर आना

10.मतली या उल्टी

11.चहरे पर दाने और मुहासे निकलना

12.योनि में सूजन

13.दिल की धड़कन तेज होना

14.कमजोरी महसूस होना


यहां क्लिक कर जानें- मासिक धर्म अनियमित होने के कारण


प्रिमोलुट एन के इंटरैक्शन | Primolut N Interactions In Hindi


प्रिमोलुट एन टैबलेट का इंटरैक्शन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होता है। हालांकि किसी को इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर के साथ Primolut N के संभावित इंटरैक्शन की जाँच करनी चाहिए। प्रिमोलुट एन टैबलेट के साथ कुछ दवाओं के इंटरैक्शन निम्न है-


1-इंसुलिन Insulin

2.डिवलप्रोएक्स Divalproex

3.एमिनोफाइलाइन Aminophyline

4.क्लैरिनथ्रोमाइसिन Clarinthromycin

5.कारबामैजपाइन Carbamazepine

6.क्लैरीथ्रोमायसिन Clarithromycin

7.डिवलप्रोएक्स Divalproex


दवा के उपयोग से अवसाद की घटनाओं में वृद्धि का कारण बताया गया है। इसका उपयोग सावधानी के साथ किया जाना चाहिए यदि रोगी को पहले से ही संकेतों और लक्षणों की स्थिति ज्ञात हो।


इसे भी पढ़े- कोम्बिफ्लैम टैबलेट


प्रिमोलुट एन टैबलेट के उपयोग से पहले सावधानियां | Before Use Primolut N Precuations In Hindi


प्रिमोलुट एन टैबलेट के उपयोग करने से पहले कुछ सावधानियां है जिन्हें इनके उपयोग से पहले व्यक्ति को जानना बहुत जरुरी है। अधिक सप्ताह से गर्भवती महिलाओं को प्रिमोलुट एन टैबलेट के सेवन से कई खतरनाक दुष्परिणाम हो सकते है वहीं स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस दवा के सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरुरी होता

है। प्रिमोलुट एन टैबलेट लेने से पहले कुछ सावधानियां निम्न प्रकार से है-


1.अगर आपको इस दवा में मौजूद सामग्री से आपको एलर्जी है तो इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से सलाह लेना आवश्यक होता है।

2.सांस और दमा के रोगियों के इस दवा का सेवन नहीं करना चाहिए।

3.गंभीर बीमारियों जैसे- लिवर,किडनी, मधुमेह और उच्च रक्तचाप की बीमारी होने पर डॉक्टर से सलाह के अनुसार ही दवा का सेवन करें।

4.पहले से गर्भवती महिलाओं के लिए यह दवा सुरक्षित नहीं है।

6.इस दवा को गर्भ निरोधक के रुप में इस्तेमाल से पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए ताकि इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं हो।





शब्द हैल्थ पर अन्य चर्चायें

© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये