क्या कम उम्र की लड़कियों को होता है PCOD? जानिए इसके उपचार

फिल्म पैडमैन में अक्षय कुमार ने एक ऐसा मुद्दा उठाया जिसपर लोग बात नहीं करते। वो है महिलाओं को होने वाली माहवारी जिसे बहुत से लोग एक बीमारी समझते हैं। ये एक संवेदनशील मुद्दा है जो जिसके लिए महिलाओं को अलग-अलग तरीके से सहना पड़ता है। मासिक धर्म एक सामान्य प्रक्रिया है जो हर 21-35 दिनों में महिलाओँ को



बच्चेदानी में सूजन बन सकती है बांझपन का कारण, जानिए इसके बारे में

अगर आपको बॉलीवुड के लेजेंड जोडी़ दिलीप कुमार और सायरा बानो की कहानी के बारे में पता है तो आपको ये भी पता होगा कि ये शादीशुदा दंपत्ति एक बच्चे के लिए बहुत तरसा है। इन्होंने प्यार किया, शादी भी की लेकिन एक हादसे ने इनकी पूरी जिंदगी बदल दी और एक संतान के लिए ये शादीशुदा



अगर आप भी होना चाहते हैं बांझपन से मुक्त तो यह सुझाव सिर्फ आपके लिए

बच्चे को जन्म न दे पाना या मां बनने से असमर्थ होना बांझपन infertility definition है। यदि महिला, पुरूष का वीर्य कई बार धारण करने के बाद भी गर्भवती नहीं हो पाती है तो उस महिला में बांझपन की समस्या है। हमारी इस लेख में आप जानेंगे किसी महिला के बांझपन होने के कारण, जांच औ



क्या आपके प्राइवेट पार्ट में भी है सूजन ? जानिए इसके 5 कारण

आजकल की बॉलीवुड फिल्मों में दर्शकों को हर तरह का खुलापन चाहिए लेकिन जब बात अपनी आती है तो लोग चुप्पी साध लेते हैं। फऀर वो लड़के हों या लड़कियां कोई भी अपने बॉडी के किसी भी पार्ट्स की बात तो करता है लेकिन



कितना खतरनाक है सफेद पानी ? महिलाएं जाने इसके घरेलू इलाज

आज के दौर में महिलाओं का बोलबाला है और हर क्षेत्र में महिलाएं मजबूती के साथ आगे बढ़ रही हैं लेकिन कुछ ऐसी चीजें हैं जिनकी वजह से महिलाएं खुद को थका और असहाय समझने लगती हैं। जिसमें अनियमित पीरियड्स में शारीरिक कमजोरी और उनकी योनि से सफेद



नेल्स बढ़ने का तरीका

हाथों के लंबे नाखूनों पर रंग-बिरंगी नेल पॉलिश की बात ही कुछ और होती है। हालांकि, कुछ महिलाओं के चाहते हुए भी नाखून लंबे नहीं होते और दूसरी महिलाओं के लंबे, मजबूत और खूबसूरत नाखून उन्हे उदास करते हैं। नेल्स बढ़ने का तरीका मगर हम में से कई महिलाओं को नाखून अ



पीरियड्स रोकने के अचूक उपाय -Period Rokne ke Upay

Period Rokne ke Upay- महिलाओं में पीरियड्स को लेकर बहुत सी बातें होती हैं और जब इन्हें इसमें कोई समस्या आती है तो किसी से शेयर करने में भी इन्हें कुछ शर्म सी आती है. 13 से 14 साल की उम्र में इनके शरीर में कुछ बदलाव आते हैं और पीरियड्स उन्हीं में से एक होता है. पीरियड्स के 3-7 दिनों तक चलता है और फिर



वरदान हैं, माँ का दुध शिशु के लिए-Wardaan Hai Maa Ka Dudh Shishu Ke Liye

वरदान समान हैं, माँ का दुध नवजात शिशु के लिएशिशु के जन्मम के पश्चात स्तननपान एक स्वारभाविक क्रिया है। स्तननपान के बारे में सही ज्ञान के अभाव के कारण बच्चों में कुपोषण एवं संक्रमण जैसे रोग हो जाते है। स्तनपान की प्रक्रिया शिशु के लिए संरक्षण और संवर्धन का काम करता है।



पीरियड्स जल्दी आने के घरेलू नुस्खे - Periods Aane ke Gharelu Nuskhe

Periods Aane ke Gharelu Nuskhe- महिलाओं के जीवन में कई बदलाव आते रहते हैं जैसे पीरियड्स आना, फिर शादी के बाद घर का बदल जाना, फिर प्रेग्नेंसी होती है और वे एक बच्चे को जन्म देकर दूसरा जन्म लेती हैं. इसके बाद एक मां के रूप में उनका जीवन बीत जाता है और एक महिला के जीवन की यही सच्चाई है जिसे भारतीय महि



प्रेग्नेंसी में कैल्शियम बढ़ाने के आहार - Calcium foods for Pregnancy in Hindi

Calcium foods for Pregnancy in Hindi- महिलाओं के जीवन में गर्भावस्था बहुत कठिन पड़ाव होता है और इस दौरान अगर इसे सही तरह से पार कर लिया तो जीवन की हर जंग महिलाएं जीत सकती हैं. ये दौर महिलाओं के लिए नाजुक भी माना जाता है और सबसे ताकतवर भी क्योंकि वो अपने अंदर से एक और जान को जन्म देकर खुद को भी जीवनद



कभी-कभी नुकसानदेह भी हैं मुल्तानी मिट्टी का उपयोग- Multani Mitti Side Effects

Multani Mitti Side Effects- खुबसुरती को निखारने और बनाये रखने के लिये मुल्तानी मिट्टी का उपयोग हमेशा से होते आ रहा है। मुल्तानी मिट्टी सौन्दर्य निखारने का सबसे सस्ता और आयुर्वेदिक नुस्खा है। दरसल इसमें कई तरह के गुन पाये जाते है। मुल्तानी मिट्टी केवल कुछ ही लोगों की त्वचा के अनुकूल होती है। कुछ प्रक



गर्भावस्था में क्या ना खाएं - Foods to avoid during Pregnancy in Hindi

Foods to avoid during Pregnancy in Hindi- प्रेग्नेंसी महिलाओं के लिए बहुत जरूरी होती है और अगर वे इस दौर से नहीं गुजरती तो उनमें एक अधूरेपन का एहसास होता है. गर्भावस्था के समय स्वस्थ और सेहतमंद रहने के लिए सही आहार लेना बहुत जरूरी होता है. प्रेग्नेंसी के दौरान सही आहार से महिलाओं का स्वास्थ्य अच्छा



प्रेग्नेंसी में इस तरह दूर करें हीमोग्लोबिन की कमी - Increase Hemoglobin During Pregnancy in Hindi

Increase Hemoglobin During Pregnancy in Hindi- मां बनना हर महिला का सौभाग्य होता है और इसकी इच्छा उन्हें हमेशा से रहती है कि शादी के बाद उनका एक सुखी परिवार हो. शादी के बाद ही परिवार वालों को खुशखबरी की खबर का इंतजार होने लगता है और जब ये खुशी घर आती है तो हर किसी को बच्चे का इंतजार होने लगता है. मग



महिलाओं के वजन कम करने के लिए डाइट चार्ट - Diet Chart for Weight Loss for Female in Hindi

Diet Chart for Weight Loss for Female in Hind- मोटापा किसी को भी अच्छा नहीं लगता लेकिन स्वाद के चटकारे लेना भी तो जरूरी होता है. आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने खाने-पीने का ख्याल नहीं रखते हैं और इसका नतीजा होता है मोटापा, जिसके कारण लोगों को खासकर लड़कियों को बहुत परेशानी उठानी पड़ती है. ना



क्या ओवुलेशन के समय ही प्रेग्नेंट होने के चांस होते हैं? - Ovulation Period Pregnancy in Hindi

Ovulation Period Pregnancy in Hindi- ओवरी के अंडे जब बाहल आते हैं तो उस प्रक्रिया को ओवुलेशन कहते हैं. ऐसा कहा जाता है कि मासिक धर्म के दौरान ही ओवुलेशन की प्रक्रिया शुरु होती है. ओवुलेशन पीरियड को गर्भधारण करने से कन्क्टेड समद जाता है और ये प्रक्रिया पीरियड के 12 से 16 दिनों में बाद से ही शुरु होती



क्या होता है ओवुलेशन ? इसके लक्षण और टेस्ट करने की प्रक्रिया - Ovulation Ke Lakshan In Hindi

Ovulation Ke Lakshan In Hindi- ओवरी से अंडे के बाहर आने की प्रक्रिया को ओवुलेशन कहा जाता है और महिलाओं के मासिक धर्म के दौरान यह प्रक्रिया हर महीने होती है. ओवुलेशन पीरियड को गर्भधाणक के लिहाज से सबसे अच्छा समझा जाता है और पीरियड शुरु होने क 12 से 16वें दिन यह प्रक्रिया होने लगती है. हाल ही में हुए



प्रेग्नेंसी का 9वें महीने में बच्चे का विकास - 9 Month Pregnancy In Hindi

9 Month Pregnancy In Hindi - प्रेग्नेंसी की शुरुआत से ही मां को 9वें महीने का इंतजार होता है और जब नवां महीना आ जाता है तब से वो अपने बच्चे को गोद में खिलाने के लिए उत्सुक रहती हैं.गर्भावस्था नौवां महीना यानी 33वें हफ्ते से लेकर 36 महीने तक मां में बेचैनी और दर्द दोनों का भाव रहता है. इसके साथ ही प्



प्रेग्नेंसी में पेट दर्द और उसके उपचार - Pregnancy Me Pet Dard

Pregnancy Me Pet Dard-गर्भावस्था के शुरु होते ही महिलाओं में कई तरह की परेशानियां आ जाती हैं जिसमें सिर दर्द, पैरों में सूजन, कमर दर्द और पेट दर्द जैसी बीमारियां शामिल होती हैं. उन्हें अपने शरीर में कई बदलाओं के साथ-साथ दर्द को भी सहना होता है और अमूमन महिलाएं इसे परे



प्रेग्नेंसी में रखें ख्याल और बरतें सावधानी - Precautions During Pregnancy In Hindi

Precautions During Pregnancy In Hindi -प्रेग्नेंसी महिलाओं के लिए एक महत्वपूर्ण भी होती है और दर्दनाक भी होती है. अगर आप किसी महिला से कह दें कि अगर इतनी प्रोबलम है तो प्रेग्नेंसी की स्थिति में मत जाओ तो वो आप पर भड़क सकती है क्योंकि इस दर्द को हर महिला सेहना ताहती है और जब उनके हाथ में बच्चा आता



8 महीने की प्रेग्नेंसी में बच्चे का विकास - 8 Month Pregnancy Baby Movement In Hindi

8 Month Pregnancy Baby Movement In Hindi- 9 महीने की प्रेग्नेंसी के बाद जब मां के हाथ में उसका बच्चा सही सलामत आता है तब उसका सारा दर्द और तकलीफ दूर हो जाती है. एक बच्चा मां की जान होता है क्योंकि वो गर्भ में उसे खून और पानी से सींचती है और फिर बहुत ज्यादा दर्द-तकलीफ के साथ उसे जन्म देती है. प्रेग्न





© शब्द हैल्थ (health.shabd.in)

01
डॉ.स्नेहा दुबे
जनरल फिजीशियन
  • हमारे डॉक्टर से निःशुल्क जानिए की आपकी समस्या का सर्वोत्तम समाधान अंग्रेजी, आयुर्वेदिक, या फिर होम्योपैथिक मे से किसमे उपलब्ध है?
  • नमस्ते!
  • क्या आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है?

    हाँ नहीं
  • अपनी समस्या बताइये

    बताइये
  • आप अपने पूरे परिवार का साल भर का मेडिकल कॉन्सल्टेशन केवल 997 रुपये मे पा सकते हैं।

    एक्टिवेट कीजिये